script राजस्थान विधानसभा चुनाव: चुनावी रणनीति, भाजपा-कांग्रेस ने वॉर रूम में जद्दोजहद | Rajasthan Assembly Election 2023: Changed Election Strategy To Win In Rajasthan | Patrika News

राजस्थान विधानसभा चुनाव: चुनावी रणनीति, भाजपा-कांग्रेस ने वॉर रूम में जद्दोजहद

locationजयपुरPublished: Nov 25, 2023 09:02:13 am

Submitted by:

Nupur Sharma

चुनावी रण में जीत के लिए भाजपा ने हाइटैक वॉर रूम के जरिए फिल्डिंग जमाई। भाजपा मुख्यालय और मीडिया सेंटर में संचालित वॉर रूम की जिम्मेदारी सोशल साइट एक्सपर्ट, डेटा एनालिस्ट, न्यूज एनालिस्ट, इलेक्शन एक्सपर्ट और आईआईटी से पासआउट प्रोफेशनल्स की 110 लोगों की टीम ने संभाली।

rajasthan_election_news.jpg

Rajasthan Assembly Election 2023 : चुनावी रण में जीत के लिए भाजपा ने हाइटैक वॉर रूम के जरिए फिल्डिंग जमाई। भाजपा मुख्यालय और मीडिया सेंटर में संचालित वॉर रूम की जिम्मेदारी सोशल साइट एक्सपर्ट, डेटा एनालिस्ट, न्यूज एनालिस्ट, इलेक्शन एक्सपर्ट और आईआईटी से पासआउट प्रोफेशनल्स की 110 लोगों की टीम ने संभाली। हाईटेक वॉर रूम में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस यानि एआई का भी उपयोग किया गया। मीडिया संयोजक प्रमोद वशिष्ठ, सोशल मीडिया संयोजक हीरेन्द्र कौशिक, आईटी संयोजक धनराज सोलंकी, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया माॅनटरिंग के आनंद शर्मा के हाथ में कमान रही।

यह भी पढ़ें

राजस्थान विधानसभा चुनाव: राजेन्द्र गहलोत बोले- जनता-जनार्दन का आशीर्वाद ही भाजपा की विजय गारंटी

भाजपा : जीत की जमाई फिल्डिंग
टीम ने न केवल बूथ मैनेजमेंट और प्रत्याशियों को गाइड करने पर फोकस किया, बल्कि एक टीम कांग्रेस नेताओं के विवादित बयानों को तेजी से वायरल करती रही। ताकि नेता के साथ पार्टी को भी निशाने पर लिया जा सके। कांग्रेस नेताओं के भाषण के दौरान ही उनके बयानों के काट करने का वीडियो, टैक्सट तैयार किया गया। टीम के अन्य सदस्य प्रत्याशियों को गाइड करते रहे कि उन्हें प्रचार कैसे करना है। मतदान प्रतिशत बढ़ाने के लिए काम किया गया। दिन-रात काम काम में जुटी टीम के खाने और रहने का इंतजाम भी वॉर रूम में किया गया। सोशल मीडिया कैम्पेनिंग पर बड़ा काम हुआ। मीडिया के लिए कौनसे मुद्दे, बिन्दु तैयार करने हैं, इसके लिए भी अलग टीम काम करती रही।


कांग्रेसः सौ लोगों की टीम संभाल रही चुनावी कमान
सत्ता में फिर वापसी को लेकर चुनाव मैदान में जुटी कांग्रेस के प्रबंधन की कमान पूरी तरह पार्टी के वॉर रूम के हवाले है। वॉर रूम में करीब सौ लोगों की टीम दिन-रात लगी है। चुनाव मैनेजमेंट के लिए अलग-अलग सेल बनाई गई है। इसका प्रबंधन वॉर रूम चेयरमेन शशिकांत सैंथिल और को-चेयरमेन जसवंत गुर्जर संभाल रहे हैं। वहीं मीडिया में प्रचार-प्रसार की जिम्मेदारी स्वर्ण चतुर्वेदी के हवाले हैं। वॉर रूम से नेताओं के दौरों से लेकर बूथ मैनेजमेंट तक पर निगरानी रखी जा रही है। पार्टी ने बूथ कार्यकर्ताओं से लगातार संपर्क रखने के लिए बूथ कनेक्टिंग सेंटर भी बनाया है। इसके अलावा मीडिया सेंटर, सोशल मीडिया सेंटर, लीगल सेल, कैम्पेन सेल के जरिए चुनाव प्रबंधन पर नजर रखी जा रही है। संभाग और जिला स्तर तक अलग-अलग जिम्मेदारी तय की हुई है।

यह भी पढ़ें

Rajasthan Election 2023 : पहली बार कर रहे हैं मतदान, इन बातों का रखें जरूर ध्यान...

आज तड़के 5 बजे से बूथ मॉनिटरिंग
वॉर रूम को-चेयरमेन जसंवत गुर्जर ने बताया कि आज मतदान दिवस पर तड़के 5 बजे से बूथ मैनेजमेंट पर नजर रखी जाएगी। हर बूथ पर टेबल लगी, एजेंट पहुंचे या नहीं। इसके अलावा मतदान प्रतिशत या कोई मतदान में आने वाले परेशानी को लेकर पल-पल की जानकारी ली जाएगी।

ट्रेंडिंग वीडियो