आम लोगों पर महंगाई की मार, मार्च में 5.52 फीसदी हुई खुदरा महंगाई दर, खाद्य पदार्थों के बढ़े दाम

मार्च के महीने में रिटेल इंफ्लेशन में इजाफा देखने को मिला है। खाद्य पदार्थों की कीमत में इजाफा होने के कारण रिटेल इंफ्लेशन 5.52 फीसदी पर आ गया है।

By: Saurabh Sharma

Updated: 13 Apr 2021, 07:49 AM IST

नई दिल्ली। कोरोना वायरस में लगातार इजाफा देखने को मिल रहा है। साथ ही आम लोगों की मुश्किलों में इजाफा करने के लिए महंगाई के आंकड़ें भी सामने आ गए हैं। सरकार की ओर से खुदरा महंगाई आंकड़ें आम लोगों को परेशान कर सकते हैं। आंकड़ों के अनुसार देश में खुदरा महंगाई दर 5.50 फीसदी से ज्यादा हो गई है। आने वाले दिनों में इसके और भी बढऩे के आसार हैं।

खाद्य वस्तुओं में इजाफा होने से बड़ी महंगाई
देश में खाद्य वस्तुओं के दाम में इजाफा होने से बीते महीने मार्च में खुदरा महंगाई दर बढ़कर 5.52 फीसदी हो गई। इससे पहले इस साल फरवरी में खुदरा महंगाई दर 5.03 फीसदी दर्ज की गई थी। ये आधिकारिक आंकड़े सोमवार को जारी किए गए। केंद्रीय सांख्यिकी एवं कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय के तहत आने वाले राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, खाद्य-वस्तुओं की महंगाई दर मार्च बढ़कर 4.94 फीसदी हो गई जोकि फरवरी में 3.87 फीसदी थी।

इन सामानों की कीमत में इजाफा
एनएसओ के आंकड़ों पर गौर करें तो खाद्य तेलों व चिकनाई पदार्थ यानी बसा की कीमतों में मार्च महीने के दौरान 42.92 फीसदी का इजाफा हुआ जबकि गोस्त और मछलियों के दाम में 15.09 फीसदी। इसी प्रकार दालों और इससे बने उत्पादों के दाम में मार्च के दौरान 13.25 फीसदी का इजाफा हुआ। हालांकि सब्जियों की कीमतों में 4.83 फीसदी की नरमी रही। एनएसओ के आंकड़ों के अनुसार, मार्च महीने में उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई) आधारित महंगाई दर 5.52 फीसदी रही। वहीं, उपभोक्ता खाद्य मूल्य सूचकांक (सीएफपीआई) आधारित महंगाई दर मार्च में 4.94 फीसदी दर्ज की गई।

Show More
Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned