School Reopening: उत्तराखंड सरकार ने दी मंजूरी, 1 अगस्त से खुलेंगे 6 से 12वीं तक के स्कूल

 

School Reopening: कोविड-19 दूसरी लहर थमने के बाद उत्तराखंड सरकार ने राज्य में स्कूल खोलने की इजाजत दे दी है। चार दिन बाद स्कूलों में बच्चों की चहल-पहल फिर से शुरू हो जाएगी।

By: Dhirendra

Updated: 27 Jul 2021, 03:58 PM IST

School Reopening: कोरोना महामारी की दूसरी लहर थमने के बाद उत्तराखंड में एक अगस्त से स्कूल खोले जाएंगे। कैबिनेट ने इस प्रस्ताव पर अपनी मुहर लगा दी है। राज्य सरकार ने कक्षा 6 से 12 तक के छात्रों के लिए एक अगस्त से स्कूल खोले जाने की इजाजत दी है लेकिन सभी को कोरोना प्रोटाकॉल को अनिवार्य रूप से पालन करना होगा।

पिछले कुछ दिनों से उत्तराखंड में कोरोना के मामले लगातार कम हो रहे हैं। रविवार को कोरोना के 51 नए मरीज मिले जबकि किसी भी संक्रमित की मौत नहीं हुई। इसके साथ ही राज्य में कुल मरीजों की संख्या 3 लाख 41 हजार 724 हो गई है।

Read More: नहीं बदला जाएगा आईआईटी मद्रास का नाम, उच्च शिक्षा आयोग में होगा 3 संस्थाओं का विलय

धामी कैबिनेट के अन्य फैसले

उत्तराखंड में एक अगस्त से स्कूल खोलने के अलावा धामी कैबिनेट में कई अन्य फैसले भी लिए हैं। प्रदेश में 23 अगस्त से 27 अगस्त तक विधानसभा का मानसून सत्र संचालन की अनुमति दी गई है। कैबिनेट ने कौसानी को नगर पंचायत बनाने की भी मंजूरी दे दी है। सरकार ने अहम फैसला लेते हुए आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों को संघ लोक सेवा आयोग और उत्तराखंड लोक सेवा आयोग की प्रारंभिक परीक्षा पास करने वाले अभ्यथियों को मुख्य परीक्षा की तैयारी के लिए 50 हजार रुपए की आर्थिक मदद देने का फैसला लिया है।

गुजरात सहित 4 राज्यों में पहले ही खुल चुके हैं स्कूल

कोरोना महामारी के मामलों में राहत को देखते हुए कई राज्यों में आज यानी 26 जुलाई से स्कूल-कॉलेजों को खोला जा रहा है। कोरोना महामारी के खतरे के कारण स्कूल-कॉलेज लंबे समय से बंद थे। हालांकि, कई राज्यों में पहले ही हायर क्लासेज के स्कूल खुल ( School Reopening ) चुके हैं। 26 जुलाई से मध्य प्रदेश, गुजरात, पंजाब और ओडिशा जैसे राज्यों के स्कूलों में फिर से बच्चों की चहल-पहल शुरू हो गई है। कई राज्य अभी भी स्कूलों को खोलने पर फैसला नहीं कर पाए हैं। स्कूलों को खोलने के लिए राज्य सरकार की तरफ से जारी कोरोना गाइडलाइंस का सख्ती से पालन करना होगा। स्कूलों में छात्रों को भेजने के लिए अभिभावकों को लिखित सहमति देनी होगी।

Read More: हायर एजुकेशन के क्षेत्र में लद्दाख की होगी अपनी अलग पहचान, देखें Video:

Dhirendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned