IIM Ahmedabad: डेटा साइंस और एआई सेंटर लॉन्च, बड़ी परियोजनाओं को हाथ में लेने की तैयारी

 

आईआईएम अहमदाबाद ( IIM Ahmedabad ) डेटा साइंस और आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस सेंटर का मकसद औद्योगिक, शासकीय और नीति निर्माण से जुड़ी समस्याओं का समाधान निकालना है। ताकि जिंदगी को और आसान बनाना संभव हो सके।

By: Dhirendra

Updated: 16 Aug 2021, 06:54 PM IST

नई दिल्ली। भारतीय प्रबंधन संस्थान अहमदाबाद ( IIM Ahmedabad ) परिसर में बृज डिसा सेंटर फॉर डेटा साइंस एंड आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस ( CDSA ) ने आज से काम शुरू कर दिया है। इसका लक्ष्य डेटा विज्ञान ( Data Science ) और कृत्रिम बुद्धिमत्ता (Artificial iIntelligence) में उच्च स्तरीय शोध पर जोर देना है। साथ ही औद्योगिक संगठनों, शासकीय कार्यों और नीति निर्माण से जुड़ी समस्याओं का समाधान देना है। इस सेंटर को विकसित करने में कोटक महिंद्रा समूह के संयुक्त प्रबंध निदेशक दीपक गुप्ता अहम योगदान दिया है।

इस सेंटर को लॉन्च करने का मकसद औद्योगिक जरूरतों को समझते हुए स्टडी मैटीरियल तैयार करना है। साथ ही केस-आधारित अनुसंधान के अलावा डेटा संगठनों से जुड़े विशेषज्ञों और शोध संस्थानों के बीच आपसी सहयोग को बढ़ावा देना है।

Read More: JEE मेन 2021 सेशन 4 के एडमिट कार्ड जल्द होंगे जारी, ऐसे करें डाउनलोड

एआई इंसानी जीवन का अभिन्न हिस्सा - एरोल डिसूजा

आईआईएम अहमदाबाद के निदेशक एरोल डिसूजा ने कहा कि डेटा साइंस और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से आज कोई भी क्षेत्र अछूता नहीं है। एआई अब इंसानी जीवन का एक अनिवार्य हिस्सा बन गया है। व्यवसायों को बढ़ाने के लिए उन्नत तकनीकों को विकसित करने के साथ विभिन्न हितधारकों को एक मंच पर लाने का प्रभावी जरिया के रूप में सामने आया है।

गेम चेंजर टूल है आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस

सीडीएसए के सह-अध्यक्ष प्रोफेसर अनिंद्य एस चक्रवर्ती ने बताया कि डेटा साइंस और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की क्षमता का लाभ समस्याओं के समाधान के लिए उठाया जा सकता है। आगामी वर्षों में यह न केवल व्यवसायों के लिए बल्कि सामाजिक जरूरतों के लिए भी गेम-चेंजर ( Game Changer )हो सकता है।

Read More: UPSC Exam calender 2022: आयोग ने जारी किए एग्जाम कैलेंडर, इस तारीख को होगी परीक्षा

Dhirendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned