ट्रांसपोर्ट व्यवसायी की हत्या के मामले में छात्रसंघ अध्यक्ष गिरफ्तार

ट्रांसपोर्ट व्यवसायी की हत्या के मामले में छात्रसंघ अध्यक्ष गिरफ्तार

Madhu Sudhan Sharma | Updated: 27 May 2019, 08:08:08 PM (IST) Churu, Churu, Rajasthan, India

ट्रांसपोर्ट व्यवसायी की गोली मारकर हत्या करने के मामले में पुलिस ने एक और आरोपी को गिरफ्तार किया है। एसआई गोपीराम ने बताया कि गांव लसेड़ी निवासी आरोपी बिलकुलपाल को रविवार देर शाम उसके घर दबिश देकर गिरफ्तार किया है।

सादुलपुर. ट्रांसपोर्ट व्यवसायी की गोली मारकर हत्या करने के मामले में पुलिस ने एक और आरोपी को गिरफ्तार किया है। एसआई गोपीराम ने बताया कि गांव लसेड़ी निवासी आरोपी बिलकुलपाल को रविवार देर शाम उसके घर दबिश देकर गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपी मोहता कॉलेज का छात्रसंघ अध्यक्ष है। उससे पूछताछ कर सोमवार को न्यायालय में पेश किया। न्यायाधीश ने उसे एक जून तक पुलिस रिमांड पर सांैप दिया। उन्होंने बताया कि प्रारंभिक पूछताछ में मामले में पूर्व में गिरफ्तार आरोपी राघा छोटी निवासी अंकित एवं संजय ने बिलकुलपाल के माध्यम से अजय जैतपुरा हत्या मामले में आरोपी शार्प शूटर संपत्त नेहरा से वार्ता कर किराए के हत्यारों को तय करने की बात की थी। अंकित एवं संजय ने बिलकुलपाल के माध्यम से शूटर नेहरा से वार्ता करना स्वीकार कर एक निश्चित रकम तय की थी। उन्होंने बताया कि पुलिस रिमांड में पूछताछ कर मामले में फरार अन्य आरोपियों को भी पुलिस शीघ्र गिरफ्तार कर लेगी। गौरतलब है कि अजय जैतपुरा हत्या के मामले में गिरफ्तार आरोपी संपत्त नेहरा वर्तमान में पटियाला पंजाब जेल में बंद है।


छात्रसंघ अध्यक्ष ने मांगी थी फिरौती
एसआई गोपीराम ने बताया कि आरोपी बिलकुलपाल ने शहर के रफीक कुरैशी को शूटर संपत्त नेहरा का डर दिखाकर फिरौती मांगी थी। बिलकुलपाल ने कुरैशी को फेसबुक एवं व्हॉट्सएप पर धमकी देकर फिरौती मांगी। जिसके कुरैशी ने स्क्रीन शॉट लेकर पुलिस को देकर कार्यवाही की मांग की थी। उन्होंने बताया कि इस मामले में पुलिस प्राप्त स्क्रीन शॉट के आधार पर जांच कर रही है।
संपत्त व बिलकुलपाल का ये है रिश्ता
शूटर संपत्त नेहरा एवं बिलकुलपाल के पिता चंडीगढ़ में पुलिस में नौकरी करते हैं तथा दोनों साथ-साथ ही रहते थे। जिसके कारण पारिवारिक संपर्क होने के चलते बिलकुलपाल, संपत्त नेहरा की मां को मौसी कहता है। दोनों सादुलपुर क्षेत्र के होने के कारण एक-दूसरे के संपर्क में भी थे। यही कारण रहा कि बिलकुलपाल सिंह ने नेहरा का डर दिखाकर रफीक कुरैशी से फिरौती मांगी।

यह था मामला
गौरतलब है कि नो मई की शाम को टा्रंसपोर्ट युवा व्यवसायी सुरेन्द्र जडिय़ा उर्फ ढिलिया अपने साथियों के साथ अपने कार्यालय के आगे बैठे हुए थे। तभी तीन अज्ञात युवक पहुंचे तथा अंधाधुध फायरिंग कर जडिय़ा की हत्या कर मोटरसाईकिल पर सवार होकर फरार हो गये थे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned