देश की पहली पूर्णकालिक महिला वित्त मंत्री बनीं निर्मला सीतारमण, जानिए JNU से लेकर नॉर्थ ब्लॉक तक का सफर

देश की पहली पूर्णकालिक महिला वित्त मंत्री बनीं निर्मला सीतारमण, जानिए JNU से लेकर नॉर्थ ब्लॉक तक का सफर

Ashutosh Kumar Verma | Updated: 31 May 2019, 03:36:15 PM (IST) अर्थव्‍यवस्‍था

  • एनडीए की पहली पारी में 2017 से लेकर 2019 तक रह चुकी हैं रक्षा मंत्री।
  • वित्त राज्य मंत्री, कॉरपोरेट मंत्री और राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) और वाणिज्य मंत्री का पद भी संभाल चुकी हैं।
  • जब अटल बिहारी वाजपेयी देश के प्रधानमंत्री तक निर्मला सीतारमण राष्ट्रीय महिला आयोग की सदस्य भी रहीं।

नई दिल्ली। दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र में जनता ने भारतीय जनता पार्टी ( BJP ) को प्रचंड जनादेश दे दिया है। चुनावी नतीजों के ठीक 7 दिन बाद नरेंद्र मोदी ( Narendra Modi ) समेत कुल 58 मंत्रियों को राष्ट्रपति भवन के फोरकोर्ट में देश-विदेश के करीब 8 हजार मेहमानों के बीच भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने इन मंत्रियों के शपथ दिलाया। शपथ में सबसे चौंकाने वाले नामों में विदेश सचिव एस जयशंकर और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के रुप में देखने केा मिला। शपथ ग्रहण के अगले दिन ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मंत्रिमंडल को अंतिम रूप दे दिया गया है। एनडीए सरकार के पिछले कार्यकाल में 2017 से रक्षा मंत्रालय का कार्यभार संभाल रही निर्मला सीतारमण को एनडीए 2.0 में वित्त मंत्रालय का कार्यभार सौंपा गया है।

यह भी पढ़ें - ILFS केस में SFIO ने दाखिल किया पहला चार्जशीट, ऑडिटर्स समेत पूर्व निदेशकों पर लगे गंभीर आरोप

पहली पूर्णकालिक महिला वित्त मंत्री

मोदी मंत्रिमंडल की घोषणा किए जाने से पहले कयास लगाए जा रहे थे कि अमित शाह को वित्त मंत्री के पद पर बिठाया जा रहा था। लेकिन, पॉलिटिकल पंडितों और जानकारों को चौंकाते हुए पीएम मोदी ने वित्त मंत्री जैसे अहम पद के लिए निर्मला सीतारमण ( Nirmala Sitharaman ) पर अपना भरोसा जताया है। इसके साथ ही देश को पहली पूर्णकालिक महिला वित्त मंत्री भी मिल गया है। हालांकि, इसके पहले पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने भी 1970-1971 के बीच वित्त मंत्रालय का कार्यभार संभाला था। इंदिरा गांधी ने यह पद प्रधानमंत्री रहते हुए अतिरिक्त कार्यभार के तौर पर संभाला था।

Nirmala Sitharaman

सरकार में इन अहम पदों पर निभा चुकी हैं जिम्मेदारी

18 अगस्त 1959 को तमिलनाडु के मदुराई में जन्मीं निर्मला सीतारमण भारतीय जनता पार्टी की उन महिला नेताओं में से हैं, जिनका कद पार्टी में दिन-प्रतिदिन बढ़त गया। देश की पहली महिला वित्त मंत्री बनने से पहले निर्मला सीतारमण 2017 से 2019 तक रक्षा मंत्री रहीं। इसके पहले वित्त राज्य मंत्री, कॉरपोरेट मंत्री और राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) और वाणिज्य मंत्री का पद संभाल चुकी हैं। साल 2016 से ही वो राज्य सभा की भी सदस्य रहीं थी।

यह भी पढ़ें - नई वित्त मंत्री के सामने हैं ये कड़ी चुनौतियां, जानिए कैसे देश की अर्थव्यवस्था को पार लगाएंगी निर्माला सीतारमण

2006 में बीजेपी में शामिल हुईं

साल 2003 के दौरान, जब अटल बिहारी वाजपेयी देश के प्रधानमंत्री तक निर्मला सीतारमण राष्ट्रीय महिला आयोग की सदस्य भी रहीं। इस पद पर वो साल 2003 से 2005 तक रहीं। इसके बाद 2006 में उन्होंने भारतीय जनता पार्टी का दामन थामा, जब नितिन गडकरी पार्टी के अध्यक्ष थे, तब उन्हें पार्टी का राष्ट्रीय प्रवक्ता भी चुना गया।

Nirmala Sitharaman

जेएनयू से भी की पढ़ाई

निर्मला सीतारमण ने तमिलनाडु के तिरूचिरापल्ली के सीतालक्ष्मी रामास्वामी कॉलेज से ग्रैजुएट हैं। साल 1984 में उन्होंने दिल्ली में जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय से इंटरनेशनल स्टडीज में एम फिल भी किया है। मास्टर्स की पढ़ाई करते हुए ही वो डॉ पराकला प्रभाकर से मिलीं जो कि तेलुगु ब्राह्मण हैं। साल 1986 में उन्होंने दोनों ने शादी की। इसके बाद दोनों लंदन में रहने लगे। इस दौरान वो बीबीसी वल्र्ड में भी छोटे समय के लिए काम कीं। साल 1991 में वो भारत वापस लौट गईं।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned