पुलवामा हमले की दूसरी बरसी आज, शहीद के परिजनों को अभी भी वादे पूरे होने का इंतजार

पुलवामा के आंतकी हमले में चंदौली के अवधेश यादव शहीद हुए थे, पिता और भाई का छलका दर्द

By: Hariom Dwivedi

Published: 14 Feb 2021, 04:06 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
चंदौली. 14 फरवरी को पुलवामा हमले की दूसरी बरसी है। आज के ही दिन चंदौली के अवधेश यादव इस आतंकी हमले में शहीद हुए थे। एक वर्ष के अंतराल में सरकार द्वारा अनुमन्य कुछ वादे तो जरूर पूरे हुए, लेकिन अभी भी कई वादों के पूरा होने का इंतजार है। आस शहीद के परिजन अभी भी उन वादों की आस लगाए हुए हैं।

पुलवामा हमले की दूसरी बरसी पर शहीद अवधेश के पिता हरिकेश यादव का दर्द छलक आया। उन्होंने कहा कि सरकार ने जो वादा किया था वो सब निराधार साबित हुआ। जो लोग आये सिर्फ सांत्वना ही दी। उन्होंने कहा कि योगी जी ने कहा था कि परिवार के एक सदस्य को नौकरी देंगे, सिर्फ वही वादा पूरा हुआ। बाकी सब वादे अभी अधूरे हैं। कहा कि बेटे की शहादत के बाद सरकार की तरफ से मंत्री निषाद जी आये थे, लेकिन तबसे उन्होंने पलटकर नहीं देखा। सरकार को जब लगेगा वह अपने वादे पूरे करेगी, हम लोग क्या कर सकते हैं। वहीं, शहीद के छोटे भाई अवधेश यादव ने कहा कि सरकार की तरफ से हम लोगों को आश्वासन मिला था कि गांव में एक प्रवेश द्वार बनेगा, एक मिनी स्टेडियम और कॉलेज की बात हुई थी लेकिन अभी तक यह सिर्फ आश्वासन ही रह गया।

कैंसर पीड़ित है मां
14 फरवरी 2019 को पुलवामा में हुए आतंकी हमले में मुगलसराय कोतवाली क्षेत्र के बहादुरपुर गांव के अवधेश यादव उर्फ दीपू भी शहीद हो गए थे। बहादुरपुर गांव के हरिकेश यादव के चार बेटे बेटियों में अवधेश सबसे बड़े थे। वर्ष 2006 में वह सीआरपीएफ की 45वीं बटालियन में भर्ती हुए थे। परिवार में पिता के अलावा मां मालती देवी हैं जो कैंसर से पीड़ित हैं। दो बहनों की शादी हो चुकी है। छोटा भाई बृजेश यादव पढ़ाई कर रहा है।

By- महेश जायसवाल

Show More
Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned