दिल्ली में Terror Attack Alert के बीच संसद भवन के पास पकड़ाया संदिग्ध, बरामद हुआ कोडवर्ड वाला कागज

  • Delhi में CRPF ने संदिग्ध शख्स को Parliament के विजय चौक से पकड़ा
  • फिरदौस नाम के शख्स के पास से मिला कोडवर्ड वाला कागज
  • बार-बार अपनी बातों से पलट रहा था शख्स, Delhi Police ने अन्य एजेंसियों को भी दी सूचना

By: धीरज शर्मा

Published: 26 Aug 2020, 01:02 PM IST

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली ( Delhi ) में आतंकी हमले ( Terror Attack ) के अलर्ट के बीच एक बार फिर पुलिस ( Delhi Police ) को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। दरअसल संसद भवन के पास दिल्ली पुलिस ने एक शख्स को संदिग्ध हरकतों के साथ पकड़ा है। पुलिस उसे संसद मार्ग थाने ले गई। यहां पर पूछताछ के जरिए जानने की कोशिश की जा रही है कि वो आखिर संसद भवन ( Parliament House ) के पास क्या और क्यों कर रहा था।

डीसीपी ईश सिंघल के मुताबिक संसद भवन के विजय चौक से इस संदिग्ध शख्स को पकड़ा गया है। युवक का नाम फिरदौस बताया जा रहा है।

घर में स्टॉक कर लें जरूरी चीजें, देश के इन राज्यों में अगले कुछ घंटों में भारी बारिश से बढ़ सकती है मुश्किल

राजधानी दिल्ली में संसद भवन के विजय चौक से पुलिस ने एक संदिग्ध को पकड़ा है। पूछताछ करने पर उसने अपने बारे में अलग-अलग जानकारियां दीं हैं। इसके बाद शख्स को पार्लियामेंट स्थित थाने ले जाया गया है। पुलिस ने अन्य एजेंसियों को भी इस शख्स के पकड़े जाने की जानकारी दी है।

फिरदौस नाम के इस शख्स के पास एक पेपर मिला है। खास बात यह है कि इस पेपर में एक कोडवर्ड भी है। इसके अलावा इस शख्स के पास से दो आधार कार्ड और एक ड्राइविंग लाइसेंस भी मिला है। इस शख्स के पास मिले दोनों आधार कार्ड पर इसका नाम अलग-अलग है।

ये किया बरामद
संदिग्ध शख्स के पास से जो ड्राइविंग लाइसेंस में मिला है उसमें इसका नाम फिरदौस है जबकि आधार कार्ड में नाम मंजूर अहमद अहंगेर है। इसके मुताबिक ये शख्स रथसून बीरवाह, बडगाम का रहने वाला है। उसके पास से एक बैग भी बरामद हुआ है।

बार-बार बातों से पलट रहा था शख्स

CRPF से मिली जानकारी के मुताबिक ये शख्स बार-बार अपनी बातों से पलट रहा था। पहले इसने बताया कि वह 2016 में दिल्ली घूमने के लिए आया था। इसके बाद उसने कहा कि वो लॉकडाउन के दौरान यहां आया और यहीं पर रह रहा है। कभी खुद को जामिया इलाके का रहना वाला तो कभी निजामुद्दीन इलाके का रहने वाला बता रहा है।

कोरोना संकट के बीच दिल्ली की साकेत कोर्ट ने लिया बड़ा फैसला, तबलीगी जमातियों को किया आरोपमुक्त, जानें क्या बताई वजह

इसी से पुलिस को इस पर शक हुआ और इसे तुरंत हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी गई।
आपको बता दें कि इससे पहले इसी साल मार्च महीने में संसद भवन में कारतूस के साथ घुसने के प्रयास में सुरक्षा कर्मियों ने एक व्यक्ति को हिरासत में लिया था। उसकी पहचान गाजियाबाद निवासी अख्तर खान के रूप में हुई थी।

Show More
धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned