अंडर-19 वर्ल्ड कप के फाइनल में भारत, पाकिस्तान को 10 विकेट से रौंदा

- पिछली बार भी अंडर-19 वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में भारत ( India ) ने पाकिस्तान ( Pakistan ) को हराया था

- भारत की जीत में यशस्वी जयसवाल ( yashasvi jaiswal ) के शतक का अहम योगदान रहा

Kapil Tiwari

05 Feb 2020, 08:32 AM IST

पोचेफस्ट्रूम। अंडर-19 वर्ल्ड कप ( Under 19 World Cup ) में टीम इंडिया ( Team India ) का सफर फाइनल तक जा पहुंचा है। भारत ने सातवीं बार अंडर -19 वर्ल्ड कप के फाइनल में जगह बनाई है। मंगलवार को खेले गए सेमीफाइनल मुकाबले में भारत ने पाकिस्तान को 10 विकेट से रौंद दिया। वर्ल्ड कप में ये पाकिस्तान ( Pakistan ) की भारत के हाथों लगातार चौथी हार थी। वहीं पिछली बार 2018 में भी अंडर-19 वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में भारत ने पाकिस्तान को हराया था।

केएल राहुल टीम इंडिया के अगले 'धोनी', मैदान पर किया गजब का रनआउट

पाकिस्तान ने भारत को दिया था आसान सा लक्ष्य

अंडर-19 वर्ल्ड कप का ये 'महामुकाबला' पोचेफस्ट्रूम के स्टेडियम में खेला गया। पाकिस्तान ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 43 ओवर में 172 रन बनाए थे। जवाब में भारतीय बल्लेबाजों ने 35.2 ओवर में ही 176 रन बनाकर मैच को जीत लिया।

यशस्वी जयसवाल ने जड़ा शानदार शतक

भारत की जीत में यशस्वी जायसवाल ( yashasvi jaiswal ) की पारी का अहम योगदान रहा। जयसवाल ने वर्ल्ड कप का पहला शतक लगाया। उन्होंने शानदार सिक्स मारकर अपना शतक पूरा किया। यशस्वी जयसवाल ने 105 रनों की पारी खेली। जयसवाल के अलावा दिव्यांश सक्सेना ( Divyansh Saxena ) ने भी 59 रन की पारी खेली। दोनों ने पहले विकेट के लिए 176 रन की साझेदारी की। इस टूर्नामेंट में ओपनिंग विकेट के लिए यह सबसे बड़ी साझेदारी है। साथ ही इस टूर्नामेंट के इतिहास के सेमीफाइनल में यह सबसे बड़ी साझेदारी है।

न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट टीम का ऐलान, रोहित की जगह पृथ्वी शॉ को मौका

पाकिस्तान के खिलाफ शतक मारना बहुत स्पेशल- यशस्वी

यशस्वी जयसवाल ने अपने शतक को लेकर कहा कि ये मेरे लिए बहुत खास है, पाकिस्तान के खिलाफ शतक लगाना मेरे लिए एक सपना था जो साकार हो गया है, इस पल को कभी नहीं भूलूंगा। यशस्वी ने कहा कि मैंने और दिव्यांश ने पारी को आराम से आगे बढ़ाने का फैसला किया था। टीम के सपोर्ट स्टाफ और सभी खिलाड़ियों को प्रशंसकों का लगातार प्यार मिलता रहा।

9 फरवरी को खेला जाएगा फाइनल मुकाबला

भारतीय टीम अब अंडर-19 वर्ल्ड कप के फाइनल में पहुंच चुकी है, जहां उसका मुकाबला न्यूजीलैंड और बांग्लादेश में से किसी एक टीम से हो सकता है। फाइनल मुकाबला 9 फरवरी को खेला जाएगा। भारत इससे पहले साल 2000 में फाइनल में पहुंचा था। तब चैम्पियन बना था। इसके बाद 2006 में उपविजेता, 2008 में विजेता, 2012 में विजेता, 2016 में उपविजेता और 2018 में विजेता बना था।

Kapil Tiwari Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned