डायबिटीज, थायरॉइड, हाइपर टेंशन से बचने के लिए करें ये बदलाव

जीवनशैली आधारित बीमारियों से बचने के लिए संतुलित खानपान व स्वस्थ जीवनशैली जरूरी है। देश में हर वर्ष 52% से ज्यादा लोग बीमार हो रहे हैं। नियमित 30 मिनट मॉर्निंग वॉक करें। खानपान में फाइबर, कैल्शियम पर्याप्त मात्रा में लेते रहेें।

By: Ramesh Singh

Published: 29 Jun 2019, 10:15 AM IST

खानपान में अत्यधिक ट्रांस फैट, सैचुरेटेड फैट वाली चीजें लेने व तनाव से हाई कोलेस्ट्रॉल, हाइपरटेंशन, डायबिटीज, थायरॉइड की आशंका बढ़ती है। अल्कोहल व वायरल इंफेक्शन से भी डायबिटीज होती है। आयोडाइज्ड साल्ट की कमी से थायरॉइड की दिक्कत होती है। सामान्यत: 150 माइक्रोग्राम लेनी चाहिए।
सुबह सूर्योदय से पहले जागें
सुबह छह से पहले उठने की आदत डालें। रात में दस बजे तक बिस्तर पर जाएं। दवाओं के साथ परहेज भी करें। नियमित व्यायाम करें। शारीरिक गतिविधि से मेटाबॉलिज्म बढ़ता है। इन बीमारियों में फायदा मिलता है।

इनफर्टिलिटी : वर्किंग कपल में दिक्कत बढ़ी
हाल ही एक रिसर्च में पाया गया कि जो लोग पूरी नींद नहीं लेते हैं, उनमें स्पर्म काउंट कम होता है। वर्किंग कपल में तनाव व प्रदूषण से भी फर्टिलिटी कम होती है। पुरुषों में टाइट अंडरगारमेंट, स्मोकिंग, अल्कोहल कारण है। खुश रखें। सप्ताह में एक दिन आउटिंग पर जाएं। चाइनीज व जंक फूड में पाया जाने वाला मोनो सोडियम ग्लूटामेट स्पर्म काउंट घटाता है।
जागरूक रहें
महिलाओं में हाइपो थायरॉइड,पीसीओडी व पुरुषों में मम्स इन्फेक्शन से स्पर्म बनने में दिक्कत होती है। शीघ्रपतन भी प्रमुख कारण है। ज्यादा चिकनाई वाली चीजें न लें।

एक्सपर्ट : डॉ. एम. वली, सीनियर फि जिशियन, सर गंगाराम अस्पताल, नई दिल्ली
एक्सपर्ट : डॉ. लीला व्यास, प्रसूति एवं स्त्री रोग विशेषज्ञ, जयपुर

Ramesh Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned