scriptRahul dravid supports virat kohli ahead of IND vs ENG birmingham test | IND vs ENG: द्रविड़ को कोहली से शतक की उम्मीद नहीं!, आलोचकों को दिया करारा जवाब | Patrika News

IND vs ENG: द्रविड़ को कोहली से शतक की उम्मीद नहीं!, आलोचकों को दिया करारा जवाब

IND vs ENG birmingham test: मुख्य कोच राहुल द्रविड़ का मानना है कि शतक को ही सफलता मानना गलत है। द्रविड़ बे कहा, 'कोहली बहुत मेहनती व्यक्ति हैं। उनके जैसे बल्लेबाज को एक पारी की जरूरत होती है अपने खोए हुए लय को हासिल करने के लिए।'

नई दिल्ली

Published: June 30, 2022 10:05:15 am

IND vs ENG Rahul dravid on Virat Kohli: पूर्व भारतीय कप्तान विराट कोहली जब भी मैदान में उतरते हैं, फैंस उनसे शतक की उम्मीद करने लगते हैं। एक समय था जब कोहली हर सीरीज में शतक लगा देते थे। लेकिन पिछले 3 साल से उनके बल्ले से एक भी शतक नहीं निकला है। कोहली क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में बिना शतक लगाए 100 से ज्यादा मैच खेल चुके हैं। ऐसे में एक बार फिर बर्मिघम के एजबेस्टन में जब भारतीय टीम मैदान में होगी तो लोग उन से शतक की उम्मीद करेंगे।

rahul_virat.png
राहुल द्रविड़ का मानना है कि शतक को ही सफलता मानना गलत है।

लेकिन टीम के मुख्य कोच राहुल द्रविड़ का कुछ और की मानना है। द्रविड़ को कोहली से शतक की उम्मीद नहीं है। आलोचकों को करारा जवाब देते हुए द्रविड़ ने कहा कि यहां लोग शतक को ही सफलता मानते हैं। जो बिलकुल गलत है। द्रविड़ ने कहा, 'विराट सबसे ज्यादा मेहनती व्यक्ति हैं। वे नेट्स में बहुत मेहनत करते हैं। प्रैक्टिस मैच में उन्होंने जिस तरह से बल्लेबाजी कि थी। वही कबीले तारीफ थी। उन्होंने हर बॉक्स पर राइट का टिक लगा रहे थे। '

द वाल ने कहा, 'हर खिलाड़ी अपने करियर में इस तरह के दौर से गुजरता है। विराट कोहली भी इससे गुजर रहा है। यह समय शतक पर फोकस करने का नहीं है। लोग शतक को ही सफलता के तौर पर देखते हैं, लेकिन हम जीत में भागीदारी चाहते हैं। विराट कोहली ड्रेसिंग रूम में होता है, तो कई लोगों को प्रैरित करता है।'

ये भी पढ़ें - World Athletic Championhip:भारत को बड़ा झटका, सीमा पुनिया, भावना जाट और राहुल चैंपियनशिप से हटे

भारतीय कोच ने आगे कहा, ''खिलाड़ी अपने करियर में अलग-अलग दौर से गुजरते हैं और मुझे नहीं लगता कि विराट में प्रेरणा या ललक की कमी है। कोहली जैसे बल्लेबाज को एक पारी की जरूरत होती है अपने खोए हुए लय को हासिल करने के लिए।' उन्होंने आगे कहा, 'हमेशा जोर शतक पर नहीं रहना चाहिये। केपटाउन में साउथ अफ्रीका के खिलाफ कठिन हालात में बनाये गए 79 रन भी उम्दा थे। वह तिहरे अंक तक नहीं पहुंचे लेकिन वह बढ़िया पारी थी। उसने इतने ऊंचे मानदंड बनाये हैं कि लोग शतक को ही कामयाबी मानते हैं लेकिन एक कोच के नजरिये से मैं उससे मैच जिताने वाला योगदान चाहता हूं, भले ही वह 50 या 60 रन क्यों ना हो।'

बता दें विराट ने आखिरी बार नवंबर 2019 में बांग्लादेश के खिलाफ कोलकाता में खेले गए डे-नाइट टेस्ट में शतक लगाया था। उसके बाद से वे अपने 71वे शतक का इंतजार कर रहे हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

बिहार : नीतीश कुमार का बड़ा ऐलान, 20 लाख युवाओं को देंगे नौकरी और रोजगारIndependence Day 2022 : अगले 25 सालों का क्या है प्लान, पीएम मोदी के भाषण की 10 बड़ी बातेंस्वतंत्रता दिवस के मौके पर लेह पहुंचे मनोज तिवारी और निरहुआ, जवानों को परोसा खानाIndependence Day 2022: लाल किले पर बना नया रिकार्ड, पहली बार मेड इन इंडिया तोप ने दी सलामी, जानें इसके बारे मेंHar Ghar Trianga Campaign में 30 करोड़ से ज्यादा के झंडे बिके, CAIT ने बताया इतने करोड़ का हुआ कारोबारIndependence Day 2022: मोहन भागवत ने RSS मुख्यालय में फहराया तिरंगा, बोले-देश को क्या दे रहे हैं यह सोचकर जीने की जरूरत38 साल पहले शहीद हुए लांसनायक चंद्रशेखर का पार्थिव शरीर आज पहुंचेगा घर, राजकीय सम्मान से होगा अंतिम संस्कारसिद्धू मूसेवाला के पिता का बड़ा बयान, कहा-' जिन्होंने किया भाई होने का दावा वहीं निकले बेटे के हत्यारे'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.