लायन सफारी पार्क कर रहा 7 शेरों के स्वागत का इंतजार, गुजरात सरकार ने दिया बड़ा तोहफा

लायन सफारी पार्क कर रहा 7 शेरों के स्वागत का इंतजार, गुजरात सरकार ने दिया बड़ा तोहफा

Neeraj Patel | Updated: 11 Jul 2019, 02:55:19 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

- लायन सफारी पार्क (Lion Safari Park) गुजरात से आ रहे सात शेरों के स्वागत का कर रहा इंतजार
- यूपी में तेज गर्मी के कारण वन विभाग को शेरों के भेजने का कार्यक्रम बढ़ाना पड़ा आगे
- केनाइन डिस्टेंपर वायरस (Canine Distemper Virus) के संपर्क में आने से हुई थी 10 शेरों की मौत

इटावा . यूपी के इटावा जिले का लायन सफारी पार्क (Lion Safari Park) गुजरात से आ रहे सात शेरों के स्वागत का इंतजार कर रहा है, इनमें से तीन शेर बाद में गोरखपुर में प्रस्तावित चिड़ियाघर भेज दिए जाएंगे। इसके पहले सफारी पार्क में 8 शेर भेजने की तैयारी चल रही थी लेकिन पशु चिकित्सकों की दो टीमों ने जूनागढ़ चिड़ियाघर का दौरा किया तो वहां एक शेरनी को न्यूरोलॉजिकल संबंधित समस्याओं से पीड़ित पाई गई। जिसके कारण अब इटावा सफारी पार्क में केवल 7 ही शेर भेजने की तैयारी चल रही है।

ये भी पढ़ें - लॉयन सफारी में चारों शावकों ने खोली आंखे, बेस्ट मदर बनी शेरनी जेसिका

इन शेरों को पहले इटावा लायन सफारी पार्क (Lion Safari Park) में 22 मई को लाया जाने वाला था, लेकिन उत्तर प्रदेश में तेज गर्मी के कारण वन विभाग को शेरों के भेजने का कार्यक्रम आगे बढ़ाना पड़ा। अब जल्द ही लायन सफारी पार्क में 7 शेरों को भेजा जाएगा।

2014 से लेकर 2016 के बीच 10 शेरों की मौत

बता दें कि इटावा सफारी के निदेशक वी.के. सिंह ने कहा कि जूनागढ़ चिड़ियाघर से बहुत जल्द सात शेर आएंगे, जिनमें पांच मादा होंगे और दो नर होंगे। लायन सफारी पार्क (Lion Safari Park) में लाने से पहले शेरों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया। जिनमें एक शेरनी को न्यूरोलॉजिकल संबंधित समस्याओं से पीड़ित पाई गई और 7 अन्य का स्वास्थ्य ठीक पाया गया। इसके पहले पूर्ववर्ती अखिलेश यादव सरकार को तब शर्मिदगी का सामना करना पड़ा था जब 2013 से 2015 के बीच गुजरात से लाए गए 10 शेरों में से पांच शेर 2014 से लेकर 2016 के बीच मर गए

ये भी पढ़ें - इटावा सफारी पार्क के लिए शेरों को एयरलिफ्ट कराने की तैयारी, वन विभाग ने वायु सेना से मांगी है अनुमति

गुजरात सरकार ने लायन सफारी पार्क को दिया बड़ा उपहार

लायन सफारी पार्क में शेर केनाइन डिस्टेंपर वायरस (Canine Distemper Virus) के संपर्क में आ गए थे। यह वायरस घरेलू और वन्य जीवों के श्वसन, गेस्ट्रोइंटेस्टाइनल और तंत्रिका तंत्र पर सबसे ज्यादा प्रभाव डालता है। इस बार जूनागढ़ से शेर गुजरात की विजय रुपाणी सरकार की ओर से इटावा लायन सफारी पार्क को बड़ा उपहार दिया जा रहा है। गुजरात सरकार ने 11 जून को शेर उत्तर प्रदेश सरकार को सौंप दिए थे। तब से सफारी को अमेरिका स्थित सैन डियागों चिड़ियाघर से लाई गई दवाई से स्वच्छ किया जा रहा है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned