भारतीय धावक हिमा दास को यूनीसेफ इंडिया ने सौंपी बड़ी जिम्‍मेदारी, बनाया अपना यूथ एंबेसेडर

इस बात की जानकारी खुद यूनिसेफ इंडिया ने ट्वीट कर दी। एंबेसेडर बनाने के बाद हिमा बच्चों के अधिकारों और आवश्यकताओं के बारे में जागरुकता बढ़ाएंगी इतना ही नहीं वे बच्चों और युवाओं की आवाज को मजबूत करने का काम करेंगी।

By: Siddharth Rai

Published: 15 Nov 2018, 04:15 PM IST

नई दिल्ली। भारत की स्टार बेटी और एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाली हिमा दास को बुधवार को एक खास कार्यक्रम में संयुक्त राष्ट्र बाल निधि (यूनीसेफ) इंडिया ने अपना युवा एंबेसेडर चुना है। इस बात की जानकारी खुद यूनिसेफ इंडिया ने ट्वीट कर दी। एंबेसेडर बनाने के बाद हिमा बच्चों के अधिकारों और आवश्यकताओं के बारे में जागरुकता बढ़ाएंगी इतना ही नहीं वे बच्चों और युवाओं की आवाज को मजबूत करने का काम करेंगी।

हिमा ने इस साल की शुरुआत में फिनलैंड में अंडर-20 चैम्पियनशिप में 400 मीटर स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता था। वह अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर इस स्पर्धा में स्वर्ण जीतने वाली भारत की पहली महिला धावक बनी थीं। इसके बाद हिमा ने हाल ही में इंडोनेशिया के जकार्ता में आयोजित किए गए एशियाई खेलों में चार गुणा 400 मीटर स्पर्धा में भी भारत को स्वर्ण दिलाया था।

इससे पहले वह अप्रैल में गोल्ड कोस्ट में हुए राष्ट्रमंडल खेलों में पदक जीतने से चूक गयीं थी। हीमा 400 मीटर स्पर्धा में भारतीय अंडर 20 रिकॉर्ड 51. 32 सेकेंड के समय के साथ छठे स्थान पर रही थीं। हिमा दास 2020 टोक्यों में होने जा रहे ओलिंपिक खेलों में देश के लिए पदक लाने की प्रबल दावेदार हैं। बता दें असम की रहने वाली इस धावक को इस साल भारतीय सरकार द्वारा अर्जुन अवार्ड से नवाज़ा गया है। l

 

 

Siddharth Rai Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned