दुनिया के सबसे धनी क्रिकेट बोर्ड बीसीसीआई को भी आखिरकार झुकना ही पड़ा

दुनिया के सबसे धनी क्रिकेट बोर्ड बीसीसीआई को भी आखिरकार झुकना ही पड़ा

Manoj Sharma Sports | Updated: 21 Jul 2019, 02:19:19 PM (IST) क्रिकेट

  • नाडा के साथ करार को राजी हुआ BCCI
  • बीसीसीआई ने करार में अपनी शर्तों को भी किया शामिल

मुंबई। बीसीसीआई ( BCCI ) ने नेशनल एंटी डोपिंग एजेंसी ( NADA ) के साथ करार पर अपना रुख साफ कर दिया है। हालांकि बीसीसीआई ने नाडा के साथ करार की कुछ शर्तों में बदलाव भी किया है। बीसीसीआई ने ऐसा आईसीसी ( ICC ) के कहने पर किया है।

आईसीसी ने बीसीसीआई को नाडा के अंतर्गत लाने के लिए काफी प्रयास किए। बीसीसीआई लंबे समय से नाडा की शर्तों को मानने से इनकार करता आया है। हालांकि नाडा के साथ करार में खुद बीसीसीआई का ही फायदा है, अगर वह ऐसा नहीं करता तो उसे विश्व डोपिंग विरोधी संस्था ( WADA ) से मान्यता रद्द होने का खतरा था।

अमेरिका में क्रिकेट को 'खड़ा' करेगी ये भारतीय तिकड़ी

बीसीसीआई की मांग-

बीसीसीआई की मांग है कि सैंपल बोर्ड के ऐंटी-डोपिंग मैनेजर की मौजूदगी में ही लिए जाएं। बीसीसीआई की दूसरी अहम मांग ये है कि बोर्ड ही तय करे कि किस मैच के दौरान सैंपल लिए जाएं। बीसीसीआई ने नई शर्तों के साथ तैयार किया ड्राफ्ट नाडा और आईडीटीएम को भेज दिया है।

घरेलू सीजन की शुरुआत के साथ ही लागू हो जाएगा करार-

नाडा का ट्रायल घरेलू सीजन की शुरुआत के साथ ही अक्टूबर में शुरू हो जाएगा। घरेलू सीजन की शुरुआत के साथ ही खिलाड़ियों के सैंपल लेने भी शुरू किए जाएंगे। इस प्रक्रिया में अगर बीसीसीआई किसी तरह की बाधा पहुंचाएगा तो नाडा, वाडा को निगेटिव रिपोर्ट भी भेज सकेगा।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned