scriptup assembly election 2022 bjp strategy for 80 assembly seats | Uttar Pradesh Assembly Election 2022 : भाजपा के लिए अजेय हैं यूपी की ये विधानसभा सीटें, यहां कभी नहीं खिला कमल | Patrika News

Uttar Pradesh Assembly Election 2022 : भाजपा के लिए अजेय हैं यूपी की ये विधानसभा सीटें, यहां कभी नहीं खिला कमल

Uttar Pradesh Assembly Election 2022 : 2017 के विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी और उसके सहयोगी दलों ने 325 सीटें जीती थीं, लहर के बावजूद 78 सीटों पर मिली थी हार

लखनऊ

Updated: August 08, 2021 04:38:56 pm

लखनऊ. Uttar Pradesh Assembly Election 2022- उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 में भले ही छह माह से अधिक का वक्त शेष है, लेकिन सियासी पारा अभी से चढ़ गया है। सभी दल जीत के समीकरण दुरुस्त करने में जुट गये हैं। खासकर भाजपा (BJP) की नजर उन विधानसभा सीटों पर है, जहां 2017 में कमल नहीं खिल सका था। यहां जीत के लिए लिए बूथ स्तर पर संगठन को मजबूत किया जा रहा है। चुनाव तक कार्यकर्ताओं का उत्साह बना रहे, इसके लिए हर विधानसभा सीट के लिए 'बड़े नेताओं' की जिम्मेदारी तय कर दी गई है।
up assembly election 2022 bjp strategy for 80 up assembly seats
भारतीय जनता पार्टी ने 2017 के विधानसभा चुनाव में 312 सीटों पर जीत दर्ज की थी। 13 सीटों पर सहयोगी दलों के प्रत्याशी जीते थे। इनमें 09 सीटें अनुप्रिया पटेल की अगुआई वाली अपना दल ने और 04 सीटें भाजपा से अलग ताल ठोंक रहे सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी ने जीती थीं। भाजपा इस बार भी 300 प्लस विधानसभा सीटों पर जीत का लक्ष्य लेकर चल रही है। खासकर पार्टी का फोकस उन 78 सीटों पर है, 2017 में लहर के बावजूद जहां बीजेपी जीत नहीं सकी है। इनमें से करीब 60 सीटें ऐसी हैं, जिन पर आज तक कमल नहीं खिल सका है।
यह भी पढ़ें

यूपी में इन विधायकों का टिकट कटना तय, 35 फीसदी युवाओं को टिकट देगी भाजपा



जीत की रणनीति
बीजेपी सूत्रों के मुताबिक, 2017 में जिन 78 सीटों पर हार का सामना करना पड़ा था, इस बार पार्टी का लक्ष्य उनमें से कम से कम 60 सीटें जीतना है। इन अभेद्य सीटों को जीतने के लिए भाजपा ने नई रणनीति तैयार की है। इसके लिए हर सीट पर अलग-अलग प्रभारी नियुक्त किये गये हैं। साथ ही पार्टी सांसदों, एमएलसी, निगम, बोर्ड और आयोग के अध्यक्षों को इन सीटों पर फतेह की जिम्मेदारी सौंपी है। बीजेपी प्रवक्ता राकेशधर त्रिपाठी ने कहा कि पार्टी के लिए हर सीट महत्वपूर्ण है। नई रणनीति से हम पिछला रिकॉर्ड भी तोड़ने में सक्षम होंगे। क्योंकि प्रदेश की जनता सरकार के काम और जनहितकारी योजनाओं से लाभान्वित हो रही है।
यह भी पढ़ें

यूपी में जिस दल को ब्राह्मणों का मिला साथ, उसकी बनी सरकार



इन सीटों पर कभी नहीं जीती बीजेपी
अकबरपुर (अंबेडकरनगर), निजामाबाद (आजमगढ़), सिधौली सीट (सीतापुर), हरचंदपुर (रायबरेली), मोहनलालगंज (लखनऊ), रायबरेली सदर (रायबरेली), सीसामऊ (कानपुर), आजमगढ़ सदर (आजमगढ़), रामपुर खास (प्रतापगढ़), जसवंतनगर (इटावा), ऊंचाहार (रायबरेली), मल्हनी (जौनपुर), अतरौलिया (आजमगढ़), मुबारकपुर (आजमगढ़), गोपालपुर (आजमगढ़) और मल्हनी (जौनपुर) सहित करीब 50 ऐसी सीटें हैं, जहां जीत दर्ज करने करना बीजेपी का सपना है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठाLiquor Latest News : पियक्कडों की मौज ! रात एक बजे तक खरीदी जा सकेगी शराबशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफMorning Tips: सुबह आंख खुलते ही करें ये 5 काम, पूरा दिन गुजरेगा शानदारDelhi Schools: दिल्ली में बदलेगी स्कूल टाइमिंग! जारी हुई नई गाइडलाइनMahindra Scorpio 2022 का लॉन्च से पहले लीक हुआ पूरा डिजाइन और लुक, बाहर से ऐसी दिखती है ये पावरफुल कारबैड कोलेस्‍ट्राॅल और डिमेंशिया को कम करके याददाश्त को बढ़ाता है ये लाल खट्‌टा-मीठा फल, जानिए इसके और भी फायदेAC में लगाइये ये डिवाइस, न के बराबर आएगा बिजली बिल, पूरे महीने होगी भारी बचत

बड़ी खबरें

अफगानिस्तान के काबुल में भीषण धमाका, तालिबान के पूर्व नेता की बरसी पर शोक मना रहे लोगों को बनाया गया निशानाPunjab Borewell Accident: बोरवेल में गिरे 6 साल के बच्चे की नहीं बचाई जा सकी जान, अस्पताल में हुई मौतBJP को सरकार बनाने के लिए क्यूँ जरूरी है काशी और मथुरा? अयोध्या से बड़ा संदेश देने की तैयारी..पश्चिम बंगाल का पूर्व मेदिनीपुर जिला बम धमाकों से दहला, तलाशी के दौरान बरामद हुए 1000 से अधिक बमIPL 2022, SRH vs PBKS Live Updates: पंजाब ने हैदराबाद को 5 विकेट से हरायाकपिल देव के AAP में शामिल होने की चर्चा निकली गलत, सोशल मीडिया पर पूर्व कप्तान ने खुद साफ की स्थितिआख़िर क्यों असदुद्दीन ओवैसी बार-बार प्लेसेज ऑफ़ वर्शिप एक्ट का रो रहे हैं रोना, यहां जानेंपुजारा और कार्तिक की टीम में वापसी, उमरान मालिक को भी मिला मौका, देखें दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड दौरे का पूरा स्क्वाड
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.