script सर्द हवाओं से कंपकंपी बरकरार, नौगांव में लगातार दूसरे दिन 3 डिग्री पर रहा पारा | Shivering due to cold winds continues, mercury remained at 3 degrees f | Patrika News

सर्द हवाओं से कंपकंपी बरकरार, नौगांव में लगातार दूसरे दिन 3 डिग्री पर रहा पारा

locationछतरपुरPublished: Jan 20, 2024 06:39:11 pm

Submitted by:

Unnat Pachauri

सर्द हवाओं से कंपकंपी बरकरार, नौगांव में लगातार दूसरे दिन 3 डिग्री पर रहा पारा

 बस स्टैंड के पर अलाव से राहत पारहे यात्री और मवेशी
बस स्टैंड के पर अलाव से राहत पारहे यात्री और मवेशी
छतरपुर. अरब सागर से आ रही नमी और उत्तर भारत की तरफ से लगातार आ रही सर्द हवाओं के कारण प्रदेश में ठिठुरन बनी हुई है। रात में जहां कड़ाके की सर्दी बनी हुई है, वहीं कोहरा, बादल बने रहने के कारण दिन में भी सिहरन बनी हुई है।
इसी क्रम में शनिवार को प्रदेश में लगातार दूसरे दिन सबसे कम ३ डिग्री सेल्सियस तापमान छतरपुर के नौगांव में रिकार्ड किया गया। नौगांव में शीतलहर का प्रभाव रहा। इसके साथ ही खजुराहो में ५.० और बिजावर में ३.७ न्यूनतम पारा रहा। वहीं नौगांव में अधिकतम तापमान १३.५ डिग्री दर्ज हुआ। जिले में रात के तापमान में गिरावट का सिलसिला बना हुआ है। सेबह से कोहरा होने और दिन भर बर्फीली हओं के चलते लोग घरों में दुबके रहे। लोग बहुत ही जरूरी काम के लिए ही घरों से लिकले। इस दौरान रास्ते में जल रहे अलाव को इंसानों के साथ ही जानवरों ने सहारा लिया।
मौसम विज्ञानियों के अनुसार अभी दो-तीन दिन तक मौसम का मिजाज इसी तरह बना रह सकता है। इस दौरान ठंड के तेवर और तीखे भी हो सकते हैं।

जेट स्ट्रीम का असर

मौसम विज्ञान केंद्र की ओर से बताया कि उत्तर भारत क्षेत्र में सक्रिय जेट स्ट्रीम के असर से पूरे मध्य प्रदेश में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। दो दिन में रात के तापमान में और भी गिरावट होने की संभावना है। जिसकी वजह से छतरपुर सहित कई जिले शीतलहर की चपेट में आ सकते हैं।
अरब सागर से आ रही है नमी

वर्तमान में हरियाणा में हवा के ऊपरी भाग में एक चक्रवात बना हुआ है। एक चक्रवात उत्तरी-मध्य महाराष्ट्र पर भी बना है। कर्नाटक से लेकर मध्य महाराष्ट्र से होकर विदर्भ तक एक द्रोणिका बनी हुई है। इसकी वजह से अरब सागर से नमी आ रही है। इस वजह से छतरपुर जिले में बादल बने हैं और कोहरा भी छा रहा है। इसके अलावा लगभग १२ किलोमीटर की ऊंचाई पर वेस्टर्न जेट स्ट्रीम (पश्चिम से पूर्व की तरफ काफी तेज रफ्तार से बहने वाली हवाओं का समूह) भी मौजूद है। जेट स्ट्रीम जहां भी सक्रिय रहता है, वहां के मौसम के मिजाज के लिए उत्प्रेरक का काम करता है। यही वजह है कि छतरपुर में लगभग चार-पांच दिन से घने कोहरे का असर बरकरार है।

ट्रेंडिंग वीडियो