किसानों को प्रकृति भी नहीं छोड़ रही, बिजली गिरने से किसान व बैल की मौत

किसानों को प्रकृति भी नहीं छोड़ रही, बिजली गिरने से किसान व बैल की मौत

Arjun Richhariya | Publish: Jun, 23 2018 12:14:30 PM (IST) Dewas, Madhya Pradesh, India

बिजली गिरने से किसान की मौत तो एक अन्य किसान की करंट की चपेट में आने से हो गई मौत

पुंजापुरा . जिले के ग्राम पुंजापुरा से दस किमी दूर ग्राम लक्ष्मीनगर कादुडिय़ा में शुक्रवार शाम ४.३० बजे किसान अपने खेत में बैलों की मदद से बोवनी का कार्य कर रहा था। इस दौरान आसमान में बादल छाए हुए थे कि अचानक आसमान से बिजली गिरी, जिसकी चपेट में आने से किसान कालू (३२) पिता गट्टू व उसके दोनों बेलों की मौके पर ही मौत हो गई। अन्य खेत पर काम कर रहे किसान और ग्रामीण मौके पर पहुंचे और पुलिस की १०० डायल को फोन लगाया गया। फोन लगाते ही पुलिस मौके पर पहुंची और कालू को उदयनगर के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया गया, जहां पर डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया गया।
पिछले कुछ दिनों से किसानों के साथ जिस तरह से घटनाएं घट रही है, उससे लगता है कि अब प्रकृति भी किसानों का साथ छोड़ रही है। किसान वैसे ही बैंकों और साहूकारों के कर्ज के बोझ तले दबे हैं ऊपर से अब आकाशीय बिजली गिरने से किसान की मौत हो गई। यही नहीं किसान के हजारों रुपए के बेलों की भी मौत होने से किसान परिवार को आर्थिक नुकसान उठाना पड़ेगा। किसान का शव पीएम के लिए सरकारी हॉस्पिटल में रखा गया है, जिसका पीएम शनिवार सुबह किया जाएगा।
नई में जुते हुए मर गए बेल
खेत में किसान बेलों को नई में जोतकर बोवनी का कार्य ही कर रहा था। इसी दौरान आसमान से ऐसी बिजली गिरी को किसान और बेलों को बचने का मौका भी नहीं दिया। बेल खेत में स्थित आम के पेड़ के नीचे तक पहुंचे थे कि बिजली गिरी। बेल नई में जुते हुए ही मर गए।
इधर बिजली गिरने से किसान की भैंस मरी
कुसमानिया. समीप के ग्राम सातल के मजरा ग्राम जूना टांडा में शुक्रवार बारिश के दौरान आकाशीय बिजली गिरने से एक भैंस की मौत हो गई। भैंस किसान के घर के पास पशुशेड में बंधी थी। सरपंच, सचिव ने पंचों और पशु चिकित्सक की उपस्थिति में पंचनामा बनाया। पंचनामा अनुसार जूना टांडा निवासी किसान मोहन पिता मलजी बारेला के घर के पास पशु शेड में बंधी भैंस आकाशीय बिजली गिरने से मर गई। भैंस गर्भवती होने के साथ ही हजारों रुपए की कीमत की थी। इस संबंध में पशु चिकित्सक विष्णुप्रसाद शर्मा ने बताया, भैंस की मौत का कारण प्रथम दृष्टया आकाशीय बिजली गिरना प्रतीत होता है। मौके पर ओंकारा सरपंच सवाईसिंह भुसारिया, सचिव कैलाश जाधव ने पीडि़त किसान एवं ग्रामीणों की उपस्थिति में पंचनामा बनाया।
एक अन्य किसान की हाईटेंशन की चपेट में आने से हुई मौत
देवास. बारिश होने के बाद किसान परिवार सहित खेतों में हंकाई व जुताई में जुट गए हैं। इसी तरह हाटपीपल्या थाना क्षेत्र के ग्राम महुखेड़ा में शुक्रवार शाम करीब ५ बजे खेत पर हंकाई का काम कर रहे किसान ऊपर से निकली ११ हजार वॉल्टेज की लाइन की चपेट में आ गया, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। कोतवाली पुलिस ने बताया, ग्राम महुखेड़ा का किसान सजन पिता मनोहरलाल शाम को अपने खेत में हंकाई का काम करते समय अचानक हाईटेंशन लाइन की चपेट में आ गया। परिजन तत्काल उपचार के लिए जिला अस्पताल देवास लाए, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। किसान का शनिवार को पीएम होगा। कन्नौद थाना क्षेत्र से एक महिला को परिजन जहरीला पदार्थ खाने पर जिला अस्पताल लाए थे। इस महिला की भी उपचार के दौरान मृत्यु हो गई है। दोनों मामलों में कोतवाली पुलिस ने जीरो पर कायमी कर मामला संबंधित थानों पर भेजा जाएगा।

Ad Block is Banned