100 चूल्हों पर तैयार होगी 15 हजार भक्तों के लिए गजानन महाराज की प्रसादी

- ज्वार की रोटी और बेसन मिलेगा भोजन

इस साल भी विधवाओं को कल्याणी नाम देकर समान किया जाएगा। प्रसादी तैयार करने के लिए मंदिर के पीछे 100 चूल्हे तैयार किए जाएगें। लालबाग क्षेत्र की महिलाएं सुबह से ही प्रसादी तैयार करने के लिए पहुंची। महाराज के प्रगटोत्सव पर भक्तों को ज्वार की रोटी, बेसन और ठेसे की प्रसादी वितरीत की जाएगी।

बुरहानपुर. श्री गजानन महाराज का 142 प्रकटोत्सव रविवार को मनाया जाएगा। लालबाग कुंडी भंडारा स्थित गजानन महाराज मंदिर पर तैयारियां शुरू हो गई है। महाराज का प्रिय भोजन बेसन, ज्वार की रोटी, हरी मिर्च का ठेसा, मिठाई और सलाद प्रसादी में वितरण किया जाएगा। यह प्रसाद 100 चूल्हों पर 500 महिलाएं तैयार करेंगी। महिलाएं अलग.अलग समय पर एक से दो घंटे सेवा देगी। 15 हजार श्रद्धालुओं के लिए भोजन तैयार होगा।
गुरुवार को गजानन महाराज मंदिर समिति की पत्रकारवार्ता में इंद्रसेन देशमुख ने बताया यह मंदिर का ९वां स्थापना वर्ष है। दो दिवस तक मंदिर पर विभिन्न आयोजन होगे। शनिवार को शाम ६ बजे परणपादुका भ्रमण, शाम ७ बजे से ९ बजे तक पूर्णाहुति दी जाएगी। १६ फरवरी रविवार सुबह ८ बजे जलाभिषेक कलश पूजन कर होमपुजा की जाएगी। सुबह ११ बजे महाआरती के बाद प्रसादी का वितरण होगा।महाराज के प्रकटोत्सव के लिए तैयारियां की जा रही है। हर बार करीब 15 हजार से ज्यादा गजानन महाराज के भक्त मंदिर पर प्रसादी के लिए आते हैं। कार्यक्रम में इंदौर के अन्ना महाराज आएंगे। जिन्होने विधवाओं को कल्याणी नाम दिया है।यह अभियान लगातार जारी है। इस साल भी विधवाओं को कल्याणी नाम देकर समान किया जाएगा। प्रसादी तैयार करने के लिए मंदिर के पीछे 100 चूल्हे तैयार किए जाएगें। लालबाग क्षेत्र की महिलाएं सुबह से ही प्रसादी तैयार करने के लिए पहुंची। महाराज के प्रगटोत्सव पर भक्तों को ज्वार की रोटी, बेसन और ठेसे की प्रसादी वितरीत की जाएगी। पत्रकारवार्ता के दौरान चिंचाला पूर्व पार्षद अमर यादव, दिलीप देवकर, अंकुश रोकड़े, राजू मास्टर सुर्यवंशी, सचिन होलम, नरेंद्र शिंदे, भूपेंद्र चौहान, चंद्रहास शिंदे, विशाल सूर्यवशी, पुरुषोतम नवथरे मौजूद थे।

ranjeet pardeshi Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned