आरटीई की लॉटरी निकाली, 4 तक जमा होंगे दस्तावेज

3.98 लाख बच्चों ने किए 19.46 लाख आवेदन, 2673 स्कूल के लिए नहीं आया एक भी आवेदन

By: सुनील शर्मा

Published: 29 Mar 2019, 12:15 PM IST

निजी स्कूलों में आरटीई के तहत नि:शुल्क सीटों पर गरीब बच्चों के प्रवेश के लिए बुधवार को शिक्षा संकुल स्थित सभागार में ऑनलाइन लॉटरी निकाली गई। विभागीय आयुक्त प्रदीप बोरड ने पोर्टल का बटन दबाकर स्कूलों के लिए आए आवेदनों में बच्चों के प्रवेश की वरीयता निर्धारित की। इस वर्ष 3.98 लाख बच्चों ने आरटीई के तहत आवेदन किए हैं। इन बच्चों ने 19 लाख 46 हजार आवेदन पत्र भरे हैं। प्रदेश में कुल 34,192 स्कूल आरटीइ में प्रवेश के पात्र थे। इनमें 31,519 स्कूलों के लिए ही आवेदन आए। 2673 स्कूलों के लिए किसी भी बच्चे ने आवेदन नहीं किया।

थर्डजेंडर बच्चे तिगुने
इस बार आरटीई में थर्ड जेंडर बच्चों के आवेदन भी तिगुने हुए हैं। पिछले वर्ष 11 बच्चों के 45 आवेदन आए, इस बार 33 के 145 आवेदन आए हैं। अनाथ-विकलांग बच्चे भी बढ़े हैं। पिछले वर्ष जहां 589 अनाथ बच्चों के आवेदन आए थे। इस बार 781 बच्चों के आवेदन आए हैं। इस वर्ष 218 विकलांग बच्चों ने अधिक आवेदन किए हैं।

ऐसे देखें वरीयता सूची
लॉटरी से जारी वरीयता सूची को विद्यालयवार प्राइवेट स्कूल वेबपार्टल www. RTE .raj.nic.in के होम पेज पर जाकर वरीयता सूची पर क्लिक करके देख सकते हैं। ऑनलाइन लॉटरी से वरीयता क्रम निर्धारण के बाद प्रवेश के इच्छुक अभिभावकों को 4 अप्रेल तक आवेदन के प्रिंट व दस्तावेजों के साथ जमा करवाना है।

सुनील शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned