B'day Special: भारत को दो विश्व कप दिलाने वाला इकलौता बल्लेबाज

B'day Special: भारत को दो विश्व कप दिलाने वाला इकलौता बल्लेबाज

Akashdeep Singh | Publish: Oct, 14 2018 10:43:34 AM (IST) | Updated: Oct, 14 2018 10:49:50 AM (IST) क्रिकेट

गौतम की गंभीर पारियों के दम पर भारत दो बार विश्व चैंपियन बनी है।

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम के दिग्गज सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर आज अपना 37 वां जन्मदिन मना रहे हैं। 14 अक्टूबर 1981 को जन्में गौतम ने भारत की ओर से खेलते हुए कई गंभीर पारियां खेली है। हालांकि फिलहाल गंभीर लंबे समय से टीम से बाहर है। गंभीर ने अपना आखिरी मैच नवंबर 2016 में इंग्लैंड के खिलाफ खेला था। गंभीर भारत के इकलौते क्रिकेटर हैं, जिन्होंने लगातार पांच टेस्ट मैचों में शतक लगाया था। गंभीर की यादगार पारियों की बदौलत टीम इंडिया ने दो विश्व कप हासिल किए। गंभीर अभी आईपीएल में कोलकाता नाइटराईटर की ओर से खेलते है। इसके साथ-साथ गौतम ने अपनी गंभीर पहचान सामाजिक कामों के लिए भी बनाया है।

 

दो विश्व कप दिलाने वाला बल्लेबाज-
गंभीर ने भारत के लिए विश्व कप में खेलते हुए कई यादगार पारियां खेली है। गौतम की शानदार पारियों के कारण भारतीय टीम दो बार विश्व चैंपियन भी बनी। 2007 में जब पहली बार टी-20 विश्व कप का आयोजन किया गया, तब गंभीर भारतीय टीम में थे। इस विश्व कप के फाइनल मैच में गंभीर ने पाकिस्तान के खिलाफ 54 गेंदों में 75 रनों की शानदार पारी खेली। इसके बाद गंभीर ने 2011 में हुए वन डे विश्व कप के फाइनल में श्रीलंका के खिलाफ खेलते हुए 97 रनों की जोरदार पारी खेली।

गंभीर की कप्तानी में सभी मैच जीती टीम इंडिया-
गंभीर ने अपने एकदिवसीय क्रिकेट करियर की शुरुआत साल 2003 में बांग्लादेश के खिलाफ की थी। इसके बाद अगले ही साल उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपना पहला टेस्ट मैच खेला था। टीम में अपनी जगह पक्की करने के बाद गंभीर ने 2010 से 2011 के बीच भारतीय टीम की कप्तानी का जिम्मा भी संभाला। गंभीर ने टीम इंडिया के 6 मैचों में कप्तानी भी की है, उनकी कप्तानी में भारत को सभी मुकाबलों में जीत मिली।

सामाजिक कामों के लिए जाने जाते हैं गंभीर-
गौतम गंभीर अपने सामाजिक कामों के लिए अक्सर ही सुर्खियों में रहते है। गंभीर ने अलग-अलग समय पर भारतीय सेना के लिए काफी कुछ काम किया है। गंभीर के सुकमा में शहीद हुए 25 सीआरपीएफ जवानों के बच्चों को अपने खर्चें से पढ़ाने का बीड़ा उठाया।

Ad Block is Banned