बालिका गृह कांड: ब्रजेश ठाकुर के पास से 40 मोबाइल नंबर बरामद, सूची में मंत्री के नंबर भी शामिल

बालिका गृह कांड: ब्रजेश ठाकुर के पास से 40 मोबाइल नंबर बरामद, सूची में मंत्री के नंबर भी शामिल

prashant jha | Publish: Aug, 12 2018 12:07:23 PM (IST) क्राइम

दरअसल बिहार पुलिस ने शनिवार को दर्जन भर जेलों में छापा मारा और तलाशी ली जहां से उसे ब्रजेश ठाकुर के पास से मिले कागज के टुकड़े पर 40 मोबाइल नंबर लिखे हैं। सूची में एक मंत्री सहित कई प्रमुख लोगों के नाम हैं।

पटना: मुजफ्फरपुर बालिका गृहकांड मामले में बिहार पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है। पुलिस की छानबीन में ब्रजेश ठाकुर के पास से 40 मोबाइल फोन नंबर की सूची मिली है। इसमें एक मंत्री का भी फोन नंबर शामिल है। हालांकि पुलिस ने उस मंत्री के नाम का खुलासा नहीं किया।पुलिस के मुताबिक मुजफ्फरपुर बालिका गृहकांड में 34 लड़कियों से दुषकर्म मामले में जेल में बंद आरोपी ब्रजेश ठाकुर की तलाशी ली गई। उस दौरान उसके पास से 40 मोबाइल फोन नंबर की सूची बरामद हुई। पुलिस ने कहा कि वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने ठाकुर को उस जगह पर देखा जहां लोग कैदियों से मिलने आते हैं। वहां से उन्हें हाथ से लिखी दो पर्चियां मिलीं जिसमें 40 मोबाइल नंबर और नाम लिखे थे।

ये भी पढ़ें: बालिका गृहों की घटानाएं दुखदायी और शर्मनाक, दोषियों के खिलाफ हो रही कार्रवाई : राजनाथ सिंह

दरअसल बिहार पुलिस ने शनिवार को दर्जन भर जेलों में छापा मारा और तलाशी ली जहां से उसे कई आपत्तिजनक चीजें बरामद हुईं। जिला प्रशासन के एक अधिकारी ने कहा कि सूची में एक मंत्री सहित कई प्रमुख लोगों के नाम हैं। यह सूची ठाकुर के पास से तलाशी में मिली। ठाकुर को 2 जून को गिरफ्तार किया गया था और तब से वह केवल पांच दिन जेल में रहा है। अभी वह स्वास्थ्य कारणों से कैदी वार्ड की जगह मेडिकल वार्ड में रह रहा है।

मंत्री ने दिया था इस्तीफा

गौरतलब है कि पिछले दिनों मुजफ्फरपुर बालिका कांड को लेकर सियासत गरमा गई थी। सामाजिक कल्याण मंत्री मंजू वर्मा के पति का आरोपी के साथ सांठगांठ होने का आरोप लगा था। जिसके बाज मंजू वर्मा ने इस्तीफा दे दिया था। मंजू वर्मा ने कहा था कि वह इस मामले में निर्दोष है और उनके पति का आरोपी ब्रजेश ठाकुर के साथ कोई संबंध नहीं है।

सीबीआई ने आरोपी के बेटे राहुल से की पूछताछ

वहीं शनिवार को सीबीआई ने पूछताछ के लिए बालिका गृहकांड के मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर के बेटे को हिरासत में लिया था। हालांकि लंबी पूछताछ के बाद उसे छोड़ दिया। जानकारी के मुताबिक सीबीआई ने बालिका गृह के संचालन, कर्मचारियों के रिकॉर्ड्स, बालिकाओं के रहने की व्‍यवस्‍था, फंडिंग आदि से सबंधित सवाल पूछे । सीबीआई जरूरत पड़ने पर ठाकुर के बेटे राहुल आनंद से दोबारा पूछताछ कर सकती है। राहुल आनंद ठाकुर का अखबार प्रात: कमल का प्रकाशक और संपादक है जो उसके आवासीय परिसर और बालिका गृह के अंदर स्थित है।

Ad Block is Banned