CBSE Practical Exam Dates 2021: प्रैक्टिकल एग्जाम की तिथियां घोषित, जानिए जरूरी निर्देश और एग्जाम डेट्स

  • CBSE Practical Exam Dates 2021:
  • बोर्ड ने प्रैक्टिकल एग्जाम 2021 की डेट, गाइडलाइंस और SOP जारी कर दी है।
  • सभी स्कूल 10वी और 12वीं की प्रायोगिक परीक्षाओं का आयोजन 1 मार्च से 11 जून 2021 के बीच करेंगे।

By: Deovrat Singh

Published: 12 Feb 2021, 10:33 AM IST

CBSE Practical Exam Dates 2021: केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने प्रैक्टिकल एग्जाम 2021 की डेट, गाइडलाइंस और SOP जारी कर दी है। बोर्ड ने स्कूलों के प्रधानाचार्यों और प्रमुखों को एक पत्र भेजा है जिसमें उन्होंने व्यावहारिक परीक्षा आयोजित करने की तारीखों और इस वर्ष के लिए सामान्य निर्देशों, COVID-19 प्रोटोकॉल और अन्य दिशानिर्देशों का उल्लेख किया है। सीबीएसई बोर्ड ने प्रैक्टिकल एग्जाम की तारीखों की भी घोषणा कर दी है। जारी सर्कुलर के अनुसार सभी स्कूल 10वी और 12वीं की प्रायोगिक परीक्षाओं का आयोजन 1 मार्च से 11 जून 2021 के बीच करेंगे। सीबीएसई ने सभी स्कूलों को सभी प्रोजेक्ट असाइनमेंट/इंटर्नल एसेसमेंट को भी 11 जून तक ही पूरा कर लेने के निर्देश दिए हैं और इन सभी के अंकों को बोर्ड की वेबसाइट पर जल्द से जल्द अपलोड करना होगा।

Click Here For Official Notification

Click Here For LOC-2021

इस वर्ष विशेष परिस्थितियों के कारण, CBSE ने स्कूलों को सैद्धांतिक परीक्षा की अंतिम तिथि तक प्रैक्टिकल पूरा करने की अनुमति दी है। - जो 11 जून, 2021 है। ऐसे सभी विद्यार्थियों के लिए, स्कूलों को बोर्ड के क्षेत्रीय कार्यालय को रिपोर्ट करने के लिए निर्देशित किया गया है ताकि व्यावहारिक परीक्षा के लिए बाहरी परीक्षक को फिर से नियुक्त किया जा सके। हालांकि, ऐसी सभी परीक्षाएं, 11 जून, 2021 से पहले पूरी होनी चाहिए।


प्रैक्टिकल एग्जाम के मार्क्स
सीबीएसई बोर्ड ने कक्षा 10 और कक्षा 12 की प्रायोगिक परीक्षाओं के लिए जारी निर्देशों के अनुसार स्कूलों को प्रैक्टिकल या इंटर्नल एसेसमेंट के लिए निर्धारित अधिकतम अंकों का ध्यान रखना होगा। दोनो ही कक्षाओं के विभिन्न विषयों के लिए अधिकतम 20 अंक निर्धारित किए गए हैं। हालांकि, एनसीसी के लिए अधिकतम अंक 30 है। स्टूडेंट्स सीबीएसई प्रैक्टिकल एग्जाम डेटशीट 2021 और मार्क्स की जानकारी बोर्ड के नोटिस में देख सकते हैं।


किसी भी परिस्थिति में स्कूलों में इंटरनल एग्जामिनर के साथ व्यावहारिक परीक्षा आयोजित करने की अनुमति नहीं है। यदि ऐसा ही किया जाता है, तो प्रैक्टिकल परीक्षा के अंक रद्द कर दिए जाएंगे और छात्र को थ्योरी पेपर में प्राप्त अंकों के औसत पैमाने पर चिह्नित किया जाएगा। इसके अलावा, बोर्ड स्कूल के खिलाफ डी-संबद्धता कार्यवाही भी शुरू करेगा। सीबीएसई के निर्देशों का पालन नहीं करने के लिए प्रिंसिपल को पूरी तरह से जिम्मेदार माना जाएगा।

जरुरी दिशा निर्देश
सीबीएसई ने कोविड-19 को ध्यान में रखते हुए महत्वपूर्ण निर्देश भी जारी किए हैं। इन निर्देशों का पालन स्टूडेंट्स के साथ-साथ सभी स्कूलों के टीचिंग एवं नॉन-टीचिंग स्टाफ को भी करना अनिवार्य होगा।
-हर बैच के प्रैक्टिकल एग्जाम के बाद लैबोरेट्री को सैनिटाइज करना होगा।
-लैब में परीक्षार्थी और स्टाफ के लिए सैनिटाइजर उपलब्ध कराना होगा।
- लैब में ढके कूडेदान उपलब्ध होने चाहिए और ये समय-समय पर साफ करने होंगे।
- कुल परीक्षार्थियों में से 25 के ग्रुप को दो भागों बांटा जा सकता है।
-स्टूडेंट्स को मास्क लगाकर रखना होगा। बार-बार हाथ धोते रहना होगा और सामाजिक दूरी का पालन करना होगा।
-स्कूलों द्वारा निर्देशों का पालन न करने पर सीबीएसई बोर्ड ने स्कूलों पर 50 हजार का फाइन लगाने की घोषणा की है।

Deovrat Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned