scriptपांडोली स्टेशन पर पूरा हुआ काम, अब इस स्टेशन पर शुरू होगा विकास कार्य, वर्ष 2024-25 तक पूरा करने का है लक्ष्य | Development work completed at Pandoli station, now it's Kapasan-Bhopalsagar's turn | Patrika News
चित्तौड़गढ़

पांडोली स्टेशन पर पूरा हुआ काम, अब इस स्टेशन पर शुरू होगा विकास कार्य, वर्ष 2024-25 तक पूरा करने का है लक्ष्य

अजमेर रेल मंडल के चार स्टेशन पर अतिरिक्त लूप लाइन, नई इंटरलॉकिंग, फायर अलार्म सिस्टम व हाई लेवल प्लेटफार्म के काम ने गति पकड़ ली है। इनमें चित्तौड़गढ़ जिले के पांडोली, कपासन, भूपालसागर और उदयपुर का भीमल स्टेशन शामिल है।

चित्तौड़गढ़Jun 29, 2024 / 01:07 pm

Supriya Rani

चित्तौड़गढ़. अजमेर रेल मंडल के चार स्टेशन पर अतिरिक्त लूप लाइन, नई इंटरलॉकिंग, फायर अलार्म सिस्टम व हाई लेवल प्लेटफार्म के काम ने गति पकड़ ली है। इनमें चित्तौड़गढ़ जिले के पांडोली, कपासन, भूपालसागर और उदयपुर का भीमल स्टेशन शामिल है। इन सुविधाओं के विकास के साथ ही ट्रेनों के आवगमन में सुविधा होगी, वहीं यात्रियों को भी सुरक्षित वातावरण उपलब्ध होगा।

चित्तौड़गढ़-उदयपुर सेक्शन: 4 स्टेशन पर विकास कार्य में तेजी

अजमेर मंडल की गतिशक्ति यूनिट व मंडल के इंजीनियरिंग विभाग के प्रयासों से अजमेर-चित्तौड़गढ़-उदयपुर सेक्शन पर दो लाइन के 4 स्टेशन पांडोली, कपासन, भूपालसागर व भीमल पर एक-एक अतिरिक्त लूप लाइन डाली जा रही है। इस कार्य की कुल लागत 47.54 करोड़ रुपए है। इन स्टेशनों पर पुराने पैनल को हटाकर नया इंटरलॉकिंग सिस्टम स्थापित किया जा रहा है। साथ ही नए हाई लेवल प्लेटफार्म का निर्माण और फायर अलार्म सिस्टम स्थापित किया जा रहा है।

वर्ष 2024-25 तक कार्य पूरा करने का है लक्ष्य

कार्य की पांडोली, भीमल व कपासन स्टेशन के लिए रेल संरक्षा आयुक्त (सीआरएस) की स्वीकृति प्राप्त हो चुकी है। भूपालसागर स्टेशन के लिए रेल संरक्षा आयुक्त की स्वीकृति शीघ्र ही प्राप्त हो जाएगी। इस कार्य के लक्ष्य के अंतर्गत पांडोली स्टेशन पर यह कार्य 14 मई को पूरा चुका है। कपासन व भूपालसागर स्टेशन को वित्तीय वर्ष 2024-25 की दूसरी तिमाही तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है।

Hindi News/ Chittorgarh / पांडोली स्टेशन पर पूरा हुआ काम, अब इस स्टेशन पर शुरू होगा विकास कार्य, वर्ष 2024-25 तक पूरा करने का है लक्ष्य

ट्रेंडिंग वीडियो