Higher Education: उच्च शिक्षा पूरी करने के लिए ये शहर हैं सर्वश्रेष्ठ

Higher Education: उच्च शिक्षा पूरी करने के लिए ये शहर हैं सर्वश्रेष्ठ

Deovrat Singh | Updated: 18 Sep 2019, 11:40:47 AM (IST) शिक्षा

Higher education : देश में उच्च शैक्षणिक संस्थानों में प्रवेश लेने के लिए अक्सर प्रत्येक युवा हरसंभव प्रयास करता है। शैक्षणिक संस्थान के साथ ही उपयुक्त शहर और सुविधाओं को भी ध्यान में रखा जाता है। उच्च शिक्षा के लिए देश के बेस्ट शहरों...

Higher education in India : देश में उच्च शिक्षा और बेहतर शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं। राज्य सरकारें भी इसके लिए बजट में अलग से राशि अलॉट करती है। केंद्र और राज्य की मदद के साथ ही कुछ शहर शिक्षा के क्षेत्र में तेजी से आगे बढे हैं। इन शहरों में बाहरी राज्यों के साथ विदेशों से पढ़ने के लिए विद्यार्थी आ रहे हैं। एजुकेशन हब बनने के बाद यहां कॉम्पीटीशन भी कड़ा हो गया है। एक के बाद एक बड़े इंस्टिट्यूट खुलते जा रहे हैं। ऐसे में इन शहरों को विदेशों में भी पहचान मिली है। प्रत्येक विद्यार्थी भारत के सर्वश्रेष्ठ विश्वविद्यालयों में पढ़ने के बारे में ज़रूर सोचता है। अपने सपने को साकार करने का सबसे आसान तरीका है कि आप सबसे पहले उन शहरों के विषय में जाने जहाँ आपके करियर और ऊंचाई मिल सकें।

गौरतलब है कि भारत में प्रत्येक वर्ष आईआईटी और इंजीनियरिंग में प्रवेश लेने वाले छात्रों में से 60% छात्र केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) से संबद्ध स्कूलों के होते हैं। विद्यार्थियों को पढाई के साथ ही बुनियादी सुविधाएं, फीस, स्थान, सुरक्षा ये सभी महत्वपूर्ण हो जाते हैं। मेडिकल की पढ़ाई हो या मैनेजमेंट की, सभी के लिए अच्छा एजुकेशन इंस्टिट्यूट और शहर होना जरुरी है। आइए आज हम आपको ऐसे कुछ शहरों के बारे में बता रहे हैं, जो हायर एजुकेशन के लिए सर्वश्रेष्ठ हैं।

1. बैंगलोरः

बैंगलोर देश के कई शैक्षणिक एवं अनुसंधान संस्थानों का केंद्र है और स्किल डवलपमेंट की दिशा में महत्वपूर्ण योगदान ऐडा करता है। बैंगलोर को भारत के एजुकेशन हब में से प्रमुख माना जाता है। बैंगलोर विश्वविद्यालय 500 से भी अधिक कॉलेजों को संबद्धता (Affiliation) प्रदान करता है और विश्वविद्यालय में 300,000 से भी अधिक विद्यार्थी दाखिला लेते हैं। विद्यार्थियों के लिए दुनिया के सबसे अच्छे शहर के लिए इस महीने की शुरुआत में लंदन स्थित हायर एजुकेशन थिंक टैंक द्वारा जारी किए गए Quacquarelli Symonds (QS) Best Student Cities 2019 के सर्वे के अनुसार, बेंगलुरु टॉप 100 में केवल दो भारतीय शहरों में से एक है।

बेंगलुरू सूची में पहले स्थान पर है और दूसरे पर मुंबई। अच्छे शैक्षणिक संस्थानों के साथ एक शहर के रूप में बेंगलुरू पहली बार 81 वें स्थान पर है। एक ऐसी जगह जहाँ आप कम से कम 150 रूपए में एक सस्ता भोजन प्राप्त कर सकते हैं, सस्ती सार्वजनिक परिवहन सेवा, और आवास सुविधा भी सस्ती दर पर मिल जाती है।

बैंगलोर का सबसे मजबूत सूट भारत की सिलिकॉन वैली के रूप में इसकी धारणा है।" यहां बड़े अनुसंधान संस्थान भी मदद करते हैं - भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) और भारतीय विज्ञान संस्थान (IISc) यहां आधारित हैं, और शहर नेशनल लॉ स्कूल (NLS), नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी (निफ्ट) और आईआईएम जैसे प्रसिद्ध संस्थानों की शाखाओं में पढ़ने की चाह भी विद्यार्थियों की आकर्षित करती है। इसके अलावा, कई नौकरी के अवसर और इंटर्नशिप की संभावनाएं जैसे कि विश्व प्रसिद्ध कंपनियों जैसे कि एक्सेंचर, विप्रो, टीसीएस, आईबीएम और ओरेकल में मिल जाती है।

प्रमुख संस्थान

जैन विश्वविद्यालय, इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस, नेशनल सेंटर फॉर बायोलॉजिकल साइंसेज (एनसीबीएस), जवाहर लाल नेहरू सेंटर फॉर एडवांस्ड साइंटिफिक रिसर्च (जेएनसीएएसआर) और रमन रिसर्च इंस्टीट्यूट). ये संस्थान भारत में वैज्ञानिक अनुसंधान के प्रमुख संस्थान हैं.

राष्ट्रीय स्तर पर पेशेवर संस्थान हैं– यूनिवर्सिटी ऑफ एग्रीकल्चरल साइंसेस, बैंगलोर (यूएएसबी), नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ डिजाइन (एनआईडी), नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी (निफ्ट), नेशनल लॉ स्कूल ऑफ इंडिया यूनिवर्सिटी (एनएलएसआईयू), इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट, बैंगलोर (आईआईएम– बी), आईसीएआर– नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एनिमल न्यूट्रीशन एंड फिजियोलॉजी (एनआईएएनपी), इंडियन स्टैटिस्टिकल इंस्टीट्यूट और इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी, बैंगलोर (आईआईआईटी–बी).

इस शहर में प्रमुख मानसिक स्वास्थ्य संस्थान भारतीय राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य एवं तंत्रिका विज्ञान संस्थान (एनआईएमएचएएनएस– निमहंस) भी है. बैंगलोर में देश के कुछ सर्वश्रेष्ठ मेडिकल कॉलेज भी हैं जैसे सेंट. जॉन्स मेडिकल कॉलेज (एसजेएमसी) और बैंगलोर मेडिकल कॉलेज एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट (बीएमसीआरआई) आदि .

2. मुंबई

मुंबई को सिटी ऑफ एक्सट्रीम्स कहा जाता है और हर मामले में यह शहर अवसरों से भरा है। कुछ लोगों के लिए मुंबई की तेज रफ्तार जिंदगी डरावनी हो सकती है लेकिन एक विद्यार्थी के लिए इस शहर में अवसरों की कोई कमी नहीं है। यदि आप कला, विज्ञान या वाणिज्य की पढ़ाई की योजना बना रहे हैं तो यह शहर आपको कई अच्छे विकल्प प्रदान करता है। मुंबई को फिल्म इंडस्ट्री का हृदय कहा जाता है इसलिए मास मीडिया के पाठ्यक्रम में दाखिला लेना अच्छा विकल्प हो सकता है. शहर में कई मीडिया और एंटरटेनमेंट कंपनियां हैं जो कई प्रकार की नौकरियां देती हैं और इंटर्नशिप कराती हैं। लंदन स्थित हायर एजुकेशन थिंक टैंक द्वारा जारी किए गए Quacquarelli Symonds (QS) Best Student Cities 2019 के सर्वे के अनुसार, मुंबई 85वें नंबर पर है, जो कि पिछले साल की रैंकिंग में # 99 से ऊपर है। इस रैंकिंग में मुंबई केवल दो भारतीय शहरों में से एक है। मुंबई, विद्यार्थियों के लिए रहने सहित सभी सुविधाओं में अन्य शहरों की तुलना में महंगा है।

मुंबई विश्वविद्यालय देश के प्रमुख विश्वविद्यालयों में से एक है. इस शहर में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान– आईआईटी भी है. यह पवई में स्थित है और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में अकादमिक (एकेडमिक) उत्कृष्टता एवं अनुसंधान के लिए विश्वविख्यात है. मुंबई का ग्रांट मेडिकल कॉलेज लगातार कई वर्षों से देश के शीर्ष 10 मेडिकल कॉलेजों की सूची में बना हुआ है. यहां टाटा सामाजिक विज्ञान संस्थान (टीआईएसएस) भी है जो सामाजिक कल्याण के क्षेत्र में अपने उन्नत अनुसंधान कार्य के लिए जाना जाता है। प्रतिष्ठित सेंट. जेवियर्स कॉलेज को अब स्वायत्तता मिल चुकी है। सेंट. जेवियर्स मल्हार और आईआईटी पवई का मूड इंडिगो एवं सोफिया कॉलेज के केलाईडोस्कोप जैसे कार्यक्रमों में बड़ी संख्या में लोग शामिल होते हैं।

प्रमुख संस्थान
सेंट. जेवियर्स कॉलेज, आईआईटी बॉम्बे, केजी सोमैया कॉलेज, मिठीबाई कॉलेज, विल्सन कॉलेज, एल्फिंस्टन कॉलेज, सोफिया कॉलेज फॉर वुमेन आदि

3. दिल्ली
दिल्ली देश के बेहतरीन उच्च शिक्षण संस्थानों का केंद्र है। दिल्ली विश्वविद्यालय देश का एक प्रमुख विश्वविद्यालय है और देश के अलग– अलग हिस्सों से प्रत्येक वर्ष बड़ी संख्या में विद्यार्थी इस विश्वविद्यालय में पढ़ाई करने आते हैं। यहां के विद्यार्थियों ने राजनीति, कला एवं संस्कृति, प्रशासन, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी जैसे अलग– अलग क्षेत्रों में अपनी पहचान बनाई है। आईआईटी और जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) बेहतरीन विश्वविद्यालयों में से एक हैं, सिर्फ इसलिए नहीं कि ये देश के सर्वश्रेष्ठ संस्थानों में से हैं बल्कि इसलिए भी क्योंकि इन्होंने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बनाई है। जेएनयू मानविकी के पाठ्यक्रम के लिए विशेष रूप से जाना जाता है। कादमिक(एकेडमिक) उत्कृष्टता के लिए दो विश्वविद्यालय प्रसिद्ध हैं– जामिया मिलिया इस्लामिया और इंद्रप्रस्थ विश्वविद्यालय। दिल्ली में सुरक्षा एक बड़ी चिंता बनी रही है। विद्यार्थियों को उच्च शिक्षा के लिए आकर्षित करती है लेकिन सुरक्षा के कारणों से विद्यार्थी यहां जाने से थोड़ा हिचकिचाते हैं। Quacquarelli Symonds (QS) Best Student Cities 2019 के सर्वे के अनुसार, दिल्ली 113वें नंबर पर है।

कुछ प्रमुख संस्थान हैं–
आईआईटी दिल्ली, एम्स, मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज, लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज, नेताजी सुभाष इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, सेंट. स्टीफेंस कॉलेज, हिन्दू कॉलेज, श्री राम कॉलेज ऑफ कॉमर्स, लेडी श्री राम कॉलेज।

4. चेन्नई
दक्षिण भारत का चेन्नई शहर तकनीकी शिक्षा के लिए प्रसिद्ध है लेकिन यहां विद्यार्थी अन्य विषयों की पढ़ाई के लिए भी जाते हैं। आईआईटी को छोड़कर कई कॉलेजों में महाराष्ट्र,दिल्ली और पश्चिम बंगाल और अन्य राज्यों से आए विद्यार्थी भी देखने को मिलते हैं। 165 वर्ष पुराना मद्रास विश्वविद्यालय अपने कुछ विशेष पाठ्यक्रमों के लिए जाना जाता है। नोबल पुरस्कार विजेता सी. वी. रमण और एस. चंद्रशेखर ने भी यहीं से पढ़ाई की थी। विश्वविद्यालय में 300 करोड़ रुपए मूल्य के उपकरण और सुविधाएं मौजूद हैं। शहर के शिक्षाविदों का कहना है कि पुस्तकालय और अनुसंधान कार्य के लिए विद्यार्थियों को कहीं और जाने की जरूरत नहीं है। दाखिले की प्रक्रिया पारदर्शी है और पाठ्यक्रम का शिक्षण शुल्क बेहद किफायती है। आईआईटी मद्रास, विज्ञान और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में उच्च गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के लिए प्रख्यात संस्थान है। Quacquarelli Symonds (QS) Best Student Cities 2019 के सर्वे के अनुसार, चेन्नई 117वें नंबर पर है। यहां पर बोलचाल की भाषा ही विद्यार्थियों के सामने सबसे बड़ी समस्या के तौर पर आती है।

प्रमुख संस्थान
लोएला कॉलेज, प्रेसीडेंसी कॉलेज, स्टेला मॉरिस कॉलेज फॉर वुमेन, एशियन कॉलेज ऑफ जर्नलिज्म, इतिराज कॉलेज, आईआईटी मद्रास, मद्रास मेडिकल कॉलेज आदि

5. पुणे
पंडित जवाहरलाल नेहरू ने इस शहर को पूर्व का ऑक्सफोर्ड नाम दिया था। इस शहर में दुनियाभर से विद्यार्थी पढ़ाई तथा नौकरी की तलाश में आते हैं। भारत में पुणे, जापानी भाषा सीखने का सबसे बड़ा केंद्र है, अब यहां सभी प्रमुख देशों की भाषाएं सिखने के लिए देशभर से विद्यार्थी आते हैं। जापानी भाषा के शिक्षकों के प्रशिक्षण एवं भर्ती का भी यह प्रमुख केंद्र है। पुणे विश्वविद्यालय देश का दूसरा सबसे बड़ा विश्वविद्यालय (कॉलेजों की कुलसंख्या के आधार पर) है और इस विश्वविद्यालय में पढ़ने के लिए दुनिया भर से विद्यार्थी आते हैं।

प्रमुख संस्थान
वैज्ञानिक एवं औद्योगिक अनुसंधान परिषद (CSIR), यहाँ स्थित राष्ट्रीय रसायन प्रयोगशाला(NCL), इंटरसब्जेक्ट अनुसंधान केंद्र है जिसमें अनुसंधान उच्च स्तर पर किये जा सकते हैं। यह पॉलिमर विज्ञान, जैविक रसायनशास्त्र, उत्प्रेरण एवं सामग्री रसायनशास्त्र में उपाधि प्रदान करता है।देश का सबसे प्रसिद्द फिल्म स्कूल– भारतीय फिल्म एवं टेलिविजन संस्थान (FTII) पुणे में ही है।

अन्य प्रमुख संस्थान हैं– इंटर– यूनिवर्सिटी सेंटर फॉर एस्ट्रोनॉमी एंड एस्ट्रोफिजिक्स, नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वीरोलॉजी, इंडियन इंस्टीट्यूट फॉर साइंस एजुकेशन एंड रिसर्च, नेशनल एड्स रिसर्च इंस्टीट्यूट, नेशनल सेंटर फॉर सेल साइंस– ये कुछ अनुसंधान संस्थान हैं जो जीव विज्ञान के क्षेत्र में रिसर्च के लिए जाना जाता है। सेंटर फॉर डेवलपमेंट ऑफ एडवांस्ड कंप्यूटिंग (सी– डैक) भारत के सबसे शक्तिशाली सुपरकंप्यूटरों– परम और पद्म का संचालन करता है। सिंबायोसिस इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी शहर में 33 कॉलेजों और संस्थानों का संचालन करती है।

रक्षा बलों के लिए समर्पित कई उत्कृष्ट शिक्षण संस्थान
• राष्ट्रीय रक्षा अकादमी– एनडीए,
• डिफेंस इंस्टीट्यूट ऑफ आर्मामेंट टेक्नोलॉजी (डीआईएटी)
• आर्म्ड फोर्सेस मेडिकल कॉलेज (एएफएमसी)
• कॉलेज ऑफ मिलिट्री इंजीनियरिंग (सीएमई), दापोली.
• आर्मी इंस्टीट्यूट ऑफ फिजिकल ट्रेनिंग (एआईपीटी), हदपसार
• आर्मी इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (एआईटी)

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned