गीतकार नहीं, गायक बनना चाहते थे आनंद बख्शी

By: जमील खान

Published: 29 Mar 2018, 04:33 PM IST

दस का दम
1/9

अपने सदाबहार गीतों से श्रोताओं को दीवाना बनाने वाले बॉलीवुड के मशहूर गीतकार आनंद बख्शी ने लगभग चार दशक तक श्रोताओं को मंत्रमुग्ध किया, लेकिन कम लोगों को पता होगा कि वह गीतकार नहीं, बल्कि पाश्र्वगायक बनना चाहते थे। पाकिस्तान के रावलपिंडी शहर में 21 जुलाई, 1930 को जन्मे आनंद बख्शी को उनके रिश्तेदार प्यार से नंद या नंदू कहकर पुकारते थे। 'बख्शी' उनके परिवार का उपनाम था, जबकि उनके परिजनों ने उनका नाम आनंद प्रकाश रखा था। लेकिन, फिल्मी दुनिया में आने के बाद आनंद बख्शी से नाम से उनकी पहचान बनी।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned