scriptWho will become Chief Minister of rajasthan, madhya pradesh and chhattisgarh waiting for the message from the high command, keeping an eye on Delhi | 3 State CM: हाईकमान के संदेश का इंतजार, दिल्ली पर लगी रही टकटकी | Patrika News

3 State CM: हाईकमान के संदेश का इंतजार, दिल्ली पर लगी रही टकटकी

Published: Dec 05, 2023 08:07:06 am

Submitted by:

Prashant Tiwari

Who will become the Chief Minister: विधानसभा चुनावों में पार्टी की बड़ी जीत के बाद राजस्थान, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ की राजधानियों में भाजपा नेता परस्पर मेल मिलाप और समीक्षा करते रहे।

 Who will become Chief Minister of rajasthan, madhya pradesh and chhattisgarh waiting for the message from the high command, keeping an eye on Delhi

विधानसभा चुनावों में पार्टी की बड़ी जीत के बाद राजस्थान, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ की राजधानियों में भाजपा नेता परस्पर मेल मिलाप और समीक्षा करते रहे। कुछ नेता दिल्ली दौड़े तो अधिकतर नेता नए मुख्यमंत्री के नाम के लिए दिल्ली से कोई संदेश या सुराग का इंतजार करते रहे। पार्टी के नवनिर्वाचित विधायक यह जानने को उत्सुक रहे कि विधायक दल की बैठक कब होगी। राजस्थान और मध्य प्रदेश में विधायक चुने गए सांसद भी संसद की कार्यवाही में शामिल होने दिल्ली चले गए।

राजस्थान के प्रमुख नेता दिल्ली में

भाजपा न तो विधायक दल की बैठक और न ही इसकी तिथि तय कर पाई। जयपुर में नए विधायकों का पहुंचना जारी है। भाजपा प्रदेश प्रभारी अरूण सिंह और प्रदेश अध्यक्ष सी पी जोशी सोमवार सुबह देर तक प्रदेश के कुछ नेताओं के साथ गुप्त बैठकें करते रहे। इसके बाद दिल्ली के लिए रवाना हो गए। दिल्ली में भी बैठकों का दौर चला लेकिन नए नेता के बारे में जयपुर तक कोई संदेश नहीं आया। पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सहित अन्य नेताओं से इन विधायकों की मुलाकात हुई। नए विधायकों ने प्रदेश मुख्यालय में संगठन महामंत्री चन्द्रशेखर व अन्य नेताओं से मुलाकात की।

मध्यप्रदेश में सीएम पर निर्णय बुधवार तक

भाजपा मुख्यालय में दिनभर नेताओं व विधायकों के आने और मेल-मुलाकात का सिलसिला चला। सीएम शिवराज सिंह चौहान के बुलावे पर विधायक सीएम हाउस भी पहुंचे और अनौपचारिक चर्चा की। पार्टी के सांसद और अन्य दिग्गज नेता दिल्ली चले गए। एक-दो दिन में सीएम शिवराज व प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा भी दिल्ली जाएंगे। बुधवार तक सीएम के चेहरे का निर्णय हो सकता है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने सीएम शिवराज सिंह चौहान को उनके घर जाकर जीत की बधाई दी। प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में सन्नाटा छाया रहा। हार की समीक्षा के लिए कांग्रेस ने मंगलवार को प्रत्याशियों व विधायकों को भोपाल बुलाया है।

छत्तीसगढ़ में पार्टी मुख्यालय पहुंचे जहां प्रदेश प्रभारी

भाजपा के सभी नवनिर्वाचित विधायक पार्टी मुख्यालय पहुंचे जहां प्रदेश प्रभारी ओम माथुर, सह प्रभारी एवं केंद्रीय मंत्री डॉ. मनसुख मांडविया, प्रदेश सह प्रभारी नितिन नबीन ने सभी विधायकों को मिठाई खिलाकर बधाई देते रहे। सोमवार को ही विधायक दल की बैठक होने की चर्चा थी, लेकिन यह बैठक टल गई। वहीं कई नेताओं के दिल्ली जाने की चर्चा थी, लेकिन कोई नहीं गया। अब सीएम का चेहरा तय करने के लिए जल्द ही दिल्ली से पर्यवेक्षक आएंगे और विधायक दल की बैठक लेंगे। वहीं दूसरी ओर कांग्रेस कार्यालय में दिनभर सन्नाटा रहा। कांग्रेस जल्द ही हार की समीक्षा करेगी। संकेत है कि कांग्रेस संगठन में बड़ा बदलाव हो सकता है। चुनाव हारे डिप्टी सीएम टीएस सिंहदेव ने कहा कि उन्हें उनकी और पार्टी की हार का अंदाजा नहीं था।

ट्रेंडिंग वीडियो