Gupt Navratri 2021: शिव पूजा के लिए बेहद खास हैं ये दिन, मिलेंगे खास आशीर्वाद

नवरात्रि में भगवान शिव की पूजा...

By: दीपेश तिवारी

Published: 12 Jul 2021, 03:01 AM IST

आषाढ़ माह के गुप्त नवरात्र शुरु हो चुके हैं। ऐसे में जहां नवरात्रि की देवियों का स्वरूप माता पार्वती से जुड़ा माना जाता है, वहीं नवरात्रि के इन दिनों में भगवान शिव की पूजा अति विशेष मानी गई है। उस पर भी सोमवार का दिन होने पर यह पूजा और खास हो जाती है। और इस दिन भगवान शिव की आराधना विशेष फलदायक मानी गई है।

ऐसे में आज आषाढ़ गुप्त नवरात्रि का पहला सोमवार अपने में कुछ खास संयोग बना रहा है। पंडितों व धर्म के जानकारों के अनुसार नवरात्रि का पहला सोमवार होने चलते इस दिन भगवान शिव को प्रसन्न अत्यंत आसानी से प्रसन्न किया जा सकता है।

इस संबंध में जानकारों का कहना है भगवान शिव की पूजा से पहले माता पार्वती की पूजा की जानी चाहिए। माना जाता है ऐसा करने से ही भगवान शिव प्रसन्न होते हैं और उनकी पूजा पूर्ण होती है।

Read more - Corona Third Wave in astrology: कोरोना की तीसरी लहर कब और कैसे आएगी? जानें बचाव के उपाय

3rd wave of corona in india

मान्यता के अनुसार माता पार्वती के साथ सभी गणों और नंदी से घिरे भगवान शिव की पूजा करने से मान-सम्मान की प्राप्ति होती है। वहीं भगवान शिव-पार्वती के साथ कार्तिकेय का पूजन करने से सभी इच्‍छाएं पूरी होती हैं।

गुप्त नवरात्र के सोमवार: ऐसे करें भगवान शिव को प्रसन्न
भगवान शिव बहुत भोले हैं, यदि कोई भक्त सच्ची श्रद्धा से उन्हें सिर्फ एक लोटा जल भी अर्पित करे, तो भी वे प्रसन्न हो जाते हैं, इसीलिए उन्हें भोलेनाथ भी कहा जाता है। वे सदा अपने भक्तों पर कृपा बरसाते हैं।

Must Read- Mangala Gauri Vrat 2021: इस साल 27 जुलाई को है पहला मंगला गौरी व्रत, जानें पौराणिक कथा

mangla gauri vrat

भगवान शिव का वार सोमवार माना जाता है। जानकारों के अनुसार सोमवार को अगर भगवान शिव की सच्चे मन से पूजा की जाए तो सारे क्लेशों से मुक्ति मिलती है और मनोकामना पूर्ण होती है। भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए सोमवार को सुबह उठकर स्नान करके श्रीगणेश व माता पार्वती की पूजा के बाद भगवान शिव की आराधना करनी चाहिए।

चूकिं नवरात्र के दौरान माता के विभिन्न रूपों का पूजन विशेष महत्व रखता है, ऐसे में जहां भगवान शंकर से पहले माता पार्वती की पूजा होने से भगवान शिव तो प्रसन्न होंगे ही, माता के नवरात्र की पूजा भी नियम के अनुसार होने से देवी मां भी प्रसन्न होकर आशीर्वाद देंगी।

शिव पूजा के दौरान भगवान शंकर के साथ माता पार्वती और नंदी को गंगाजल चढ़ाएं। सोमवार के दिन शिवजी को चंदन, अक्षत, बिल्व पत्र, धतूरा या आंकड़े के फूल अवश्य चढ़ाएं। ये सभी चीजें भगवान शिव की प्रिय हैं। इन्हें चढ़ाने पर भोलेनाथ जल्दी प्रसन्न होकर अपनी कृपा बरसाते है।

Must Read- Monday Shiv Puja: यदि हर सोमवार आप भी करते हैं भगवान शिव की पूजा, तो जरूर जान लें ये बातें

monday puja rules

सोमवार के दिन भगवान शिवजी को घी, शक्कर, गेंहू के आटे से बने प्रसाद का भोग लगाना चाहिए। इसके बाद धूप, दीप से आरती करें। प्रसाद को गुरुजनों, बुजुर्गों और परिवार, मित्र सहित ग्रहण करें।

पंडित सुनील शर्मा के अनुसार सोमवार के दिन महामृत्युंजय मंत्र का जाप 108 बार करने से भगवान शिव की विशेष कृपा प्राप्त होती है। सोमवार के दिन शिवलिंग पर गाय का कच्चा दूध चढ़ाने से भगवान शिव की कृपा आप पर हमेशा बनी रहेगी।

इस मंत्र का करें जाप
- नमः शिवाय, ॐ नमः शिवाय

दीपेश तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned