खेती-किसानों के नाम रही तीसरी किस्त, बुनियादी जरूरत से लेकर पशुओं के vaccination को सरकार ने बनाया लक्ष्य

  • किसानों पर मेहरबान मोदी सरकार
  • तीसरी किस्त में सारी घोषणाएं कृषि और पशुपालन के नाम
  • देश में बनेगा फसल कॉरिडोर

By: Pragati Bajpai

Published: 15 May 2020, 05:59 PM IST

नई दिल्ली: मोदी सरकार ( MODI GOVT ) के 20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज की तीसरी किस्त का भी ऐलान हो गया । राहत की तीसरी किस्त में भी सरकार गरीब किसान पर मेहरबान दिखी । आज हुई ज्यादातर घोषणाओं के केंद्र में कृषि और किसान रहा । वित्त मंत्री ने प्रेस कांफ्रेस की शुरूआत में ही ये स्पष्ट कर दिया था कि आज की घोषणाएं किसान और उससे जुड़ी जरूरतों के लिए होंगी । किसानों के हालात पर बात करते हुए वित्त मंत्री ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान भी किसान काम करते रहे, छोटे और मंझोले किसानों के पास 85 फीसदी खेती है।

कृषि के बुनियादी ढ़ांचे के लिए 1 लाख करोड़ देगी सरकार -

उन्होने कृषि के बुनियादी ढांचे के लिए सरकार की तरफ से एक लाख करोड़ रूपए की मदद का ऐलान किया है। इस रकम को एग्रीग्रेटर्स, एफपीओ, प्राइमरी एग्रीकल्चर सोसाइटी आदि के लिए फार्म गेट इन्फ्रास्ट्रक्चर, कोल्ड स्टोरेज ( COLD STORAGE ) निर्माण और विकास के लिए दिया जाएगा।

इसके अलावा माइक्रो साइज फूड एंटरप्राइज ( Micro Size Food Enterprises ) को भी सरकार ने मदद का ऐलान किया है । इसके तहत क्लस्टर आधारित फूड प्रोडक्ट्स के उत्पादन को बढ़ावा दिया जाएगा ताकि वे ग्लोबल स्टैंडर्ड के प्रोडक्ट बना सकें। सरकार ने इसके लिए 10 हजार करोड़ की आर्थिक मदद की घोषणा की है। इसके अंतर्गत बिहार के मखाना उत्पादन, कश्मीर में केसर, कर्नाटक में रागी उत्पादन, नॉर्थ ईस्ट में ऑर्गेनिक फूड, तेलंगाना में हल्दी के उत्पादन को बढ़ावा दिया जाएगा। सरकार के इस कदम से वेलनेस, हर्बल, ऑर्गेनिक प्रोडक्ट करने वाले 2 लाख माइक्रो फूड एंटरप्राइजेज को फायदा होगा ।

WORLD BANK ने भारत को दिया 7500 करोड़ का अनुदान, गरीबों और पिछड़ों की सुरक्षा पर होगा खर्च

पशुओं का Vaccination सरकार की प्राथमिकता-

इसके अलावा आज भी किसान की एक्सट्रा इनकम ( EXTRA INCOME ) का सोर्स जानवर होते हैं लेकिन हमारे देश में जानवरों का VACCINATION ( ANIMAL VACCINATION ) न करवाने की वजह से जानवरों में मुंह पका और खुर पका ( FOOT AND MOUTH Disease) हो जाती है और इसका असर उनके दूध उत्पादन पर पड़ता है। इसलिए सरकार ने पशुओं के 100 फीसदी टीकाकरण को अपना लक्ष्य बनाया है। इसके साथ ही सरकार ने कैटल फीड प्रोडक्शन जैसे चीज, में निर्यात के लिए 15,000 करोड़ रुपये का फंड है

Show More
Pragati Bajpai Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned