शतक के बाद विराट कोहली ने हवा में उछलकर क्यों मनाया जश्न, ये है उनके आक्रामक इशारों की वजह

टीम इंडिया ( Team India ) के कप्तान विराट कोहली ( Virat Kohli ) ने वेस्टइंडीज के खिलाफ मैच में आक्रामक तरीके इशारे किए।

 

Kapil Tiwari

August, 1203:40 PM

नई दिल्ली। वेस्टइंडीज ( West Indies ) के खिलाफ खेले गए सीरीज के दूसरे एकदिवसीय मैच में विराट कोहली ( Virat Kohli ) का 42वां शतक कई मायनों में अलग था। इस शतक के बाद विराट ने एक बार भी साबित कर दिया कि वो वर्ल्ड क्रिकेट के सबसे बड़े चेज मास्टर हैं। मैच में शतक बनाने के बाद कोहली ने आक्रामक तरीके से जश्न मनाया। वहीं कुलदीप यादव की गेंद पर शिमरॉन हेटमायर का कैच पकड़ने के बाद विराट कोहली ने चुप होने का इशारा किया।

गावस्कर को नंबर 4 पर खटक रहे हैं ऋषभ पंत, श्रेयस अय्यर को प्रमोट करने की कही बात
शतक नहीं लगा पाने के कारण दबाव में थे विराट कोहली
क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019 ( Cricket World Cup 2019 ) में टीम इंडिया ( Team India ) के कप्तान विराट कोहली ने पांच अर्धशतक बनाए। लेकिन भी मैच में वो अर्धशतक को शतक में नहीं बदल पाए। पूरे टूर्नामेंट में एक भी शतक नहीं लगा पाने के कारण विराट की जमकर आलोचना हुई। खुद कप्तान विराट भी इसको लेकर चिंतित थे। वर्ल्ड कप खत्म होने के बाद विराट और रोहित के झगड़े की खबरें मीडिया में आईं। वेस्टइंडीज के दौरे पर रवाना होने से पहले विराट ने मीडिया से कहा कि हम दोनों में झगड़े की बातें निराधार हैं। टीम का माहौल बहुत अच्छा है।

गॉड ऑफ क्रिकेट का सबसे ज्यादा शतकों का रिकॉर्ड खतरे में, काफी करीब पहुंचे विराट कोहली
मैच में काफी समय बाद विराट ने दिखाई आक्रामकता
वेस्टइंडीज के खिलाफ टी-20 सीरीज के दो मैचों में विराट बल्ले से कुछ खास नहीं कर पाए। सीरीज के तीसरे मैच में विराट और ऋषभ पंत के साथ लंबी पार्टनरशिप करके मैच जिताया। अर्धशतकीय पारी से उनका आत्मविश्वास बढ़ा और एक दिवसीय सीरीज के दूसरे मैच में विराट ने शानदार शतक जमाया। इस शतक के बाद विराट हवा में उछले और अपनी जर्सी नंबर की ओर इशारा किया। विराट अपने करियर की शुरूआत में शतक के बाद ऐसे जश्न मनाते थे। वहीं शिमरॉन हेटमायर का कैच पकड़ने के बाद विराट का चुप होने के लिए इशारा करना क्रिकेट समर्थकों के मन में कई सवाल खड़े कर रहा है।
विवाद और शतक नहीं बना पाने का आक्रामकता से दिया जबाव
माना जा रहा है कि विराट का जोरदार जश्न और चुप होने का इशारा उन आलोचकों के लिए था, जिन्होंने रोहित-विराट के झगड़े की बात पर जमकर चुटकी ली। साथ ही आक्रामक तरीके से जश्न मनाकर विराट ने उन आलोचकों को भी जवाब दिया जो ये मान बैठे थे कि विराट कोहली अब शतक नहीं लगा सकते हैं। विराट की कप्तानी को रोहित से मिल चुनौती को भी उनकी आक्रामकता एक कारण माना जा रहा है।

Show More
Kapil Tiwari Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned