scriptखुलासा: ‘मोदी चौक’ नहीं बल्कि इस वजह से हुई थी बीजेपी समर्थक की हत्या | Darbhanga real reason behind the murder case of bjp supporter | Patrika News
क्राइम

खुलासा: ‘मोदी चौक’ नहीं बल्कि इस वजह से हुई थी बीजेपी समर्थक की हत्या

दरभंगा पुलिस ने अपनी जांच के बाद मामले की सच्चाई से पर्दा उठाते हुए बताया है कि यह मामला भूमि विवाद का है

Mar 17, 2018 / 10:55 am

Shweta Singh

Narendra Modi chowk

नई दिल्ली। बिहार के दरभंगा से शुक्रवार को एक सनसनीखेज खबर आई थी। जिसके मुताबिक वहां के एक बीजेपी समर्थक के पिता की सिर्फ इस बात पर गला काटकर हत्या कर दी गई क्योंकि उन्होंने दो साल पहले अपने यहां एक चौक का नाम ‘नरेंद्र मोदी चौक’ रखा था। लेकिन अब इस मामले में एक नई जानकारी मिल रही है, जिससे कहानी में मोड़ आता दिख रहा है।

पुलिस जांच में हुआ ये खुलासा
दरभंगा पुलिस ने अपनी जांच के बाद मामले की सच्चाई से पर्दा उठाते हुए बताया है कि यह मामला भूमि विवाद का है। गौरतलब है कि मृतक रामचंद्र के बेटे और भोला यादव के भाई तेज नारायण यादव वहां बीजेपी की ओर से पंचायत स्तर के नेता है। दरभंगा पुलिस अधीक्षक की ओर से मीडिया के लिए जारी किए बयान में यह साफ किया गया कि आरोपी कमलेश यादव और पीड़ित के बेटे और बीजेपी नेता कमलदेव और तेज नारायण यादव के बीच काफी समय से घरारी जमीन को लेकर विवाद चलता आ रहा था और साथ ही उनकी दिलीप पासी के साथ दुश्मनी भी थी। पुलिस ने यह विज्ञप्ति तेजनारायण यादव की पत्नी सुशीला देवी के बयान के आधार पर जारी की है। सुशीला देवी ने अपने बयान में बताया कि उनके ससुर रामचंद्र यादव और देवर भोला यादव उर्फ कमलदेव यादव की हत्या दिलीप पासी और कमलेश यादव ने कराई है।

गला काटकर हत्या कर दी
इसके साथ ही बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशिल मोदी ने भी इस घटना को मात्रा भूमि विवाद बताते हुए, ‘मोदी-चौक’ वाले एंगल को नकार दिया है। आपको बता दें शुक्रवार को खबर आई थी कि ‘नरेंद्र मोदी चौक’ नाम रखने से नाराज से लाठी-डंडे व तलवार से लैस करीब दो दर्जन लोगों ने गुरुवार की रात कमलेश के घर पर हमला बोल दिया। इस हमले में कमलेश के पिता रामचंद्र यादव (61) की तलवार से काटकर हत्या कर दी गई जबकि कमलेश गंभीर रूप से घायल हो गया।

पुलिस ने तीन लोगों को हिरासत में लिया
दरभंगा सदर के थाना प्रभारी रविशंकर ने शुक्रवार को बताया था कि घायल अवस्था में कमलेश को दरभंगा मेडिकल कॉलेज अस्पताल (डीएमसीएच) में भर्ती कराया गया, जहां उसकी स्थिति खतरे से बाहर थी। पुलिस पूरे मामले की छानबीन की। आपको बता दें इस घटना से नाराज लोगों ने अपराधियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर दरभंगा के कर्पूरी चौक पर प्रदर्शन किया था। पुलिस ने मामले में छापेमारी कर तीन लोगों को हिरासत में भी लिया। घटना के बाद से क्षेत्र में तनाव का माहौल है।

Hindi News/ Crime / खुलासा: ‘मोदी चौक’ नहीं बल्कि इस वजह से हुई थी बीजेपी समर्थक की हत्या

loksabha entry point

ट्रेंडिंग वीडियो