शादीशुदा महिला के नवयुवक के साथ भाग जाने के बाद दंबगो का कहर, तनाव पर पुलिस और पीएससी की तैनाती

शादीशुदा महिला के एक नवयुवक के साथ भाग जाने की घटना के बाद से अभी तक तनाव बना हुआ है।

By: आकांक्षा सिंह

Published: 23 May 2018, 12:05 PM IST

इटावा. उत्तर प्रदेश के इटावा में सैफई इलाके में बघुइया गांव में शादीशुदा महिला के एक नवयुवक के साथ भाग जाने की घटना के बाद से अभी तक तनाव बना हुआ है। 12 मई को महिला के भाग जाने की घटना के बाद अभी तक हालात सामान्य नहीं हो सके हैं। फिलहाल दबंगो के आंतक को देखते हुए गांव में पुलिस और पीएसी बल की तैनाती कर दी गई है।

शादीशुदा महिला को युवक के साथ अलीगढ़ से बरामद कर दोनों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिया गया है। दोनों गुटों में अभी भी तनाव बना हुआ है। मामले में सियाराम जाटव ने 16 मई को एसएसपी को दिए गए प्रार्थना पत्र के बाद गांव के ही रामअवतार, पिंटू, आशीष व उनके 10-12 साथियों के खिलाफ मामला दर्ज कराया था जिसमें उनके चार लोगों को गाड़ी में डालकर ले जाने का भी आरोप लगाया गया है लेकिन बाद मे सभी वापस लौट आये। पुलिस में दर्ज कराये गये मुकदमे के अनुसार 19 मई को सियाराम जाटव की तहरीर पर डकैती में मुकदमा दर्ज किया है जिसमें रामअवतार यादव आरोपी है।


सैफई थाना क्षेत्र के बधुईया गांव में दबंगों ने दलितों के तीन घरों में घुसकर मारपीट और तोड़फोड़ की। 4 दलित व्यक्ति का अपहरण कर ले गए। इस मामले में दबंगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। डेढ़ दर्जन दबंगों पर महिलाओं व पुरूषों से मारपीट तोड़फोड़ व लूटपाट करने का आरोप है। घटना के बाद से गांव में दहशत का माहौल है। दंबगो का आंतक इस कदर छाया हुआ है कि गांव में मातमी माहौल बना हुआ है लेकिन कोई भी पीड़ित आरोपियों के खिलाफ खुल कर बोलने की हिम्मत नहीं दिखा पा रहा है।


पुलिस के मुताबिक पीड़ित पक्ष के कुछ लोग घर छोड़कर चले गए हैं। क्षेत्र के गांव बधुईया निवासी सियाराम पुत्र गंगाराम ने बताया कि 16 मई को वह अपने परिवार के साथ अपने घर जा रहा था। तभी गांव के करीब डेढ़ दर्जन दबंग लोग घर में घुस आए और मारपीट शुरू कर दी। जब परिवार की महिलाएं उसे बचाने के लिए आई तो दबंगों ने उन्हें भी नहीं छोड़ा। उसके साथ भी मारपीट की और घर में रखा सामान तोड़ दिया गया। डेढ़ घंटे तक दबंगों ने गांव में उत्पात मचाया। बाद में जान माल की धमकी देकर चले गए।

दबंगों ने दलितों के तीन घरों में भी भारी उत्पात मचाया। सियाराम का आरोप है कि उसकी रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए थाने गए तो दबंगों ने रास्ते में रोक लिया। उसे रिपोर्ट दर्ज करने से भी रोका गया। वह इसके लिए तैयार हो गया फिर से उनके साथ मारपीट की। सियाराम ने बताया कि दबंग उनके पिता को एक गाड़ी में बैठाकर ले गए हैं इसके बाद सियाराम ने रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस ने तहरीर में आधार पर रामअवतार पुत्र दयाल पुत्र राम आशीष यादव पुत्र बृजेश यादव पंकज पुत्र रामअवतार बधुईया ग्राम निवासी अज्ञात लोगों के खिलाफ धारा 364, 395, 504, 506 और एससी एसटी एक्ट में रिपोर्ट दर्ज कराई गई है।


इटावा के एसएसपी अशोक कुमार त्रिपाठी ने बताया कि जिस ढंग का मामला समाने आया था उसके बाद एसपी ग्रामीण के रामबदन सिंह के स्तर पर जांच कराये जाने के बाद प्रार्थना पत्र पर मुकदमा दर्ज कराया गया। जिसमें एक आरेापी देवेंद्र सिंह को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। अन्य आरोपियों की गिरफतारी के लिए अदालती स्तर पर कार्रवाई अमल में लाई जा रही है किसी भी आरोपी को बख्शा नहीं जायेगा।

Show More
आकांक्षा सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned