scriptHealth News: Painkillers likely to cause stomach ulcers | Health News: दर्द निवारक दवाओं का बिना चिकित्सक की सलाह के न करें सेवन, हो सकती है अल्सर की समस्या | Patrika News

Health News: दर्द निवारक दवाओं का बिना चिकित्सक की सलाह के न करें सेवन, हो सकती है अल्सर की समस्या

Health News: शोधार्थियों के अनुसार सूजन व दर्द दूूर करने वाली दवाएं दर्द की समस्या में काफी कम राहत देती हैं।

जयपुर

Published: August 12, 2021 11:07:22 pm

Health News: कुछ दर्द निवारक दवाएं एक से ज्यादा बार लेने से इनका प्रभाव कम होने के साथ साइडइफैक्ट ज्यादा होता है। जॉर्ज इंस्टीट्यूट फॉर ग्लोबल हैल्थ, ऑस्ट्रेलिया में हुए शोध के मुताबिक कुछ सामान्य पेनकिलर जैसे आईबू्रप्रोफेन लेने से पीठदर्द में कम राहत मिलती है और पेट में अल्सर व ब्लीडिंग का खतरा बढ़ाती है। शोधार्थियों के अनुसार सूजन व दर्द दूूर करने वाली दवाएं दर्द की समस्या में काफी कम राहत देती हैं। शोध के दौरान अधिक दवा लेने वालेे मरीजों में पेट से जुड़ी दिक्कतें अधिक सामने आईं। वैज्ञानिकों ने एक्सरसाइज कर दर्द दूर करना ही बेहतर माना है।

dard_nivarak.png

यह भी पढ़ें

खाली पेट पानी पीने के है चेहरे पर आती है चमक, जानिए और भी फायदे

ब्लड टैस्ट बताता गले का कैंसर
अमरीका की मिशिगन यूनिवर्सिटी के प्रो. मैथ्यू ई.स्पेक्टर का दावा है कि ब्लड सीरम टैस्ट से गले के कैंसर का पता लगाया जा सकता है। यह टैस्ट ह्यूमन पैपिलोमा वायरस के दो एंटीबॉडीज ई-6 व ई-7 के लिए होता है। एंटीबॉडीज ई-7 का स्तर बढ़ा मिलना गले के कैंसर की आशंका जताता है। यह कैंसर गले,टॉन्सिल व जीभ के पिछले हिस्से में होता है।

यह भी पढ़ें

कब्ज में राहत देता है बील का रस और इम्युनिटी बढ़ाता है शतावरी

विटामिन-ए की कमी,शिशु में अल्जाइमर
गर्भावस्था के दौरान मां में विटामिन-ए की कमी से नवजात में अल्जाइमर रोग की आशंका बढ़ जाती है। यूनिवर्सिटी ऑफ ब्रिटिश कोलंबिया में हुए शोध के मुताबिक गर्भावस्था में बच्चे के मस्तिष्क के विकास के दौरान विटामिन-ए खास भूमिका निभाता है। विटामिन-ए खास तरह के प्रोटीन के उत्पादन पर रोक लगाता है जो न्यूरॉन को नुकसान पहुंचाता है। शोधकर्ताओं के अनुसार विटामिन-ए की कमी से शिशु में कुछ भी सीखने और याददाश्त में कमी आती है। गर्भावस्था में इसकी कमी पूरी करने के लिए डाइट में गाजर, डेयरी प्रोडक्ट, अंडा, ब्रोकली आदि ले सकती हैं।

यह भी पढ़ें

स्वीमिंग के भी हैं बेहद फायदे, यहां पढ़ें

अनिद्रा से बढ़ता अस्थमा का खतरा
अनिद्रा से परेशान लोगों में अस्थमा का खतरा तीन गुना अधिक रहता है। नॉर्वे यूनिवर्सिटी ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी में २० से ६५ वर्ष की उम्र के १७ हजार से अधिक लोगों पर हुए शोध के मुताबिक लगातार कई रातों तक नींद प्रभावित होने से सांस की नली पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। जो अस्थमा का कारण बनता है। रोजाना ६ घंटे की नींद जरूरी है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

सीएम Yogi का बड़ा ऐलान, हर परिवार के एक सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरीचंडीमंदिर वेस्टर्न कमांड लाए गए श्योक नदी हादसे में बचे 19 सैनिकआय से अधिक संपत्ति मामले में हरियाणा के पूर्व CM ओमप्रकाश चौटाला को 4 साल की जेल, 50 लाख रुपए जुर्माना31 मई को सत्ता के 8 साल पूरा होने पर पीएम मोदी शिमला में करेंगे रोड शो, किसानों को करेंगे संबोधितराहुल गांधी ने बीजेपी पर साधा निशाना, कहा - 'नेहरू ने लोकतंत्र की जड़ों को किया मजबूत, 8 वर्षों में भाजपा ने किया कमजोर'Renault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चIPL 2022, RR vs RCB Qualifier 2: राजस्थान ने बैंगलोर को 7 विकेट से हराया, दूसरी बार IPL फाइनल में बनाई जगहपूर्व विधायक पीसी जार्ज को बड़ी राहत, हेट स्पीच के मामले में केरल हाईकोर्ट ने इस शर्त पर दी जमानत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.