india vs australia : स्मिथ को रन आउट करने के बाद जडेजा ने दिया ये बड़ा बयान, देखें वीडियो

स्टीव स्मिथ के रन आउट को मैं रिवाइंड करके देख सकता हूं। यह मेरे सबसे अच्छे रन आउटों में से एक है।
रवीन्द्र जडेजा ने भारत से बाहर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरे टेस्ट मैच में चटकाए 4 विकेट।
मेरी सोच थी कि मैं रन नहीं दूं और एक छोर से दबाव बना सकूं। यह विकेट ऐसी नहीं है कि आपको हर ओवर में मौका मिलें।

By: भूप सिंह

Published: 08 Jan 2021, 05:19 PM IST

नई दिल्ली। रवींद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) ने सिडनी क्रिकेट ग्राउंड (एससीजी SCG) में खेले जा रहे तीसरे टेस्ट मैच के दूसरे दिन ऑस्ट्रेलिया (Australia) की पहली पारी में चार विकेट लिए जिसमें 91 रन बनाने वाले मार्नस लाबुशैन (Marnus Labuschagne) का विकेट भी शामिल है, लेकिन उनके लिए स्टीव स्मिथ (Steve Smith) का रन आउट इन सभी विकेटों से ऊपर रहा।

 

स्मिथ का रनआउट मेरे लिए सबसे अहम
स्मिथ (Steve Smith) ने इस मैच की पहली पारी में 131 रन बनाए। यह उनका भारत के खिलाफ आठवां और कुल 27वां टेस्ट शतक है। वह जोश हेजलवुड (Josh Hazlewood) के साथ तेजी से रन भाग रहे थे। स्मिथ ने स्कावयर लेग पर शॉट खेला और रन के लिए भागे। एक रन लेने के बाद वह दूसरे रन के लिए भी दौड़ पड़े। स्मिथ जब दूसरा रन ले रहे थे तभी जडेजा ने गेंद पकड़ कर सीधी थ्रो विकेटों पर मार दी और स्मिथ रन आउट हो गए। इसी के साथ ऑस्ट्रेलियाई पारी भी 338 रनों पर समाप्त हो गई।

 

स्मिथ को रन आउट करना सबसे सर्वश्रेष्ठ
जडेजा ने दूसरे दिन का खेल खत्म होने के बाद कहा, मेरे लिए वो रन आउट ऐसा है जिसे मैं रिवाइंड करके देख सकता हूं। यह मेरे सबसे अच्छे रन आउटों में से एक है- 30 यार्ड के सर्किल से सीधी थ्रो। मैं इसे अपना सर्वश्रेष्ठ, मेरा पसंदीदा कहूंगा। जहां तक विकेट की बात है, भारत के बाहर चार या पांच विकेट हमेशा अच्छे रहते हैं लेकिन यह अलग ही पल था।

Ind Vs Aus Test: दूसरे दिन का खेल समाप्त, दो विकेट के नुकसान पर 96 के स्कोर पर टीम इंडिया

जड़ेजा ने चटकाए 4 विकेट
ऑस्ट्रेलिया ने दूसरे दिन की शुरुआत दो विकेट के नुकसान पर 166 रनों के साथ की थी। दूसरे दिन भी ऑस्ट्रेलिया ने अच्छी शुरुआत की। लेकिन मेजबान टीम ने अपने आठ विकेट 122 रनों पर खो दिए इसमें से जडेजा ने चार विकेट लिए।

Australia का स्कोर 250 के पार, टीम इंडिया के नाम रहा पहला सेशन

विकेट पर टर्न नहीं थी
जडेजा ने कहा, हमने धैर्य रखने की बात की थी क्योंकि विकेट ऐसी नहीं थी कि आप वहां जाकर आसानी से विकेट ले सकते थे। हमने तय किया था कि हम खाली गेंदें निकालेंगे...प्लान था कि उन्हें आसानी से बाउंड्रीज नहीं देनी है, ताकि हम विकेटों के लिए दबाव बना सकें। जडेजा ने लाबुशैन के अलावा वेड, पैट कमिंस, नाथन लॉयन के विकेट भी लिए। उन्होंने कहा, विकेट काफी धीमी थी और गेंदबाजी करना आसान नहीं था क्योंकि विकेट पर टर्न नहीं थी। एक ही लाइन पर गेंदबाजी करना अहम था।

सिडनी टेस्ट : पहले दिन अच्छी स्थिति में पहुंचा ऑस्ट्रेलिया, पुकोवस्की, लाबुशैन जमाए अर्धशतक

रन नहीं देकर दवाब बनाना था मेरा टारगेट
जडेजा ने कहा, मेरी सोच थी कि मैं रन नहीं दूं और एक छोर से दबाव बना सकूं। यह विकेट ऐसी नहीं है कि आपको हर ओवर में मौका मिलें। बाएं हाथ के गेंदबाज ने कहा, आप एक स्पीड से गेंदबाजी नहीं कर सकते क्योंकि यह विकेट आपकी मदद नहीं कर रही है, इसलिए आपको मिश्रण करना होगा। उन्होंने कहा, मेरा विचार स्टम्प पर गेंदबाजी करने और स्टीव स्मिथ को आसानी से रन न देने का था। बाकी के अन्य तेज गेंदबाज सही जगह गेंदबाजी कर रहे थे और बल्लेबाजों पर दबाव बना रहे थे।

Show More
भूप सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned