Vitamin D: विटामिन डी की कमी से जल्द आता है बुढ़ापा, कमजाेर हाेती हैं हड्डियां

Vitamin D: विटामिन डी की कमी से जल्द आता है बुढ़ापा, कमजाेर हाेती हैं हड्डियां
Vitamin D

Yuvraj Singh Jadon | Updated: 10 Sep 2019, 12:12:05 PM (IST) डाइट-फिटनेस

Vitamin D: हर दिन विटामिन डी का सेवन हमारे शरीर काे सुचारू व स्वस्थ रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, सूर्य का प्रकाश विटामिन डी का सबसे अच्छा स्रोत है

Vitamin D: हर दिन विटामिन डी का सेवन हमारे शरीर काे सुचारू व स्वस्थ रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। सूर्य का प्रकाश विटामिन डी ( Vitamin D ) का सबसे अच्छा स्रोत है। सूर्य के प्रकाश ( Sunlight ) के संपर्क में आने पर हमारा शरीर विटामिन डी का उत्पादन करता है। सूरज की रोशनी के अलावा, विटामिन डी के कई खाद्य स्रोत ( Vitamin D sources ) हैं। विटामिन डी की कमी से शरीर का ठीक से काम करना मुश्किल हाे जाता है। विटामिन डी आपके आहार में उपभोग किए गए कैल्शियम के अवशोषण (vitamin d calcium absorption ) में मदद करता है। इसलिए, यह स्वस्थ हड्डियों और दांतों के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है। यह प्रतिरक्षा प्रणाली ( immune system ) और तंत्रिका तंत्र ( nervous system ) के कामकाज का सुचारू रखता है जो आपको बीमारियों से लड़ने में मदद करता है।। यह अवसाद के लक्षणों से लड़ने में भी मदद कर सकता है।

विटामिन डी की कमी ( Vitamin D Deficiency ) काफी आम है लेकिन ज्यादातर लोगों को इसकी जानकारी नहीं है। विटामिन डी की कमी के कई लक्षण हो सकते हैं। विटामिन डी की कमी आपकी पूरी सेहत काे ही नहीं बल्कि आपकी त्वचा को भी प्रभावित कर सकती है। विटामिन डी की कमी के कुछ संकेत और लक्षण ( signs and symptoms of vitamin D deficiency ) आपकी त्वचा पर भी दिखाई देते हैं।

विटामिन डी की कमी के त्वचा पर लक्षण ( vitamin D deficiency symptoms on skin )

त्वचा पर चकत्ते ( vitamin D deficiency Rashes on Skin )
विटामिन डी की कमी ( vitamin D deficiency in hindi ) के कारण आपको लाल, सूखी और खुजली वाली त्वचा का अनुभव हो सकता है। विटामिन डी का सेवन आपको त्वचा की ऐसी समस्याओं के इलाज में मदद कर सकता है। यह त्वचा पर चकत्ते भी कम कर सकता है। विटामिन डी एक्जिमा के उपचार के लिए भी फायदेमंद है । आमतौर पर देखा गया है कि एक्जिमा वाले लोगों में विटामिन डी का स्तर कम होता है।

मुंहासे ( vitamin d deficiency Acne )
कम विटामिन डी का सेवन लगातार ब्रेकआउट में योगदान कर सकता है। विटामिन डी के एंटीऑक्सीडेंट गुण ( vitamin d antioxidant ) भी मुँहासे को रोकने में मदद करते हैं। विटामिन डी के निम्न स्तर के कारण हार्मोन में परिवर्तन भी मुँहासे के विकास को जन्म दे सकता है।

त्वचा की उम्र बढ़ना ( vitamin d deficiency aging skin)
विटामिन डी का निम्न स्तर ( vitamin D deficiency ) आपकी त्वचा की उम्र को तेजी से बढ़ा सकता है। आप उम्र बढ़ने के शुरुआती लक्षणों को देख सकते हैं। विटामिन डी की कमी से शरीर समय से पहले ही बूढ़ा हाेने लगता है। उम्र बढ़ने से आपके शरीर में विटामिन डी के उत्पादन की क्षमता पर भी असर पड़ता है।

विटामिन डी की कमी के कुछ अन्य लक्षण ( other symptoms of vitamin D deficiency ) -
- हड्डियों का खराब होना
- घावों का धीमा उपचार
- लगातार थकान और थकान
- बाल झड़ना
- बहुत बार बीमार होना
- डिप्रेशन
- मांसपेशियों में दर्द

विटामिन डी के स्रोत ( Vitamin D Source )
जैसा कि पहले उल्लेख किया गया है कि सूरज की रोशनी विटामिन डी का सबसे अच्छा स्रोत है। विटामिन डी के कुछ सबसे अच्छे खाद्य स्रोत हैं ( vitamin d sources in hindi ) - संतरे का रस, दलिया, अनाज, सोया दूध, गाय का दूध, सामन, मशरूम और अंडे की जर्दी।इसलिए विटामिन डी की पूर्ति के लिए इन्हें अपनी डाइट में शामिल करने के साथ नियमित रूप से सूरज की राेशनी लेना शुरू करें।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned