Health News in Hindi: कोविड से रिकवर होने के बाद जरूर बरतें सावधानी, बच्चों में भी देखी जा रही समस्याएं

Post Covid Problems: कोविड से रिकवर होने के बाद व्यक्ति लापरवाही बरतने लगता है। पोस्ट कोविड समस्याएं सिर्फ व्यस्कों में ही नहीं, बल्कि बच्चों में भी बहुत देखने को मिल रही है। पोस्ट कोविड में बच्चों को हार्ट, लिवर, किडनी, लंग्स, ब्रेन फीवर, पेट में दर्द से जुड़ी समस्याएं हो रही हैं।

By: Deovrat Singh

Published: 02 Jun 2021, 11:36 AM IST

Post Covid Problems: कोविड से रिकवर होने के बाद व्यक्ति लापरवाही बरतने लगता है। पोस्ट कोविड समस्याएं सिर्फ व्यस्कों में ही नहीं, बल्कि बच्चों में भी बहुत देखने को मिल रही है। पोस्ट कोविड में बच्चों को हार्ट, लिवर, किडनी, लंग्स, ब्रेन फीवर, पेट में दर्द से जुड़ी समस्याएं हो रही हैं। इसमें व्यस्कों के मुकाबले एडवांस किस्म के इलाज की भी जरूरत पड़ रही है। ऐसी समस्याएं बच्चों में कोरोना से रिकवर होने के करीब 3 से 4 हफ्तों के बाद देखने को मिल रही हैं। ऐसे में रिकवर होने के करीब एक महीने तक बिलकुल भी लापरवाही न बरतें।

Read More: खानपान में भूलकर भी न करें इन 5 चीजों का अत्यधिक सेवन, फेफड़ों पर पड़ सकता है बुरा असर

किस उम्र के बच्चों में आ रही हैं समस्याएं
डॉक्टर्स का कहना हैं कि पोस्ट कोविड में बहुत से बच्चों को हार्ट, लिवर, किडनी पेट दर्द और अन्य भी समस्याएं हो रही हैं। बच्चों को बुखार आने से हार्ट, लिवर, किडनी, लंग्स, ब्रेन सहित कई अंग प्रभावित होते हैं। इसे एमआईएस-सी कहा जाता है। यह समस्याएं 5 से 15 वर्ष की आयु तक के बच्चों में देखने को मिल रही है। वैसे तो ऐसी समस्या एक हजार में से एक बच्चे को होती है, लेकिन जिसे भी होती है, उसे आईसीयू की ही जरूरत पड़ती है।

Read More: गर्मी के दिनों में हाई ब्लड प्रेशर कंट्रोल करने के लिए इन फलों का जरूर करें सेवन, यहां पढ़ें

ऐसे करें पहचान
डॉक्टर्स का कहना है कि 50 प्रतिशत बच्चों में हार्ट और ब्लड प्रेशर से संबंधित परेशानी होती हैं। कुछ बच्चों के लंग्स तो कुछ का ब्रेन प्रभावित होता है। लेकिन घरवाले समय रहते हॉस्पिटल पहुँच जाएं तो आसानी से ठीक हो सकते हैं। कोरोना से रिकवर हुए बच्चों का कुछ हफ़्तों के लिए ख़ास ध्यान रखें। जिन बच्चों में यह सिंड्रोम होता है, उन्हें व्यस्कों के मुकाबले एडवांस ट्रीटमेंट की जरूरत होती है। आईसीयू में बच्चों पर खासकर निगरानी रखनी पड़ती है। उनके ब्लड प्रेशर से लेकर दिल की धड़कनों तक पर नजर रखी जाती है क्योंकि बच्चे पूरी तरह से विकसित नहीं हुए होते।

Read More: नाश्ते में इन 5 चीजों के सेवन में जरूर बरतें सावधानी, नहीं तो उठानी पड़ सकती है बहुत बड़ी हानि

पोस्ट कोविड में काफी बच्चों को हार्ट, लिवर, किडनी और शरीर के अन्य हिस्सों से जुड़ी समस्याएं हो रही हैं। बच्चों को बुखार आता है। बुखार की वजह से हार्ट, लिवर, किडनी, लंग्स, ब्रेन समेत कई अंग प्रभावित होते हैं। इसे मल्टी सिस्टम इंफ्लामेट्री सिंड्रोम (एमआईएस-सी) कहा जाता है। यह ज्यादातर 5 से 15 साल तक के बच्चों में देखा जा रहा है। वैसे तो यह एक हजार में से एक बच्चे को होता है, लेकिन जिसे होता है, उसे आईसीयू की जरूरत पड़ती है। अच्छी बात यह है कि यदि समय पर इसकी पहचान कर ली जाए, तो बच्चे ठीक हो सकते हैं।

Web Title: Post Covid Problems: These Symptoms in the Months After COVID Recovery

Deovrat Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned