अमृत पाने के लिए शरद पूर्णिमा की रात करें ये उपाय

अमृत पाने के लिए शरद पूर्णिमा की रात करें ये उपाय

Devendra Kashyap | Updated: 10 Oct 2019, 10:56:45 AM (IST) धर्म कर्म

शरद पूर्णिमा की रात चंद्रमा से अमृत की बारिश होती है। ये अमृत आपको धन, स्वास्थ्य और प्रेम से नवाजता है।

शरद ऋतु में पड़ने वाली पूर्णिमा का इंतजार हर किसी को होता है क्योंकि इस दिन चंद्रमा अपनी सोलह कलाओं के साथ दिखता है। कहा जाता है कि इस दिन चंद्रमा से अमृत की बारिश होती है। ये अमृत आपको धन, स्वास्थ्य और प्रेम से नवाजता है। इस दिन का पूरा लाभ पाने के लिए कई तरह की कोशिश की जाती है।

शरद पूर्णिमा के दिन खीर बनाकर भगवान कृष्ण को अर्पित करने के बाद चंद्रमा की रोशनी में रखने की प्रथा है। इस प्रसाद को अमृत के समान माना जाता है। अगर आप भी इस दिन का लाभ उठाना चाहते हैं तो कुछ उपाय करने होंगे। आइये जानते हैं कि शरद पूर्णिमा के दिन क्या करने होंगे...

  1. शरद पूर्णिमा की रात में हर किसी को कम से कम 30 मिनट तक चंद्रमा की रोशनी में रहने की कोशिश करना चाहिए। शरद पूर्णिमा की रात 10 से 12 बजे का समय बहुत ही उपयोगी होता है।
  2. शरद पूर्णिमा की रात दमा रोगियों के लिए वरदान होती है। इस रात में खीर को चांदनी रात में रखकर सुबह 4 बजे खा लेना चाहिए। माना जाता है ऐसा करने दमा हमेशा के लिए खत्म हो जाता है।
  3. अगर आप आंखों की रोशनी बढ़ाना चाहते हैं तो शरद पूर्णिमा की रात चंद्रमा को 15 से 20 मिनट तक चंद्रमा को टकटकी लगाकर देखें। ऐसा करने आंखों की रोशनी बढ जाएगी।
  4. शरद पूर्णिमा के दिन पूर्ण रूप से जल और फल ग्रहण करके उपवास रखना चाहिए।
  5. अगर आप उपवास नहीं रख सकते हैं तो इस दिन सात्विक भोजन ग्रहण करें। ये आपके लिए ज्यादा बेहतर होगा।
  6. शरद पूर्णिमा के दिन शरीर के शुद्ध रखें और कोशिश करें कि इस उपवास ही रखें। ऐसा करने से आप बेहतर तरीके से अमृत की प्राप्ति कर पाएंगे।
  7. इस दिन चमकदार सफेद रंग के वस्त्र धारण करें तो ये आपके लिए ज्यादा अच्छा होगा।
Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned