Coronavirus Impact : भारत में Refrigeretors से लेकर Smartphones तक पर पड़ी महंगाई की मार, यह सामान हुए हैं सस्ते

  • पेट्रोल-डीजल से लेकर हवाई यात्रा और चाय की कीमतों में भारी गिरावट
  • सोना-चांदी से लेकर मास्क, सैनिटाइजर्स, दवाएं और मोबाइल फोन महंगे

By: Saurabh Sharma

Updated: 19 Mar 2020, 12:17 PM IST

नई दिल्ली। पूरी दुनिया में कोरोना वायरस का असर ( coronavirus Impact ) देखने को मिल रहा है। भारत भी इसकी चपेट में आ चुका है। जिसकी वजह से भारत में इंपोर्ट और एक्सपोर्ट एवं सप्लाई चेन ठप हो गई हैं। जिसका असर कई सामानों की कीमतों पर भी देखने को मिल रहा है। कोरोना वायरस की वजह से जहां सोने के दाम में तेजी देखने को मिली। वहीं दूसरी ओर दवाईयों और महंगाई फोन ( Mobile Phone ) में महंगाई देखने को मिली। ऐसा नहीं सिर्फ सामान महंगा ही हुआ है। कुछ सामान ऐसे भी रहे जिनकी कीमतों में गिरावट देखने को मिली। जिसमें पेट्रोल और डीजल ( Petrol And Diesel Price ) के अलावा, चाय, मीट, सी फूड और बाकी सामान भी है। आइए आपको भी बताते हैं कि आखिर कोरोना वायरस के भयावह माहौल में क्या सामान सस्ता हुआ और कौन सामान महंगा...

वो सामान जो हुए सस्ते
1. Petrol And Diesel के दाम में गिरावट

coronavirus_in_india.jpg

जब से कोरोना वायरस का कहर दुनिया पर टूटा है, कीमतों की गिरावट का असर पेट्रोल और डीजल के दाम में देखने को मिला है। 11 जनवरी के बाद से अब तक पेट्रोल और डीजल के दाम में 7 रुपए प्रति लीटर की गिरावट देखने को मिल चुकी है। इसका कारण है कि इंटरनेशनल मार्केट में क्रूड ऑयल के दाम में भारी गिरावट आई है। ब्रेंट क्रूड ऑयल 71 डॉलर से 26 डॉलर प्रति बैरल पर आ गया है। जबकि डब्ल्यूटीआई 24 डॉलर प्रति बैरल के आसपास कारोबार कर रहा है। जानकारों की मानें तो कोरोना वायरस की वजह से चीन और भारत की ओर से डिमांड काफी कम हो गई है। जिसकी वजह से पेट्रोल और डीजल के दाम में कटौती देखने को मिली है।

2. Meat And Seafood की डिमांड भी हुई कम

meat_and_seafood.jpg

कोरोना वायरस के डर से देश में कई मांसाहारी लोगों ने मीट और सी फूड खाना बंद कर दिया है। डिमांड कम होने से कीमतों में भी तेजी से गिरावट देखने को मिली है। जबकि एफएसएसएआई के अनुसार कोराना वायरस किसी भी तरह के फूड से नहीं फैलता है। उसके बाद भी लोगों ने कोरोना वायरस के डर से नॉनवेज फूड खाना छोड़ दिया है। आंकड़ों की मानें तो चिकन का रिटेल प्राइस 120 रुपए से 150 रुपए प्रति किलो पर आ गया है जो 200 रुपए प्रति किलो पर था। वहीं थोक कीमतों में 70 फीसदी की गिरावट देखने को मिल चुकी है।

3. चाय की कीमतों में भी गिरावट

indian_tea.jpg

यह बात किसी से छिपी नहीं है कि भारत चाय का एक बड़ा निर्यातक देश है। चीन और ईरान और बाकी देशों में कोरोना वायरस का असर बढ़ जाने की वजह से चाय का आयात करना कर दिया है। भारत का निर्यात कम होने के कारण देश में चाय की भरमार हो गई है। डिमांड कम और सप्लाई ज्यादा होने की वजह से कीमतों में काफी गिरावट देखने को मिली है। आंकड़ों के अनुसार चार की कीमतों में 40 फीसदी की गिरावट देखने को मिली है। जिसकी वजह से दाम 200 रुपए प्रति किलो से 120 से 130 रुपए प्रति किलो पर आ गए हैं।

4. Air Fare भी हुआ सस्ता

air_fare.jpeg

भले ही दुनिया की सभी सरकारों ने देश से बाहर और अंदर किसी भी तरह की आवाजाही करने से इनकार कर दिया है। इसमें भारत भी शामिल है। फिर भी जो लोग जाना चाह रहे हैं, उन्हें अब सस्ते टिकट मिल रहे हैं। जानकारों की मानें तो कोरोना वायरस इंफेक्टिड देशों में जाने के लिए फ्रेश बुकिंग कराने पर 30 फीसदी तक का डिस्काउंट दिया जा रहा है। यह डिस्काउंट कब तक रहेगा। इसके बारे में कुछ भी नहीं कीा जा सकता, लेकिन जब तक असर देखने को मिलेगा, तब तक एयर फेयर में इस तरह की छूट जारी रह सकती है। वहीं डॉमेस्टिक फ्लाइट्स की टिकटों में भी 20 से 25 फीसदी तक का डिस्काउंट देखने को मिल रहा है।

वो सामान जो हुए महंगे
1. Gold And Silver में देखने को मिली तेजी

gold_and_silver_price.jpg

कोरोना वायरस की वजह से जिस चीज की कीमत में सबसे ज्यादा तेजी देखने को मिली वो सोना है। भले कुछ दिनों से सोने के दाम में गिरावट हो, लेकिन वो भारी खरीदारी के बाद मुनाफावसूली देखने को मिल रही है। 1 जनवरी के बाद से सोने के दाम में 10 से 12 फीसदी की तेजी देखने को मिली है। केडिया एडवाइजरी के डायरेक्टर अजय केडिया के अनुसार कोरोना वायरस की वजह से इक्विटी मार्केट पूरी तरह से धराशायी हो रहे हैं। ऐसे में निवेशकों का रुझान सोना और चांदी की ओर बढ़ा है। जिसकी वजह से कीमतों में तेजी देखने को मिली है।

2. Mask और Sanitisers की कीमतों में तेजी

masks_and_sanitizers.png

कोरोना वायरस भारत में पदार्पण करने के बाद सबसे पहले दुकानों और मेडिकल स्टोर्स से मास्क और सेनिटाइजर्स गायब हुए। जिसके बाद उनकी कालाबाजारी भी देखने को मिली। कीमतों की बात करें तो मास्क और सेनिटाइजर्स की कीमतों में 300 फीसदी की तेजी देखने को मिली। नॉमर्ल सर्जिकल मास्क की कीमत 10 रुपए से बढ़कर 40 रुपए हो गई। वहीं एन-95 मास्क जो 150 रुपए का था वो 500 रुपए का हो गया। वहीं बात सेनीटाइजर्स की करें तो कुछ सेलर्स 30 एमएल सेनिटाइजर्स की बोतल को 500 रुपए से ज्यादा की कीमत में भी बेच रहे हैं।

3. दवा की कीमतों में हुआ इजाफा

medicine.jpeg

कोरोना वायरस की वजह से दवा कीमतों में इजाफा देखने को मिला। इसका कारण है चीन से दवाओं को बनाने के लिए आने वाला रॉ मटीरियल रुकना। जिसकी वजह से दवा की कीमतों में 40 फीसदी की तेजी देखने को मिली। क्रिसिल की रिपोर्ट के अनुसार भारत चीन से 69 फीसदी दवाओं का रॉ मटीरियल इंपोर्ट करता है। इंपोर्ट ना होने के कारण रॉ मटीरियल की कीमतों में 59 फीसदी की तेजी देखने को मिली है।

4. Mobile Phones भी हुए महंगे

mobile-phones.jpg

चीन में कोरोना वायरस की वजह से सप्लाई चेन पूरी तरह से ठप होने के कारण भारत में मोबाइल प्रेमियों को बड़ा झटका लगा है। वास्तव में कई कंपनिया चीन की ही हैं। कोरोना वायरस की वजह से चीन में मैन्युफैक्चरिंग बंद हुई और सामान कम पड़ गया। जिसकी वजह से कई मोबाइल कंपनियों को अपने फोन की कीमतों में इजाफा करना पड़ा। श्याओमी ने अपने नोट 8 की कीमत में 500 रुपए का इजाफा कया है। वहीं कुछ और कंपनियों के मोबाइल फोन की कीमतों में भी तेजी देखने को मिली है।

5. Air Conditioners से लेकर Refrigeretors तक सब महंगे

air_conditionors_and_refrigeretors.jpg

कोरोना वायरस भारत में ऐसे समय में फैला है जब देश में कंज्यूमर ड्यरेबल्स सामानों की डिमांड सबसे ज्यादा होती है। जिसमें एयर कंडीशनर और रेफ्रीजेरेटर शामिल है। जिनकी कीमतों में 5 फीसदी की तेजी आ चुकी है। क्रिसिल की रिपोर्ट के अनुसार भारत का कंज्यूमर ड्यूरेबल सेक्टर चीन से आने वाले सामान पर काफी डिपेंड करता है, लेकिन कोरोना वायरस के कारण चीन की ओर से सप्लाई पूरी तरह से बंद है।

coronavirus Coronavirus Impact
Show More
Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned