आज के ये 6 उपाय चमका देंगे आपका भाग्य

श्री गणेश बदल देंगे आपकी किस्मत...

By: दीपेश तिवारी

Updated: 22 Jun 2020, 03:30 PM IST

सनातन धर्म में भगवान श्रीगणेश को प्रथम पूज्य देव माना जाता है। वहीं ज्योतिष के अनुसार बुधवार का दिन भगवान श्रीगणेश को समर्पित होता है, जिन्हें मुख्य रूप से बृद्धि का देवता माना गया है।

पंडित सुनील शर्मा के अनुसार वहीं यदि आपका कोई काम न बन रहा हो तो व‍िघ्‍नहर्ता श्रीगणेशजी की पूजा करनी चाहिए। क्‍योंक‍ि गणेश बुद्धि के देवता होने के साथ ही जीवन में आने वाली सभी तकलीफों और व‍िघ्‍नों को दूर करते हैं।

ज्‍योत‍िषशास्‍त्र में गणेशजी से संबंध‍ित कुछ उपाय बताए गए हैं। मान्‍यता है क‍ि अगर इन्‍हें पूरी श्रद्धा के साथ क‍िया जाए तो यह जातक को मनोवांछित आशीर्वाद प्रदान करते हैं। आइए जानते हैं…

MUST READ : प्रथम पूज्य श्रीगणेश की प्रतिमा से जुड़े हैं ये खास रहस्य, ऐसे समझें

gp.jpg

1. ज्‍योत‍िषशास्‍त्र के अनुसार यदि कार्यक्षेत्र में परेशानी आ रही हो तो हर बुधवार को गाय को हरा चारा खिलाएं, मान्यता है ऐसा करने से जहां कार्यक्षेत्र में आ रही परेशानियां दूर हो जाती हैं, वहीं कुछ नई जिम्मेदारियों के साथ ही तरक्की का मार्ग भी साफ होता है।

2. जबकि पार‍िवार‍िक जिम्‍मेदार‍ियों में किसी काम में बार बार विघ्‍न आ रहा हो तो गणेशजी का उपाय करें। इसके लिए प्रत्‍येक बुधवार को गणपत‍िजी को घर में या मंद‍िर में 4 नारियल की माला चढ़ाएं। मान्‍यता है क‍ि ऐसा करने से गणेशजी सारे विघ्‍न देखते ही देखते दूर कर देते हैं। साथ ही बिगड़ते कार्यों में भी सफलता म‍िलने लगती है।

MUST READ : भगवान श्रीगणेश को इन सरल मंत्रों से करें प्रसन्न

gp_1.jpg

3. इसके अलावा अगर तमाम मेहनत करने के बावजूद भी आपको परीक्षा में सफलता न म‍िल रही हो तो गणेश जी को याद करें। साथ ही गणपत‍ि मंद‍िर जाकर कच्चे सूत में 7 गांठ लगाकर ‘जय गणेश काटो क्‍लेश’ कहते हुए गणेशजी को चढ़ाएं। इसके बाद धागा अपने पर्स में रख लें। मान्‍यता है क‍ि ऐसा करने से प्रत‍ियोगी परीक्षा में सफलता म‍िलती है।

4. यदि आपकी स्मरण शक्ति कमजोर हो तो गणेशजी की पूजा से यह समस्‍या दूर हो जाती है। इसके लिए प्रत्‍येक बुधवार को मुरमुरे से हवन करें और गणपति अथर्वशीर्ष के अंतिम श्लोक ‘महाविघ्नात्प्रमुच्यते।। महादोषात्प्रमुच्यते।। महापापात् प्रमुच्यते। स सर्व विद्भवति स सर्वविद्भवति। य एवं वेद इत्युपनिषद’ का पाठ करें। ऐसा करने से व्‍यक्ति की स्‍मरण शक्ति तेज हो जाती है।

MUST READ : विघ्नहर्ता श्री गणेश के आठ अवतार, जानें उनकी रोचक कथाएं

gp_2.jpg

5. ज्‍योत‍िष के जानकारों अनुसार अगर पार‍िवार‍िक जीवन में तकलीफ हो। तमाम कोश‍िशों के बाद भी अगर र‍िश्‍तों में दूर‍ियां कम ही न हो रही हों तो न‍ियमित रूप से माता-प‍िता के चरण-स्‍पर्श करें। मान्‍यता है क‍ि ऐसा करने की वजह से ही गणपति प्रथम पूज्‍य कहलाए, इसलिए जो भी जातक ऐसा करता है गणेशजी उसके जीवन से सारी परेशान‍ियां दूर कर देते हैं।

6. वहीं ज्‍योत‍िषशास्‍त्र के अनुसार अगर क‍िसी व्‍यक्ति को बात-बात पर गुस्सा आता हो या मन अशांत रहता हो। तमाम प्रयासों के बावजूद भी गुस्‍सा न थमता हो। या फिर मानस‍िक तनाव कम न हो तो उसे दूर करने के लिए पार्वती नंदन को लाल रंग का कोई भी फूल चढ़ाएं। मान्‍यता है क‍ि ऐसा करने से श्रीगणेश की कृपा से व्‍यक्ति का क्रोध शांत हो जाता है। साथ ही उसके जीवन से सारा तनाव दूर हो जाता है।

Show More
दीपेश तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned