PNB की एक अक्टूबर से नहीं चलेगी पुरानी चेक बुक, बैंक ने अपने ग्राहकों को दी ये सलाह

ग्राहकों की चेकबुक और एमआईसीआर कोड (MICR Code) बदले गए हैं। एक अक्टूबर से पुरानी चेक बुक खराब हो जाएंगी।

By: Mohit Saxena

Published: 08 Sep 2021, 04:30 PM IST

नई दिल्ली। पंजाब नेशनल बैंक (PNB) के ग्राहकों के लिए अहम खबर है। देश का दूसरा सबसे बड़ा सरकारी बैंक पुरानी चेकबुक को एक अक्टूबर से बंद करने जा रहा है।

बैंक ने ट्वीट कर ग्राहकों को इसकी सूचना दी है। दरअसल,ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (OBC) और यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया (UNI) का पंजाब नेशनल बैंक के साथ विलय हो चुका है। इसके बाद ग्राहकों की चेकबुक और एमआईसीआर कोड (MICR Code) बदले गए हैं।

एक अक्टूबर से बंद होंगी पुरानी चेक बुक

पीएनबी ने ट्वीट कर बताया कि एक अक्टूबर से ई ओबीसी और ई यूएनआई के पुराने चेकबुक काम नहीं करने वाले हैं। ग्राहकों से कहा गया है कि जिन लोगों के पास ओबीसी और यूएनआई बैंक के पुराने चेकबुक हैं। इन्हें जल्द बदला जाएगा। इसके साथ एक अक्टूबर से पुराने चेक बुक खराब हो जाएंगे। नए चेकबुक पीएनबी के अपडेटेड आईएफएससी कोड और एमआईसीआर के साथ होंगे।

 

नई चेक बुक के लिए ऐसे करें आवेदन

नई चेकबुक के लिए ग्राहक को बैंक की ब्रांच में जाना होगा। इसके लिए बैंक ग्राहक ऑनलाइन भी चेक के लिए आवेदन कर सकते हैं। इसके साथ इंटरनेट बैंकिंग या मोबाइल बैंकिंग की मदद से चेकबुक के लिए आवेदन कर सकेंगे।

टोल फ्री नंबर पर करें कॉल

जो उपभोक्ता चेक से ट्रांजेक्शन करेंगे, उन्हें समस्या न हो, इसलिए नए चेक बुक की आवश्यकता है। उपभोक्ताओं को इस बारे में अधिक जानकारी के लिए टोल फ्री नंबर 18001802222 पर कॉल करना होगा।

एमआईसीआर कोड का क्या मतलब है?

एमआईसीआर कोड या मैग्नेटिक इंक कैरेक्टर रिकॉग्निशन कोड एक 9 अंक का कोड होता है। यह उन बैंक शाखाओं की पहचान करता है जो (इलेक्ट्रॉनिक क्लियरिंग सिस्टम) में भाग ले रहे हैं।

इस कोड में बैंक कोड, खाता विवरण, राशि और चेक नंबर जैसी जानकारी शामिल होती है। यह कोड एक चेक लीफ के निचले भाग पर होती है। इस नौ अंक के कोड के पहले 3 अंक शहर, अगले तीन अंक बैंक और अंतिम तीन अंक ब्रांच का कोड दर्शाते हैं।

गौरतलब है कि पुराने IFSC कोड के बदले नया कोड लेने के लिए ग्राहकों को अपने बैंक प्रमाण की जरूरत होगी। सॉफ्टकॉपी के रूप में इसका प्रमाण जमा करना होगा। ऑनलाइन संशोधन के लिए अपने पंजीकृत मोबाइल नंबर जो आधार कार्ड से लिक हो उससे रिक्वेस्ट भेज सकते हैं।

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned