भगवान नृसिंह के इस मंत्र का जप, करता है शत्रुओं से रक्षा

भय, अकाल मृत्यु का डर, असाध्य रोग से मिलेगा छुटकारा

By: Shyam

Updated: 19 Apr 2020, 09:58 AM IST

भगवान नृसिंह विष्णुजी के सबसे उग्र अवतार माने जाते हैं। उनके बीज मंत्र के जप से शत्रुओं का नाश होकर कोर्ट-कचहरी के मुकदमे आदि में विजय प्राप्त होती है। इससे शत्रु शमन होकर पराक्रम में बढ़ोतरी होती है तथा आत्मविश्वास में भी वृद्धि होती है। नृसिंह मंत्र से तंत्र मंत्र बाधा, भूत पिशाच भय, अकाल मृत्यु का डर, असाध्य रोग आदि से छुटकारा मिलता है तथा जीवन में शांति की प्राप्ति हो जाती है।

जानें आखिर तंत्र विद्या क्या है और यह कैसे काम करती है

भगवान नृसिंह के बीज मंत्र।

।। ॐ श्रौं’क्ष्रौं ।।

।। ॐ श्री लक्ष्मीनृसिंहाय नम:।।

केवल 7 दिन में होता है चमत्कार

शत्रु बाधा हो या तंत्र मंत्र बाधा, भय हो या अकाल मृत्यु का डर। इस मंत्र के जप करने से शांति हो जाती है। शत्रु निस्तेज होकर भाग जाते हैं, भूत पिशाच भाग जाते हैं तथा असाध्य रोग भी ठीक होने लगता है। भगवान विष्णु के नृसिंह अवतार का तांत्रिक मंत्र- "ॐकार नृसिंह" मंत्र के जप से तांत्रिक क्रिया का तंत्र प्रभाव 7 दिन में खत्म हो जाता है।

भगवान नृसिंह के इस मंत्र का जप, करता है शत्रुओं से रक्षा

इस मंत्र का उच्चारण करते हुए नीचे बताएं पदार्थ भगवान नृसिंह को अर्पित करने से अनेक मनोकामना पूरी हो जाती है।

।। ॐ नृम नृम नृम नरसिंहाय नमः।।

चमत्कारी उपाय

1- भगवान नरसिंह को मोर पंख चढाने से कालसर्प दोष दूर होता है।

2- भगवान नरसिंह को दही अर्पित करने से मुकद्दमों में विजय मिलती है।

3- भगवान नरसिंह को नाग केसर अर्पित करने से धन लाभ मिलता है।

4- भगवान नरसिंह को बर्फीला पानी अर्पित करने से शत्रु पस्त होते हैं।

5- भगवान नरसिंह को मक्का का आटा चढाने से रूठा व्यक्ति मान जाता है।

6- भगवान नरसिंह को लोहे की कील चढाने से बुरे ग्रह टलते हैं।

7- भगवान नरसिंह को चाँदी और मोती चढाने से रुका धन मिलता है।

8- भगवान नरसिंह को भगवा ध्वज चढाने से रुके कार्य में प्रगति होती है।

9- भगवान नरसिंह को चन्दन का लेप देने से रोगमुक्ति होती है।

*************

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned