scriptसेबी की बड़ी कार्रवाई : इन्फोसिस के 2 कर्मचारी और 6 कंपनियों पर लगा प्रतिबंध और 3 करोड़ का जुर्माना | sebi bans two infosys employees for insider trading | Patrika News

सेबी की बड़ी कार्रवाई : इन्फोसिस के 2 कर्मचारी और 6 कंपनियों पर लगा प्रतिबंध और 3 करोड़ का जुर्माना

locationनई दिल्लीPublished: Jun 02, 2021 09:30:23 am

Submitted by:

Shaitan Prajapat

सेबी ने इन्फोसिस के शेयरों में इनसाइडर ट्रेडिंग में लिप्त इकाइयों सहित कई कंपनियों पर अलग-अलग मामलों में कार्रवाई की। उन्होंने आठ इकाइयों पर अगले आदेश तक के लिए रोक लगाने के साथ ही दो कंपनियों से 3.06 करोड़ रुपए का अवैध लाभ जब्त करने के भी निर्देश दिए।

sebi

sebi

नई दिल्ली। पूंजी बाजार नियामक सेबी (SEBI) ने इन्फोसिस (Infosys) के शेयरों में इनसाइडर ट्रेडिंग में लिप्त इकाइयों सहित कई कंपनियों पर अलग-अलग मामलों में बड़ी कार्रवाई की है। सेबी ने मंगलवार को आईटी सेवा कंपनी इंफोसिस के शेयरों में इनसाइडर ट्रेडिंग गतिविधियों में शामिल होने लिए आठ इकाइयों को प्रतिभूति बाजार में शामिल होने पर प्रतिबंध लगा दिया है। इनमें इन्फोसिस के दो कर्मचारी शामिल हैं। उन्होंने आठ इकाइयों पर अगले आदेश तक के लिए रोक लगाने के साथ ही दो कंपनियों से 3.06 करोड़ रुपए का अवैध लाभ जब्त करने के भी निर्देश दिए। एक रिपोर्ट के अनुसार, इन दो कंपनियों में कैपिटल वन पार्टनर्स और टेसोरा कैपिटल शामिल हैं।

यह भी पढ़ें

भारत की GDP को लगा झटका: चार दर्शकों में सबसे खराब प्रदर्शन, 2020-21 वित्त वर्ष में 7.3% की गिरावट

जांच पूरी होने के बाद होगी उचित कार्रवाई
सेबी ने इंफोसिस के जिन कर्मचारियों पर बैन लगाया है उनमें इंफोसिस के सीनियर कॉर्पोरेट काउंसिल प्रांशू भुतरा और सीनियर प्रिंसिपल कॉर्पोरेट अकाउंटिंग ग्रुप के वेंकट सुब्रमणियन शामिल हैं। इस पर इन्फोसिस ने एक बयान जारी कर कहा कि वह भेदिया कारोबार मामले मे शामिल कर्मचारियों के मामले में आंतरिक जांच शुरू करेगी। कंपनी इस मामले में सेबी को पूरा जरूरी सहयोग देगी। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि आदेश मिलने के बाद उसने एक आंतरिक जांच शुरू कर दी गई है जांच पूरी होने के बाद उचित कार्रवाई की जाएगी। सेबी के अनुसार, जांच में ये लोग इनसाइडर ट्रेडिंग के दोषी पाए गए है। प्रांशु और वेंकट के अलावा अमित भुतरा, भरत जैन, मनीष चंपालाल, अंकुश भुतरा, कैपिटल वन और टेसोरा कैपिटल पर अगले आदेश तक प्रतिबंध लगाय गया है। ये सभी लोग कैपिटल मार्केट में अगले आदेश तक ट्रेडिंग नहीं कर सकेंगे।

यह भी पढ़ें

कोरोना से बचाने में कोविशील्ड और कोवैक्सीन कितनी असरदार: डेटा इकट्ठा कर रही सरकार, जल्द होगी समीक्षा


 

3.06 करोड़ रुपए का लगाया जुर्माना
नियामक ने दोषी पाए जाने के बाद आठ कंपनियों पर अगले आदेश तक रोक लगाने के साथ दो कंपनियों से 3.06 करोड रुपए के अवैध लाभ को वसुलने के भी निर्देश दिए है। एक रिपोर्ट के अनुसार, इन दो कंपनियों में कैपिटल वन पार्टनर्स और टेसोरा कैपिटल शामिल हैं। सेबी का कहना है कि कैपिटल वन पार्टनर्स और टेसोरा कैपिटल ने क्रमश: 2.79 करोड़ रुपए और 26.82 लाख रुपए के अवैध कमाई की। इस मामले पूरी जांच होने तक ये शेयर बाजार में कारोबार नहीं कर पाएंगे।

ट्रेंडिंग वीडियो