Health Tips: जानिए फिजिकल फिट लोगों की सेहत का राज और इनकी खास आदतों के बारे में

Health Tips: संतुलित वजन के किसी व्यक्ति को देखकर अगर आपके मन में यह सवाल आता है कि आप ऐसी छरहरी काया कैसे पा सकती हैं

By: Deovrat Singh

Published: 27 Aug 2021, 12:32 AM IST

Health Tips: संतुलित वजन के किसी व्यक्ति को देखकर अगर आपके मन में यह सवाल आता है कि आप ऐसी छरहरी काया कैसे पा सकती हैं तो निश्चित ही आपको अपनी जीवनशैली में कुछ आसान से बदलाव करने होंगे। इसके लिए आपको भी दुबले लोगों की सेहत का राज जानना होगा...

नियमित एक्सरसाइज
ब्रेकफास्ट से पहले किसी भी तरह की शारीरिक एक्टिविटी के जरिए एक्सरसाइज करें। एक अध्ययन में पाया गया कि ब्रेकफास्ट के बाद वर्जिश करने वालों में वजन बढऩे की संभावना होती है जबकि पहले नाश्ता करने वालों में वजन कम होने की। ऐसा इसलिए कि खाली पेट एक्सरसाइज करने से बॉडी एनर्जी हासिल करने के लिए फैट को बर्न करता है, कार्बोहाइड्रेट पर निर्भर नहीं करता। इसलिए सुबह पहले वर्कआउट करें।

कैलोरी से दूरी
इसके लिए दिलचस्प तरीका अपनाएं जैसे कि अपने टोस्ट को नीचे की तरफ से बटर लगाएं या पटेटो राउंड्स पर नीचे की ओर से नमक लगाएं। ऐसा करके आप वजन कम कर पाएंगी। दरअसल जब आप इस तरह कोई भी चीज खाती हैं तो वह सीधे आपकी जीभ से संपर्क में आती है और आप कम मात्रा का भी ज्यादा मजा ले सकती हैं।

Read More: इन फलों के छिलको में छिपे हैं कई औषधीय गुण, जानें सेहत के लिए कितने गुणकारी

ब्रेकफास्ट में प्रोटीन
जल्दबाजी में हम नाश्ता या तो करते ही नहीं या जो मिल जाता है, वही खा लेते हैं। लेकिन क्या आपको पता है कि इसका सीधा रिश्ता बढ़ते वजन से है। रिसर्च बताती हैं कि ब्रेकफास्ट में कम प्रोटीन लेने वालों की तुलना में 30 ग्राम प्रोटीन लेने वाले लंच में 100 कैलोरीज तक कम लेते हैं। वजह यह है कि ज्यादा प्रोटीन आपको जल्दी भूख नहीं लगने देता और आप ज्यादा खाने से खुद को दूर रख पाती हैं।

कुछ मिनट मेडिटेशन
इसके लिए ध्यान की मुद्रा में बैठकर मंत्रोच्चारण करना जरूरी नहीं है। सुबह उठकर कुछ मिनट अपनी सांस पर ध्यान केंद्रित करके आप अपनी सोच को सकारात्मकता दे सकती हैं, जिससे आप अपना खाना भी समझदारी से चुनने लगती हैं।

Read More: रोजाना 2 चम्मच अलसी का सेवन सेहत के लिए है बेहद फायदेमंद

ब्राउन यूनिवर्सिटी के एक सर्वे में पाया गया कि बिना सोचे-समझे खाना खाने वालों में मोटापे की 34 फीसदी ज्यादा आशंका थी। मेडिटेशन करने वाले अपनी सोच के प्रति जागरूक रहते हैं और नुकसानदायक खाना खाने के बाद आने वाली नेगेटिव सोच को नोटिस करके वे आगे से ऐसा करने से खुद को रोकने में सफल होते हैं।

Deovrat Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned