मंदी से गुजर रहे ऑटोमोबाइल सेक्टर को राहत, सरकार ने टाला रजिस्ट्रेशन फीस बढ़ोत्तरी का फैसला

मंदी से गुजर रहे ऑटोमोबाइल सेक्टर को राहत, सरकार ने टाला रजिस्ट्रेशन फीस बढ़ोत्तरी का फैसला

Pragati Vajpai | Updated: 24 Aug 2019, 10:04:43 AM (IST) कार

सरकार अब कार और बाइक के रजिस्ट्रेशन फीस को बढ़ाने के अपने फैसले पर बैकफुट पर आ गई है। सरकार ने अब इस फैसले को कुछ समय के लिए रोक दिया है।

नई दिल्ली: मंदी से गुजर रहे ऑटोमोबाइल सेक्टर के लिए राहत की खबर है। दरअसल सरकार ने पिछले महीने कार रजिस्ट्रेशन फीस में बढ़ोत्तरी का फैसला किया था । यह कदम आईसी इंजन वाले वाहनों के लिए उठाये गए थे । लेकिन अब सरकार इस फैसले पर पुनर्विचार की बात कर रही है।

सरकार ने कार रजिस्ट्रेशन फीस को बढ़ाने की कदम पर कुछ समय के लिए रोक लगा दी है। पेट्रोल व डीजल वाहनों में बिक्री में कमी को देखते हुए सरकार ने यह फैसला लिया है।

मैदान हो या पहाड़ हर रास्ते को पार कर सकती हैं ये SUVS, ताकत है इनकी पहचान

5000 रुपए तक होना था कार रजिस्ट्रेशन-

पिछले महीने सड़क, परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने ड्राफ्ट अधिसूचना जारी करके इंटरनल कंबशन इंजन वाली कारों की रजिस्ट्रेशन फीस में 5,000 रुपये तक करने का प्रस्ताव दिया था। फिलहाल यह राशि 600 रुपये है। इसके अलावा इंटरनल कंबशन इंजन वाली कारों के रजिस्ट्रेशन री-न्यू करवाने की फीस बढ़ाकर 15000 रुपये करने का प्रस्ताव दिया गया था।

अब खबर है कि सरकार इसे लागू करने की जल्दी में नहीं है तथा ना ही इसको लेकर दबाव बनाया जा रहा है और इसका कारण देश में ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री की हालत है। कारों की बिक्री में जबरदस्त गिरावट आयी है।

1 सितंबर से लागू होंगे Motor vehicle act के नियम, एक्सीडेंट्स पर लगेगी लगाम

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned