दैवीय शक्तियां : आपकी मदद कर रही हैं या नहीं ऐसे पहचानें

दैवीय सहायता होने पर कुछ खास स्थितियां सामने आती हैं, जिन्हें पहचानें के लिए कुछ खास इशारे मिलते हैं...

By: दीपेश तिवारी

Published: 26 Dec 2020, 10:29 AM IST

हमारे द्वारा की जाने वाली पूजा या अन्य भगवान के नाम पर किए जाने वाले कार्य जैसे यज्ञ आदि हमारे भगवान पर विश्वास को दर्शाते हैं। पंडितों व जानकारों के अनुसार भी भगवान की पूजा आदि का मुख्य कारण उन्हें प्रसन्न कर उनकी कृपा प्राप्त करने को माना जाता है। वहीं कई बार हमें लगातार भगवान की ओर से सहायता मिलने के बावजूद जानकारी के अभाव में हम उसे पहचान नहीं पाते।

कई लोग ऐसे होते हैं जिनकी समस्याएं एक के बाद एक आसानी से हल होती चली जाती हैं और वह इस बात से अनभिज्ञ होते हैं कि उनकी इस मदद के पीछे दैवीय शक्तियों का हाथ होता है।

MUST READ : आने वाले अच्छे समय के खास संकेतों को ऐसे पहचानें, ये है भगवान का इशारा!

https://www.patrika.com/bhopal-news/special-signs-given-by-god-for-your-future-1-3330043/

जानकारों के अनुसार दुनिया में बहुत से ऐसे लोग हैं, जिन्हें उनके जीवन में दैवीय सहायता मिलती है। इसमें जहां किसी को ज्यादा तो किसी को कम दैवीय सहायता प्राप्त है। वहीं इनमें कुछ तो ऐसे होते हैं जिनके माध्यम से ऊपरी या दैवीय शक्तियां अच्छा काम भी करवाती हैं।

ऐसे में सवाल यह उठता है कि आम व्यक्ति आखिर कैसे पहचानें कि दैवीय शक्तियां उसकी मदद कर रही हैं या उसकी पूजा-पाठ-प्रार्थना का असर हो रहा है? इस बात को समझने के लिए कुछ खास इशारे हमें मिलते है, लेेकिन जानकारी की कमी के चलते हम ये समझ नहीं पाते, पंडितों व जानकारों के अनुसार दैवीय सहायता होने पर कुछ खास स्थितियां सामने आती हैं, जिन्हें पहचानें के कुछ खास इशारे इस प्रकार हैं...

1. आप अच्छे मार्ग पर हैं...
शास्त्र कहते हैं कि दैवीय शक्तियां सिर्फ उसकी ही मदद करती है, जो दूसरों के दुख को समझता है, जो बुराइयों से दूर रहता है, जो नकारात्मक विचारों से दूर रहता है, जो नियमित अपने ईष्ट की आराधना करता है या जो पुण्य के काम में लगा हुआ है।

यदि आप समझते हैं कि मैं ऐसा ही हूं तो निश्‍चित ही दैवीय शक्तियां आपकी मदद कर रही हैं। आपको बस थोड़ा सा इस बात पर ध्यान देने की जरूरत है कि आप अच्छे मार्ग पर हैं और आपको ऊपरी शक्तियां देख रही हैं।

2. स्वत: नींद खुल जाना इस काल में...
विद्वान लोग कहते हैं कि यदि आपकी आंखें प्रतिदिन ब्रह्म मुहूर्त में अर्थात रात्रि 3 से 5 के बीच अचानक ही खुल जाती हैं तो आप समझ जाएं कि दैवीय शक्तियां आपके साथ हैं, क्योंकि यही वह समय होता है जबकि देवता लोग जाग्रत रहते हैं।

यदि आप अपने बचपन से लेकर जवानी तक इस समय के बीच उठते रहे हैं तो समझ जाएं कि दैवीय शक्तियां आपके माध्यम से कुछ करवाना चाहती हैं या कि वे आपको एक अच्छी आत्मा समझकर यह संकेत दे रही हैं कि अब उठ जाओ। यह जीवन सोने के लिए नहीं है। आपको दुनिया में बहुत कुछ करना है।

यह भी कहा जाता है कि सत्व गुण प्रधान लोग इस काल में स्वत: ही उठ जाते हैं। आयुर्वेद के अनुसार इस समय बहने वाली वायु को अमृततुल्य कहा गया है। यह अमृत वेला होती है। कहते हैं कि इस काल में दुनिया के मात्र 13 प्रतिशत लोगों की ही नींद खुलती है।

3. देव स्थान के सपने
यदि आपको बारंबार मंदिर या किसी देव स्थान के ही सपने आते रहते हैं। सपने में आप आसमान में ही उड़ते रहते हैं या सपने में आप देवी-देवताओं से वार्तालाप करते रहते हैं तो आप समझ जाइए कि दैवीय शक्तियां आप पर मेहरबान हैं।

4. घटनाओं का पहले से ज्ञान
यदि आपको आने वाली घटनाओं का पहले से ही ज्ञान हो जाता है या आपको पूर्वाभास हो जाता है तो आप समझ जाइए कि दैवीय शक्तियों की आप पर कृपा है।

5. पारिजनों का प्रेम
आपकी पत्नी, बेटा, बेटी और आपके सभी परिजन आपकी आज्ञा का पालन कर रहे हैं, वे सभी आपसे प्यार करते हैं एवं आप भी उनसे प्यार कर रहे हैं तो आप समझ जाइए कि दैवीय शक्तियां आप से प्रसन्न हैं।

6. अचानक से लाभ होना
जीवन में आपको अचानक से लाभ प्राप्त हो जाता है। आपके किसी भी कार्य में किसी भी प्रकार की आपको बाधा उत्पन्न नहीं होती है और सभी कुछ आपको बहुत आसानी से मिल जाता है, तो आप समझ जाइए कि दैवीय शक्तियां आपकी मदद कर रही हैं।

7. वातावरण में सुगंध का अहसास
यदि कभी-कभी आपको यह महसूस होता है कि मेरे आसपास कोई है या आपको बिना किसी कारण ही अपने आसपास सुगंध का अहसास हो तो समझ जाइए कि अलौकिक शक्तियां आपके आसपास आपकी मदद के लिए हैं।

8. हवा का झोंका या प्रकाश पुंज महसूस होना
आप पूजा कर रहे हैं और यदि आपको लगे कि अचानक सुहानी हवा का झोंका या प्रकाश पुंज आ गया और शरीर में सिहरन दौड़ने लगे। ऐसा तो पहले कभी हुआ नहीं तो समझिए कि देवी या देवता आप पर प्रसन्न हैं।

9. आसपास बादल या ठंडी हवा का अहसास
भूमि पर रहते हुए भी कभी-कभी आपको यह अहसास हो कि मेरे आसपास बादल या ठंडी हवा का एक पुंज है जिसने मुझे घेरा हुआ है तो आप समझ जाइए कि अलौकिक या दैवीय शक्ति ने आपको घेर रखा है। ऐसा अक्सर बहुत ज्यादा पूजा-पाठ करने वाले व्यक्ति के साथ होता है।

10. मधुर संगीत सुनाई देना या रोशनी का पुंज दिखना
अचानक ही आपको तेज रोशनी का पुंज दिखाई दे जिसकी कि आप कल्पना भी नहीं कर सकते या आपको अचानक ही कानों में मधुर संगीत सुनाई दे और आप आश्‍चर्य करें कि यहां आसपास तो कोई संगीत बज ही नहीं रहा फिर भी वह कानों में सीटी बजने की तरह सुनाई दे, तो आप समझ जाइए कि आप दैवीय शक्ति के सान्निध्य में हैं। ऐसा अक्सर उन लोगों के साथ होता है, जो निरंतर ही अपने ईष्टदेव का मंत्र जप कर रहे होते हैं।

11. गहरी नींद में अचानक किसी आवाज का महसूस होना
आप रात्रि में गहरी नींद में सो रहे हैं और आपको लगता है कि किसी ने मुझे आवाज दी और आप अचानक ही उठ जाते हैं, लेकिन फिर आपको आभास होता है कि यहां तो कोई नहीं है। लेकिन आवाज तो स्पष्ट थी। ऐसा आपके साथ कई बार हो जाता है तो आप समझ जाइए कि आप पर किसी अलौकिक शक्ति की मेहरबानी है।

Show More
दीपेश तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned