NEET 2020 Result: आकांक्षा और शोएब को मिले समान अंक, फिर आकांक्षा की रैंक 2 क्यों, जानें टाई ब्रेक फॉर्मूला

NEET 2020 Result: ओडिसा के शोएब आफताब ने 720 में से 720 अंक हासिल करते हुए भारत में पहली रैंक के साथ NEET 2020 टॉप किया है। वहीं दिल्ली की आकांक्षा सिंह ने भी 720 में से 720 अंक हासिल किए हैं, लेकिन आकांक्षा की ऑल इंडिया रैंक 2 है।

By: Deovrat Singh

Published: 17 Oct 2020, 07:32 AM IST

NEET 2020 Result: ओडिसा के शोएब आफताब ने 720 में से 720 अंक हासिल करते हुए भारत में पहली रैंक के साथ NEET 2020 टॉप किया है। वहीं दिल्ली की आकांक्षा सिंह ने भी 720 में से 720 अंक हासिल किए हैं, लेकिन आकांक्षा की ऑल इंडिया रैंक 2 है। NTA के मुताबिक टाई ब्रैक होने के कारण उन्होंने उम्र के बीच का अंतर देखा और इसी आधार पर शोएब को ऑल इंडिया रैंक 1 दी गई है।

तुम्माला स्निकिता, विनीत शर्मा और अमृशा खैतान ने NEET 2020 में 715 नंबर प्राप्त किए हैं और उम्र के बीच के अंतर वाले कारण से ही इन्हें ऑल इंडिया रैंक 3,4,5 और 6 दी गई है, जबकि इन सभी के नंबर एक सामान ही हैं

NEET का टाई ब्रेकिंग फॉर्मूला
1. अगर दो या उससे ज्यादा विद्यार्थियों के NEET परीक्षा में एक समान नंबर आते हैं, तब जिस विद्यार्थी के बायोलॉजी यानी जीवविज्ञान (वनस्पति विज्ञान और जूलॉजी) में ज्यादा नंबर होंगे, उसे रैंकिंग में वरियता दी जाएगी।
2. अगर बायोलॉजी के नंबर में भी समानता है तो उस विद्यार्थी को रैंकिंग में वरीयता दी जाएगी, जिसके रसायन विज्ञान (कैमिस्ट्री) में ज्यादा नंबर होंगे।
3. बायोलॉजी और कैमिस्ट्री में भी अगर एक जैसे नंबर हैं तब उस विद्यार्थी को रैंकिंग में वरीयता दी जाएगी, जिसने NEET के सभी विषयों में सबसे कम गलत जवाब दिए होंगे।
4. अगर विद्यार्थियों के गलत जवाबों की संख्या भी समान होगी, तब आखिर में जिस विद्यार्थी की उम्र ज्यादा होगी उसे वरीयता दी जाएगी।

नीट मार्किंग स्कीम
NEET 2020 परीक्षा में तीन पार्ट - भौतिकी, रसायन विज्ञान और जीवविज्ञान (वनस्पति विज्ञान और जूलॉजी) में विभाजित कुल 180 बहुविकल्पीय प्रश्न शामिल थे।
NEET 2020 के भौतिकी और रसायन विज्ञान पार्ट में प्रत्येक के 45-45 बहुविकल्पीय प्रश्न थे, और जीव विज्ञान भाग में 90 प्रश्न शामिल थे। NEET 2020 के लिए कुल अंक 720 हैं।

NTA NEET 2020 मार्किंग स्कीम के अनुसार, हर सही उत्तर के लिए चार अंक दिए जाते हैं और हर गलत उत्तर के लिए एक अंक काटा जाता है।

NEET 2020 स्कोर = (सही उत्तरों की संख्या x 4) - (गलत उत्तरों की संख्या x 1)

चूंकि, NEET की पात्रता परीक्षा सभी उम्मीदवारों के लिए एक ही पारी में आयोजित की जाती है, इसलिए सामान्यीकरण की प्रक्रिया नहीं होती है। हालाँकि, NTA टाई-ब्रेकिंग नियम का पालन करेगा यदि उम्मीदवार उसी NTA NEET 2020 स्कोर एक समान हासिल करेंगे।

Deovrat Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned