इटावा में मुंबई से लौटे प्रवासी ने रोजगार न मिलने पर नीम के पेड़ से फांसी लगाकर जान दी

उत्तर प्रदेश में इटावा जिले के वैदपुरा थाना क्षेत्र के अंतर्गत नगला बुद्धू गांव में कोरोना काल मे मुंबई से लौटे एक प्रवासी ने रोजगार न मिलने के कारण फांसी लगा कर जान दे दी।

By: Mahendra Pratap

Updated: 22 Jun 2020, 07:04 PM IST

इटावा. उत्तर प्रदेश में इटावा जिले के वैदपुरा थाना क्षेत्र के अंतर्गत नगला बुद्धू गांव में कोरोना काल मे मुंबई से लौटे एक प्रवासी ने रोजगार न मिलने के कारण फांसी लगा कर जान दे दी।

वैदपुरा थाना प्रभारी सतीश यादव ने बताया कि नगला बुद्धू के रहने वाले 22 साल नीरज यादव ने आज सुबह शौच के बाद उस समय नीम के पेड़ पर फांसी लगा ली। नीरज यादव मुंबई मे किसी मिष्ठान केंद्र पर हलवाई के रूप में काम करता था लेकिन कोरोना काल मे अपने गांव वापस लौट आया था। नीरज का बड़ा भाई भी मुंबई में ही किसी अन्य स्थान पर इसकी तरह काम किया करता है वह भी कोरोना काल में वापस लौटा हुआ है।

नीरज के आत्महत्या करने के पीछे फिलहाल वजह स्पष्ट नहीं हो पा रही है लेकिन ऐसा माना जा रहा है कि उसने जान देने जैसा कठोर कदम इस बाबत उठाया की उसको रोजगार नहीं मिल पा रहा था और इसी वजह से वह काफी समय से परेशान चल रहा था।

नीरज के पिता दर्शन सिंह यादव बताते हैं कि मुंबई से लौटने के बाद नीरज काफी परेशान चल रहा था जगह-जगह उसने रोजगार तलाशने की कोशिश करें लेकिन उसको किसी भी तरह से कहीं रोजगार नहीं मिल सका हो सकता है कि इसी कारण उसने जान दे दी हो। नीरज के आत्महत्या करने को लेकर के गांव में गम का माहौल देखा जा रहा है। पुलिस ने फिलहाल नीरज के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

Show More
Mahendra Pratap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned