scriptMixed response on budget, disappointing not getting relief in income t | बजट पर मिली-जुली प्रतिक्रिया, आयकर स्लैब में राहत नहीं मिलना निराशाजनक | Patrika News

बजट पर मिली-जुली प्रतिक्रिया, आयकर स्लैब में राहत नहीं मिलना निराशाजनक

बढ़ते भारत का बजट, रखा सभी का ध्यान

यह बजट विकास के पथ पर बढ़ते भारत का बजट है। बजट में देश के सभी वर्गों का ध्यान रखा गया है। किसानों के लिए 2.37 लाख करोड़ का प्रावधान किया है। एमएसपी में रिकॉर्ड खरीद करने की भी बात की गई। वहीं युवाओं के लिए 60 लाख रोजगार का प्रावधान किया है। समाज के हर वर्ग का ध्यान इस बजट में रखा गया है। तिलहन के लिए विशेष कार्ययोजना का लाभ किसानों को मिलेगा।

धौलपुर

Published: February 01, 2022 08:22:26 pm

बजट पर मिली-जुली प्रतिक्रिया, आयकर स्लैब में राहत नहीं मिलना निराशाजनक

बढ़ते भारत का बजट, रखा सभी का ध्यान

यह बजट विकास के पथ पर बढ़ते भारत का बजट है। बजट में देश के सभी वर्गों का ध्यान रखा गया है। किसानों के लिए 2.37 लाख करोड़ का प्रावधान किया है। एमएसपी में रिकॉर्ड खरीद करने की भी बात की गई। वहीं युवाओं के लिए 60 लाख रोजगार का प्रावधान किया है। समाज के हर वर्ग का ध्यान इस बजट में रखा गया है। तिलहन के लिए विशेष कार्ययोजना का लाभ किसानों को मिलेगा।
Mixed response on budget, disappointing not getting relief in income tax slab
बजट पर मिली-जुली प्रतिक्रिया, आयकर स्लैब में राहत नहीं मिलना निराशाजनक
- डॉ. मनोज राजोरिया, सांसद

निराशाजनक बजट, किसी वर्ग को राहत नहीं

बजट में गरीब और मध्यमवर्ग के लिए कुछ नहीं है। बाजार को उठाने पर कोई कदम नहीं उठाया गया है। मनरेगा का बजट 25 फीसदी कम कर ग्रामीण अर्थव्यवस्था की कमर तोड़ी गई है। देश में प्रति व्यक्ति आय भी घटकर 1.32 लाख से 1.27 लाख हो गई है। देश में 4.6 करोड़ लोग गरीबी की ओर धकेल दिए गए हैं। कुल मिलाकर निराशाजनक बजट प्रस्तुत किया गया है।
- रोहित बोहरा, विधायक, राजाखेड़ा
देश के विकास को दिखाएगा नई राह
केन्द्रीय बजट देश के विकास को नई राह दिखाएगा। इसमें शहरीकरण, स्वच्छ बिजली, रोजगार के नए अवसरों और डिजिटल करेंसी को बढ़ावा देने की बात कही गई है। यह बजट विजन वाला बजट है और स्पष्ट तौर पर देश की तरक्की को नई दिशा देने पर काम करने में मददगार साबित होगा।
- शोभारानी कुशवाह, विधायक धौलपुर
ध्यान में रखा गया लोगों का हित

केन्द्रीय बजट हर मायने में लोगों के हितों को ध्यान में रख कर बनाया गया है। कोविड के दौरान ऑनलाइन पढ़ाई को देखते स्थानीय भाषाओं में शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए पीएम ई-विद्या कार्यक्रम को बढ़ाकर 200 चैनलों तक किया जाएगा। दो लाख आंगनबाडिय़ों को सशक्त बनाया जाएगा। बजट में किसानों से लेकर हर व्यक्ति का ध्यान रखा गया है। कोई नया टैक्स नहीं लगाया गया है।
- पल्लवी गर्ग गोस्वामी, अध्यक्ष भाजपा महिला मोर्चा, धौलपुर

अधूरी रह गई पुरानी पेंशन की मांग

केंद्रीय बजट से कर्मचारी वर्ग निराश हुआ है। न टैक्स स्लैब में बदलाव किया है, न ही टैक्स छूट के दायरे को बढ़ाया है। कर्मचारियों की पुरानी पेंशन की मांग अधूरी रह गई। एनपीएस में कर्मचारी के 14 फीसदी योगदान पर टैक्स छूट एक झुनझुना है। दो साल तक पुराने आईटी रिटर्न भरने की अनुमति व 200 चैनलों की मदद से ई-एजुकेशन स्वागत योग्य है।
- डॉ. रनजीत मीणा, राष्ट्रीय अध्यक्ष, नेशनल जॉइंट पेंशन एक्शन कमेटी एनजेपीएसी

महंगाई और रोजगार के मोर्चे पर ये बजट फेल रहा है। ये बिल्कुल फुस्स बजट है। इस बजट में मिडिल क्लास को कुछ नहीं मिला है। लोगों को उम्मीद थी, लेकिन किसी को कुछ नहीं मिला। महंगाई से प्रभावित करदाताओं के लिए भी राहत नहीं है। आर्थिक स्तर पर बढ़ती असमानता का भी ध्यान नहीं रखा गया है। छोटे उद्योगों को भी इस बजट से कोई राहत नहीं मिली।
- गिर्राज सिंह मलिंगा, विधायक बाड़ी
केन्द्र सरकार ने सिर्फ अपना घर भरने का बजट प्रस्तुत किया है। आर्थिक सर्वे के अनुसार सरकार की आय 64.9 फीसदी बढ़ी है जबकि, देश में 84 फीसदी परिवारों की आय कम हुई है। वेतनभोगी और मध्यमवर्ग को कोई राहत नहीं दी गई है। मोदी सरकार की नीतियों ने देश के हर वर्ग को बर्बादी के कगार पर खड़ा कर दिया है। किसानों और युवाओं के लिए भी बजट में कुछ नहीं है।
खिलाड़ीलाल बैरवा, विधायक बसेड़ी
लोकलुभावन नहीं है यह बजट
चुनाव के बावजूद यह लोकलुभावन बजट नहीं है। कोविड के बाद बिगड़ी अर्थव्यवस्था को सुधारने का प्रयास किया जा रहा है। किसानों और स्टार्टअप्स के लिए अच्छे प्रावधान कर आत्मनिर्भर भारत की ओर कदम बढ़ाए जा रहे हैं। करदाताओं को कोई राहत नहीं दी गई है। 80सी में भी रियायत बढ़ाई नहीं गई है। वेतनभोगियों और मध्यमवर्ग के लिए खास कुछ बजट में नहीं है।
- नितिन मोदी, कर सलाहकार धौलपुर
युवाओं और बढ़ती बेरोजगारी को देखते बजट को और बेहतर बनाया जा सकता था। टैक्स स्लेब में बदलाव नहीं कर मध्यम वर्ग और वेतनभोगियों को निराश किया गया है। वहीं, दो साल तक पुराने आईटी रिटर्न भरने की अनुमति व 200 चैनलों की मदद से ई-एजुकेशन सराहनीय कदम हैं। बजट में किसानों की बात करना एक अच्छा संकेत है। गरीब व वंचित वर्ग के लिए भी कुछ होना चाहिए था।
- सुबोध गुप्ता, जिला प्रभारी, लुपिन
केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा मंगलवार को संसद में पेश वर्ष 2022-23 बजट से महंगाई, बेरोजगारी और आर्थिक विषमता में बढ़ोतरी होगी। बजट आम जन को निराश करने वाला है। बजट में किसान, मजदूर, महिलाओं एवं मध्यम वर्ग का कोई ध्यान नहीं रखा गया। आयकर की सीमा नहीं बढ़ाए जाने से मध्यम वर्ग व नौकरीपेशा लोगों को निराशा हुई है।
- दुर्गादत्त शास्त्री, पूर्व अध्यक्ष कांग्रेस, धौलपुर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

SpiceJet की एक और फ्लाइट में खराबी, मुंबई में प्लेन की इमरजेंसी लैंडिंग, 17 दिन में तकनीकी खराबी की 7वीं घटनायूपी में प्रशासनिक फेरबदल, 4 IAS और 3 PCS किए गए इधर से उधरउत्तर प्रदेश संयुक्त प्रवेश परीक्षा बीएड परीक्षा-2022: जाने परीक्षा केंद्र के लिए बनाए गए नियमGujarat: एमई, एमफार्म में प्रवेश के लिए आज से शुरू होगा रजिस्ट्रेशनएंकर रोहित रंजन को रायपुर पुलिस नहीं कर पाई गिरफ्तार, अपने ही दो कर्मचारी के खिलाफ जी न्यूज़ ने दर्ज कराई FIRMausam Vibhag alert : मौसम विभाग का यूपी के कई जिलों में 9-12 जुलाई तक भारी बारिश का अलर्टबाप बोला, मेरे बेटे ने दोस्त के साथ मिलकर कर दी अपनी मां की हत्याGanpati Special Train: सेंट्रल रेलवे ने किया बड़ा एलान, मुंबई से चलेगी 74 गणपति महोत्सव स्पेशल ट्रेन, देखें पूरा शेड्यूल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.