श्रीनगर: आतंकियों ने एमएलसी के घर से बड़ी मात्रा में लूटे हथियार, हाई अलर्ट जारी

फिलहाल पुलिस ने घाटी में हाई अलर्ट जारी कर दिया है। पुलिस का दावा है कि जल्द ही आतंकियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

By: Prashant Jha

Updated: 30 Dec 2018, 09:39 PM IST

श्रीनगर: जम्मू एवं कश्मीर में आतंकी अब हथियार लूट रहे हैं। श्रीनगर में एमएलसी के घर से आंतकियों ने रायफल लूटे हैं। आतंकी चार AK 47 रायफल लूटकर फरार हो गए। पुलिस ने आतंकियों के खिलाफ लूटपाट और बड़ी वारदात को अंजाम देने का मामला दर्ज किया है। साथ ही घाटी में हाई अलर्ट जारी किया गया है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक रविवार दोपहर श्रीनगर में एमएलसी मुजफ्फर अहमद पर्रे के घर आतंकियों ने चढ़ाई की । इस दौरान उनके घर पर सुरक्षा में तैनात जवानों की चार एके-47 रायफल लेकर आतंकी वहां से फरार हो गए।

इलाके में सर्च ऑपरेशन जारी

जम्मू-कश्मीर पुलिस और सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके में नाकेबंदी कर आतंकियों के खिलाफ सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया है। पुलिस का दावा है कि जल्द ही आतंकियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

बारामुला में छिपे हैं कई आतंकी

वहीं जम्मू कश्मीर के बारामुला जिला के सोपोर में सुरक्षाबलों ने कॉर्डन एंड सर्च ऑपरेशन (कासो) चलाया। इलाके में आतंकी छिपे होने की आशंका है। सुरक्षाबलों ने आतंकियों के छिपे होने की सूचना के बाद सेना के 22 राष्ट्रीय राइफल्स और जम्मू-कश्मीर पुलिस के विशेष अभियान समूह (एसओजी) की एक संयुक्त टीम ने तुज्जर गांव में खोजी ऑपरेशन शुरू किया। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, क्षेत्र में बड़ी संख्या में सेना की तैनाती की गई है। इलाके में डोर टू डोर तलाशी अभियान शुरू किया गया है।

आतंकी समूहों को नहीं मिल रहा कमांडर

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर में आतंक की कमान संभालने वाले कमांडरों का टोटा पड़ा है पिछले दो सालों में कश्मीर में सुरक्षाबलों ने लगभग सभी आतंकी संगठनों के जिला कमांडरों को ढेर कर दिया है। आलम यह है कि सेना के खौफ के चलते आतंकी संगठनों को नए युवा कमांडर नहीं मिल पा रहे हैं। सूत्रों के अनुसार पिछले दो सालों ने सुरक्षाबलों ने जम्मू-कश्मीर में अभियान आल आउट चलाकर 28 कमांडर मार गिराए हैं। जबकि इस दौरान कुल 478 आतंकियों को भी ढेर कर दिया है।

Prashant Jha
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned