रेडबर्ड ने राजस्थान रॉयल्स में 15 फीसदी हिस्सेदारी खरीदी

रेडबर्ड के संस्थापक और प्रबंध भागीदार गेरी कार्डिनेल ने कहा, 'आईपीएल एक डायनेमिक लीग है जिसकी ग्लोबल ऑडियंस है, जो प्रशंसक और खिलाड़ी के बारे में आगे की सोच रखती है।'


By: भूप सिंह

Updated: 25 Jun 2021, 04:49 PM IST

नई दिल्ली। लिवरपूल फुटबॉल क्लब और बोस्टॉन रेड सोक्स बेसबॉल टीम के सह-मालिक रेडबर्ड कैपिटल्स पार्टनर्स ने आईपीएल की टीम राजस्थान रॉयल्स में 15 फीसदी हिस्सेदारी खरीदी है। राजस्थान रॉयल्स के साथ हस्ताक्षरित लेनदेन की राशि का मूल्य 25 करोड़ डॉलर और 30 करोड़ डॉलर के बीच है। लंदन स्थित वेंचर कैपिटलिस्ट मनोज बडाले की निवेश फर्म इमर्जिंग मीडिया के पास ज्यादातर हिस्सेदारी है।

यह भी पढ़ें:—न्यूजीलैंड की चुनौती का सामना नहीं कर पा रहा भारत, 13 साल में लगातार छठा ICC टूर्नामेंट हारा

राजस्थान रॉयल्स ने 2008 में जीता था खिताब
बडाले ने कहा, ‘इस तरह का निवेश एक आकर्षक निवेश गंतव्य के रूप में आईपीएल और भारत की वैश्विक स्थिति का प्रमाण है।’ रेडबर्ड के संस्थापक और मैनेजिंग पार्टनर कार्डिनाले ने कहा, ‘आईपीएल एक बेहतरीन लीग है जिसके पूरी दुनिया में प्रशंसक हैं।’ राजस्थान ने 2008 में आईपीएल के पहले संस्करण का खिताब जीता था। हालांकि, इसके बाद से वह अब तक चैंपियन नहीं बन सका है।

एमर्जिंग मीडिया ने 14 प्रतिशत हिस्सेदारी बढ़ाई
राजस्थान रॉयल्स की वेबसाइट पर जारी विज्ञप्ति के अनुसार, ‘इस करार के बाद रेडबर्ड की रॉयल्स में 15 प्रतिशत हिस्सेदारी होंगी और एमर्जिंग मीडिया अपनी हिस्सेदारी 51 प्रतिशत से बढ़ाकर 65 प्रतिशत करेगा।’ बदाले ने कहा कि यह करार आईपीएल के वैश्विक स्तर को दर्शाता है।

यूएई में आईपीएल के बाकी मैच
सितंबर के तीसरे सप्ताह से अक्टूबर तक खेले जाने वाले आइपीएल 2021 के मैचों के लिए इंग्लैंड से खिलाड़ी सीधे यूएई जाएंगे, जहां बबल टू बबल ट्रांसफर होगा। कोविड 19 टेस्ट कराने के बाद भारतीय खिलाड़ियों को आइपीएल के बबल में प्रवेश मिल जाएगा। वहीं, भारत या अन्य देशों से आइपीएल खेलने के लिए पहुंचने वाले खिलाड़ियों के लिए अलग नियम लागू होंगे, जिसमें क्वारंटाइन की अवधि शामिल है, लेकिन वैक्सीनेशन करा चुके खिलाड़ियों को क्वारंटाइन में छूट मिलेगी।

यह भी पढ़ें— टेस्ट क्रिकेट में सिक्स लगाने के मामले में टिम साऊदी ने सचिन, कपिल देव जैसे दिग्गजों को भी छोड़ा पीछे

यूएई में IPL 2021 के बाकी मैच
मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, जो खिलाड़ी पूरी तरह से वैक्सीनेटेड हैं, उन्हें 5 दिन क्वारंटाइन में रहना होगा, जबकि जिन खिलाड़ियों को कोरोना वायरस की वैक्सीन नहीं लगी है, उन्हें 10 दिन सख्त क्वारंटाइन में बिताने होंगे। इंग्लैंड से सिर्फ भारत ही नहीं, बल्कि कई और देशों के खिलाड़ी भी भारतीय टीम के खिलाड़ियों के साथ यूएई के लिए यात्रा कर सकते हैं, क्योंकि इंग्लैंड में क्वारंटाइन कि नियमों में थोड़ी ढील दी गई है। गौरतलब है कि आइपीएल 2021 का आयोजन भारत में किया गया था, लेकिन आइपीएल के बबल में कोरोना वायरस के केस सामने आ गए थे। ऐसे में बीसीसीआई ने टूर्नामेंट को स्थगित कर दिया था। वहीं, देश में मई के महीने में कोरोना वायरस के केसों की संख्या काफी ज्यादा थी। ऐसे में बीसीसीआई ने सितंबर-अक्टूबर की विंडो में आइपीएल के बाकी बचे मैचों का आयोजन कराने का फैसला लिया, लेकिन मानसून के कारण इसे यूएई ले जाना पड़ा।

भूप सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned