कंगाल पाकिस्तान में रहना भी हुआ मुहाल, किराये से लेकर बेरोजगारी तक में भारी इजाफा

कंगाल पाकिस्तान में रहना भी हुआ मुहाल, किराये से लेकर बेरोजगारी तक में भारी इजाफा

Ashutosh Kumar Verma | Publish: Aug, 16 2019 03:10:39 PM (IST) | Updated: Aug, 16 2019 03:42:03 PM (IST) अर्थव्‍यवस्‍था

  • पिछले साल के मुकाबले दोगुना हुआ मकान किराया
  • बेंचमार्क ब्याज दर 12.25 फीसदी से भी अधिक
  • महंगाई बढऩे की वजह से गरीबी रेखा के नीचे रहने वाले लोगों की संख्या 40 लाख के पार

नई दिल्ली। आर्थिक तंगहाली से जूझ रहे पड़ोसी देश पाकिस्तान की हालत लगातार बिगड़ रही है। अब भारत के साथ कारोबारी रिश्ते तोडऩे के बाद पाक की आर्थिक स्थिति को और तगड़ा झटका लगा है। पहले ही खाने की महंगाई पाकिस्तानी लोगों के लिए मुसीबत का सबब बन चुकी थी, अब वहां रहना भी लोगों के लिए भारी पड़ रहा है। दरअसल, इन दिनों पाकिस्तान में प्रॉपर्टी की दरों में भारी इजाफा देखने को मिल रहा है।

प्रॉपर्टी ही नहीं, बल्कि वहां रेंटल प्रॉपर्टी की कीमतें भी तेजी से बढ़ रही हैं। एक हालिया रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तानी पॉश इलाकों में एक महीने का रेंट 57 हजार रुपये के भी पार जा चुका है। पिछले साल की तुलना में यह 27 हजार रुपये महंगा हो चुका है।

यह भी पढ़ें - देश के 5 करोड़ किसनों को स्वतंत्रता दिवस पर तोहफा, IFFCO ने 50 रुपये घटाया खाद का दाम

कॉस्ट ऑफ लीविंग में भी भारी इजाफा

जमीनडॉटकॉम की एक रिपोर्ट के मुताबिक, इस्लामाबाद के रिहाइशी इलाकों में रेंटल प्रॉपर्टी खरीदना सबसे मुश्किल हो गया है। पहले ही इस इलाके में रेंटल प्रॉपर्टी आसमान छू रहे थे, अब इसमें दोगुना तेजी देखने को मिल रही है।

आलम यह है कि यहां छोटे इलाकों में भी रेंटल प्रॉपर्टी की कीमत 18 हजार से लेकर 24 हजार रुपये हो गई है। पाकिस्तानी लोगों को परेशान करने वाली बात यह है कि न केवल किराये में ही बढ़ोतरी हुई है, बल्कि यहां कॉस्ट ऑफ लीविंग में भारी इजाफा हुआ है।

रिपोर्ट के मुताबिक, रेंट बढऩे के बाद इन इलाकों में अन्य यूटिलीट बिल्स में भी तेजी देखने को मिल रही है। पाकिस्तान में पॉश इलाकों में 900 स्क्वायर फीट का फर्नीश्ड अपार्टमेंट का किराया 57,729 रुपये है।

वहीं, नॉन फर्नीश्ड इलाकों में प्रॉपर्टी का किराया 39,105 रुपये के करीब है। यहां पहले ही खाद्य सामग्री समेत ईंधन की दरों में तेजी देखने को मिली है। हालत तो यह है कि एक माह के लिए 8 एमबीपीएस स्पीड वाले इंटरनेट के लिए लोगों को 2,507 रुपये खर्च करने पड़ रहे।

यह भी पढ़ें - खादी को 'मेक इन इंडिया' से मिला बूस्ट, कमाई के मामले में हिंदुस्तान यूनीलीवर को भी छोड़ा पीछे

तेजी से बढ़ रही बेरोजगारी

हाल ही में पाकिस्तान का केंद्रीय बैंक, स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान ने बेंचमार्क ब्याज दरों को बढ़ाकर 12.25 फीसदी कर दिया है। बैंक ने अपने बयान में कहा कि महंगाई की ऊंची दर और रुपये में भारी गिरावट को देखते हुए यह बढ़त जरूरी है। पाकिस्तानी सांख्यिकी ब्यूरो की एक हालिया रिपोर्ट के मुताबिक, महंगाई बढऩे की वजह से गरीबी रेखा के नीचे रहने वाले लोगों की संख्या 40 लाख के पार जा चुकी है। कहा जा रहा है पाकिस्तान की आर्थिक स्थिति ऐसी ही रही तो इस साल 10 लाख लोग बेरोजगार हो सकते हैं।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned